श्रीनगर : एक खूबसूरत शाम डल झील के नाम।

Tripoto
10th Sep 2022
Photo of श्रीनगर : एक खूबसूरत शाम डल झील के नाम। by Lucky Goyal
Day 1

हर हर महादेव।
मेरे भारतवासियों आशा करता हूं कि आप सब लोग कुशल मंगल हो।
चलिए आज एक नए दिन की शुरुवात एक नए सफर के साथ आगाज करते है ब्लॉग शुरू करने से पहले आपसे एक निवेदन करना चाहूंगा कि अगर आपको मेरे ब्लॉग अच्छे और लाभदायक लगते है तो कृपया कर के मेरे ब्लॉग को लाइक, शेयर, कॉमेंट जरूर करे।अगर आप लोग मेरी जम्मू एंड कश्मीर के यात्रा ब्लॉग को फॉलो कर रहे हो तो आपको पता ही होगा हमने अपना पिछला दिन पहलगाम को घूमने में बिताया था। घूमते घूमते रात हो चुकी थी सो हमने पहलगाम में रात को रहना ही उचित समझा। वैसे तो हम लोग कल के दिन में ही श्रीनगर आना चाहते थे। लेकिन आ नहीं पाए। इसलिए आज हम लोग श्रीनगर के लिए रवाना होंगे। पहलगाम से श्रीनगर की दूरी करीब 3 घंटे की है इसलिए हम लोग ब्रेकफास्ट करने के बाद श्रीनगर के लिए निकलने को तैयार हो चुके थे। आज का दिन हम लोग सिर्फ श्रीनगर को एक्सप्लोर करने के लिए खर्च करने वाले है। आपको मैं श्रीनगर के बारे में संपूर्ण जानकारी बताऊंगा। जैसे की आप जानते है को श्रीनगर किसी भी परिचय का मोहताज नहीं है।अपने आप में इसकी भारत के दृष्टिकोण से महतत्व है।श्रीनगर कश्मीर के साथ-साथ भारत में घूमने के लिए सबसे खूबसूरत और प्रसिद्ध जगहों में से एक है। बोटिंग से लेकर ट्रैकिंग तक, बर्ड वाचिंग से लेकर वॉटर स्कीइंग तक, श्रीनगर में आपको सब कुछ करने के लिए मिल जाएगा। जम्मू और कश्मीर की राजधानी श्रीनगर, झेलम नदी के तट पर स्थित प्राकृतिक स्थलों का खूबसूरत दृश्य पेश करता है जो पर्यटकों के लिए आकर्षण का केंद्र बने हुए है। यहां का मुख्य आकर्षण डल झील है, जिसे शहर का रत्न कहा जाता है। रात के समय डल झील को घूमने का अपने आप में रोमांचक भरा अनुभव है। यह स्थान कश्मीरी व्यंजनों और अपनी संस्कृति के लिए भी फेमस है। डल झील के साथ-साथ मुगल गार्डन, और निशात बाग यहां के प्रमुख आकर्षण है।

हम लोग करीब 12 से 1 बजे के बीच के श्रीनगर आ गए थे। इस बार मैंने ऑनलाइन के माध्यम से अपना रूम बुक नहीं किया था क्यू की मैं श्रीनगर डल झील में स्थित हाउस बोट में रुकना चाहता था। सबसे पहले मैं डल झील गया।वहा जाकर मैंने हाउस बोट बुक की। वैसे तो श्रीनगर शहर में ठहरने के लिये वैसे तो सैकडों होटल है जिनमें 500 रु से किराया शुरु हो जाता है। जितने ज्यादा चोचले माँगते जाओगे, उतना महँगा किराया होता जाता है। हाउस बोट में किराया लगभग 1500-2000 में शुरू हो जाता है। अगर पीक सीजन हो तो इनमे किराया ओर जायदा हो जाता है।थोड़ा बहुत कम जायदा भी कर लेते है। लेकिन हाउस बोट में रुकने का अपना एक अलग ही एक्सपीरियंस होता है । मैने एक दिन के लिए 1800 rs मे हाउस बोट बुक की थी जब आप डल झील के पास जाते हो तो वहा पर स्टैंड बने होते है उनके किनारे पर शिकारा खड़े होते है जो आपको हाउस बोट तक छोड़ देते है।

पहले हम श्रीनगर के बारे में बता करते है। झेलम नदी के रूट पर स्थित श्रीनगर बेहद ही खूबसूरत टूरिस्ट प्लेस है। श्रीनगर को प्राकृतिक उद्यानों, खूबसूरत झीलों और हस्तशिल्प के लिए जाना जाता है। बर्फ से ढका श्रीनगर सर्दियों में बेहद ही खूबसूरत और गर्मियों में बेहद हरा-भरा दिखता है। अगर आप सर्दियों के मौसम में ठंडी हवा का मजा लेना चाहते हैं, तो इस मौसम में श्रीनगर जरूर घूमने जाएं। साथ ही, गर्मियों के दौरान आप शिकारा सवारी और घुड़सवारी का भी आनंद उठा सकते हैं।

श्रीनगर में घूमने के लिए कई बेहतरीन जगह हैं, अगर आप भी श्रीनगर में घूमने का प्लान बना रहे हैं, ओर श्रीनगर ट्रिप का मजा दो गुना करना चाहते है तो मैं आपको कुछ ऐसे बेस्ट प्लेस बताता हूं जिन्हें घूम कर रोमांचित अनुभव कर सकते हो।  श्रीनगर में घूमने के लिए कुछ प्रसिद्ध जगह मैं आपको बताता हु। जैसे की डल झील, मुगल गार्डन, वुलर झील, शालीमार बाग़, मशहूर दरगाह हज़रतबल, जामिया मस्जिद, परी महल, दाचीगाम राष्ट्रीय उद्यान,  शंकराचार्य मंदिर, सलीम अली राष्ट्रीय उद्यान, नागिन झील 

सबसे पहला नंबर तो डल झील का आता है लेकिन मैंने इवनिंग नाइट के टाइम इसको एक्सप्लोर किया था इसलिए मैं आपको लास्ट में उसके बारे में बताता हु।
मुगल गार्डन
हम लोग सबसे पहले मुगल गार्डन को गए।मुगल गार्डन, श्रीनगर के सबसे लोकप्रिय और सबसे अधिक देखा जाने वाला टूरिस्ट प्लेस है। मुगल काल के दौरान मुगलों ने कई प्रकार के उद्यानों का निर्माण किया था, जिन्हें मुगल गार्डन कहा जाता है। यहां के हर-भरे सुगंधित फूल लोगों का दिल खुश कर देते हैं। श्रीनगर में मुगल गार्डन में निशात बाग, शालीमार बाग, चश्मे शाही, परी महल, अचबल और वेरीनाग गार्डन शामिल हैं। मुगल गार्डन में आप फारसी वास्तुकला का प्रभाव देख सकते हैं।
वुलर झील
हमारा दूसरा विजिटिंग पैलेस वुलर झील था।वुलर झील एशिया के सबसे बड़ी मीठे पानी की झीलों में आती है। वुलर झील जम्मू कश्मीर के बांदीपोरा जिले में स्थित है। जब इस झील में पानी बढ़ता है, तो यहां पर्यटक वॉटर स्पोट्र्स, वॉटर स्कींग जैसे एक्टीविटीज भी करने आते हैं। ये झील स्थानीय लोगों और पर्यटकों के लिए एक पसंदीदा पिकनिक स्पॉट भी है।
शंकराचार्य मंदिर
शंकराचार्य मंदिर श्रीनगर के सबसे पुराने मंदिरों में से एक है। यह मंदिर लगभग 200 साल पुराना है। श्रीनगर की डाल झील के पास स्थित यह मंदिर अपनी वास्तुकला के लिए जाना जाता है। इस कारण यह यहाँ आने वाले सभी पर्यटकों को आकर्षित करता है। शंकराचार्य मंदिर समुद्र तल से लगभग 1100 मी. की ऊँचाई पर स्थित है और इस मंदिर का निर्माण राजा गोपादात्य ने 371 ई. में कराया था और तब से इस मंदिर को तख़्त-ए-सुलेमान के नाम से भी जाना जाता है। भगवान् शिव को समर्पित यह मंदिर यात्रियों के बीच बहुत प्रसिद्ध है। साथ ही ऊँचाई पर होने के कारण यहाँ से आपको डल झील और हिमालय के सुन्दर नजारे भी देखने को मिलेंगे।

ये सब घूमते घूमते शाम का अंधेरा हो चुका था।चलिए अब डल झील की बात करते है मैने रात को डल झील को घूमने का समय इसलिए चुना क्यू की रात के समय डल झील को घूमना आपकी दिन भर की सारी थकान दूर कर देता है।

डल झील
श्रीनगर की सुरम्यी कहलानी वाली यह झील हिमालय की तलहटी में स्थित है जो लगभग 26 कि.मी. वर्गक्षेत्रफल में फैली हुई है। साथ ही यह झील कश्मीर की दूसरी सबसे बड़ी झीलों में से एक है। झील और आस-पास हिमालय का खुबसूरत नजारा आपको मनमोहित कर सकता है। डल झील श्रीनगर की रौनक है। जो देखने में किसी स्वर्ग से कम नहीं लगती। डल झील सुंदर हरे-भरे पहाड़ों के बीच में मौजूद है और यहां शिकार नाव की बोटिंग, हाउस बोट और झील के आसपास मौजूद बाजार जैसी सुविधाएं पर्यटकों को बेहद आकर्षित करती हैं। आपको बता दें, डल झील में हाउस बोट का आईडिया अंग्रेजों का था। साथ ही यहाँ लकड़ी की शिकारा कही जाने वाली हाउस बॉट बहुत मशहूर हैं जिसमें बैठकर आप झील का आनंद उठा सकते हैं। ये शिकारा हाउस बॉट दिखने में ही इतनी खुबसूरत होती हैं कि आप इन्हें देखते ही रह जायेंगे।  साथ ही इस झील को चार बेसिन में बाँटा गया है जो लोकुट डाल, गागरीवाल, बोद डाल और नागिन डाल प्रमुख हैं। साथ ही इस झील के आस-पास के बाजार भी आपको बेहद पसंद आएँगे। यहाँ आप कई वाटर गेम्स का भी आनंद उठा सकते हैं। डल झील को खूबसूरत बनाते हैं इसमें तैरते हुए शिकारे। शिकारा लकड़ी से बने एक विशेष आकार और बनावट के नाव होते हैं जो सिर्फ डल झील में ही दिखते हैं। इस नाव के दोनों सिरे नुकीले और पानी से ऊपर की ओर उठे होते हैं। एक सिरे पर नाव चलाने वाला गोलाकार चप्पू से नाव को आगे बढ़ाता है। शिकारे को बहुत की आकर्षक ढंग से सजाये जाते हैं और बीच में बैठने के लिए आरामदायक गद्दे लगे होते है। हम लोग भी शिकारे पर बैठ कर डल झील को देखने लगे। शिकारे बहुत धीमी रफ़्तार से चलते हैं और आस पास के सुन्दर दृश्यों को देखने में बहुत मज़ा आता है। डल झील में फव्वारे लगे हुए थे जो बहुत अच्छे लग रहे थे। डल झील में देखने के लिए बहुत सारे केंद्र है जैसे कबूतरखाना, नेहरू पार्क, चार चिनार।  झील में वाटर लिली, कमल के फूल और पानी के सतह पर तैरने वाली घांस इसे और अच्छा बना रही थी।  शिकारे के आगे बढ़ने के कारण इन घांसो के बीच से रास्ता बन जाता था जो शिकारे के आगे बढ़ने पर अपने आप गायब भी हो जा रहा था। डल झील में पानी के ऊपर शिकारे पर ही खाने पीने के दुकान हैं।  हम लोगों ने यहाँ पकौड़े खाये और कश्मीरी कहवा का स्वाद लिया।  कहवा कश्मीर का सबसे लोकप्रिय पेय पदार्थ है। इसको बनाने में बहुत सारे मसाले, सूखे मेवें और शहद का प्रयोग होता है। हमें कश्मीरी कहवा बहुत ही जायकेदार लगा। हम लोगों ने शिकारे पर ही स्थानीय फल जैसे खुबानी, आलू बुखारा, नाशपाती और सेव से बने फ्रूट चाट खाये। यह अलग अलग फलों का स्वादिष्ट मिश्रण था। शिकारे पर बहुत सारे दुकान भी थे जो डल झील में तैरकर सैलानियों को स्थानीय वस्तुएँ बेच रहे थे। डल झील में पानी के ऊपर ही एक बाजार भी है जहाँ के दुकानों पर शिकारे से ही जाया जा सकता है। यह सब देखना बहुत सुखद था कि कैसे डल झील की अपनी एक अलग दुनिया है जहाँ सब कुछ पानी के ऊपर नाव पर है।शिकारे पर धीरे धीरे झील में घूमना बहुत अच्छा अनुभव दे रहा था। जैसा हमने डल झील के बारे में सुना था उससे कहीं अधिक अच्छा यहाँ आकर लगा। श्रीनगर में आकर डल झील में शिकारा राइड करना कश्मीर यात्रा का एक सबसे महत्वपूर्ण और ज़रूरी हिस्सा है।
इस घूमने के दौरान मैंने सभी जगह का फोटो क्लिक किया था लेकिन किसी कारणवश लगभग सभी फोटो ऑटो डिलीट हो गए। जिस कारण मैं आपसे इस ट्रिप में फोटो शेयर नहीं कर पाऊंगा।इसके लिए मुझे खेद है। लेकिन शिकारा राइड की कुछ फोटो मेरे पास है।वो आपको मैं शेयर जरूर करूंगा।अब मैं आपसे श्रीनगर यात्रा के इस ब्लॉग के लिए विश्राम देकर विदा चाहता हु।आज हम लोग श्रीनगर हाउस बोट में ही स्टे करने वाले है।कल नए दिन शुरुवात आपके साथ अपने नए ब्लॉग के माध्यम से करने वाला हू।
हर हर महादेव।

शिकारा राइडिंग।

Photo of Srinagar by Lucky Goyal
Photo of Srinagar by Lucky Goyal
Photo of Srinagar by Lucky Goyal