भूत-प्रेत को नहीं मानते हो, तो एक बार हिमाचल प्रदेश की इन 10 भुतहा जगहों पर घूम आओ, राय बदल जाएगी।

Tripoto
18th Jun 2021
Photo of भूत-प्रेत को नहीं मानते हो, तो एक बार हिमाचल प्रदेश की इन 10 भुतहा जगहों पर घूम आओ, राय बदल जाएगी। by Walia Sachin
Day 1

पहाड़ों से सजा हिमाचल प्रदेश एक डरावना इतिहास भी रखता है। यहां पर ख़ूबसूरत पहाड़ों और हरी-भरी प्रकृति के अलावा कुछ बहुत डरावनी जगहें भी हैं, जहां शायद आप नहीं गए होंगे। अगर आपको भूत-प्रेत की कहानी में विश्वास है और आपको ऐसी जगहों पर जाना अच्छा लगता है, तो ये जगह आपके लिए हैं।

1) चार्लेविले हवेली, शिमला

Photo of भूत-प्रेत को नहीं मानते हो, तो एक बार हिमाचल प्रदेश की इन 10 भुतहा जगहों पर घूम आओ, राय बदल जाएगी। by Walia Sachin

इस हवेली को ब्रिटिश एरा के दौरान बनाया गया था और 1913 में इसे एक ब्रिटिश अधिकारी विक्टर बेले और उनकी पत्नी को किराए पर रहने के लिए दिया गया था। जब वो यहां रहने लगे, तो स्थानीय लोगों ने उन्हें इस घर से जुड़ी कुछ डरावनी बातें बताईं। जब उन्होंने इस बात की तहक़ीक़ात की तो पता चला कि इस हवेली में अंग्रेज़ों के भूत हैं, जो यहां घूमते रहते हैं। वर्तमान में एक भारतीय व्यक्ति इस घर के मालिक हैं।

यह भी पढ़ेंः पुणे की दस भूतिया जगहें: कमजोर दिल वाले यहां जाने की भूल ना करें

2) इंदिरा गांधी मेडिकल कॉलेज

Photo of भूत-प्रेत को नहीं मानते हो, तो एक बार हिमाचल प्रदेश की इन 10 भुतहा जगहों पर घूम आओ, राय बदल जाएगी। by Walia Sachin

शिमला स्थित इंदिरा गांधी मेडिकल कॉलेज पूरे हिमाचल प्रदेश में सबसे बड़ा चिकित्सालय माना जाता है। इसके अलावा इसका नाम शहर की डरावनी जगहों में भी शामिल है। यहां के कई मरीज़ों, डॉक्टर्स और कर्माचारियों ने अजीबोगरीब घटनाओं की शिकायत की है। उनका मानना है कि यहां की लिफ़्ट, कॉरिडोर और कमरों में अजीब-अजीब घटनाएं घटती रहती हैं। रात में अजीबोगरीब आवाजें, शोर के साथ यहांँ लोगों ने ये तक कहा कि सीढ़ियों पर चलते वक़्त कोई अदृश्य साया पीछे खींचने की कोशिश करता है इस बात का भी खौफ यहाँ रहता है।

3) दुखानी का घर

Photo of भूत-प्रेत को नहीं मानते हो, तो एक बार हिमाचल प्रदेश की इन 10 भुतहा जगहों पर घूम आओ, राय बदल जाएगी। by Walia Sachin

यहांँ की पहाड़ियों पर बसे दुखानी नाम के घर को भी प्रेतबाधित माना जाता है। जानकारों की मानें तो यहां किसी वृद्ध इंसान की आत्मा भटकती है। माना जाता है कि ब्रिटिश शासन के दौरान उस वृद्ध इंसान ने इसी घर में ख़ुद को गोली मार ली थी। तब से इस घर में उस व्यक्ति की आत्मा भटकती है। दुखानी में आए सर जॉन स्मिथ नाम के एक गेस्ट के अनुसार उसने इस घर में उस वृद्ध इंसान को देखा था जहांँ उसने ख़ुद को गोली मारी थी। ये घर अब वीरान रहता है।

यह भी पढ़ेंः भारत की वो 10 भूतिया जगह जहां जाने से खौफ खाते हैं लोग

4) कॉन्वेंट स्कूल, छोटा शिमला

Photo of भूत-प्रेत को नहीं मानते हो, तो एक बार हिमाचल प्रदेश की इन 10 भुतहा जगहों पर घूम आओ, राय बदल जाएगी। by Walia Sachin

यहांँ कोई सरकटा घुड़सवार आता है और यहांँ कि लड़कियों को गुलाब का फूल देता है, अगर कोई भी उसके साथ गयी तो वो उसे मार देता है। कहते हैं यहांँ वर्तमान में जो खेल का मैदान है वहाँ कभी बच्चों को दफ़नाया गया था। इसके अलावा 2012 में स्कूल के पास दो छात्र अप्राकृतिक तरीके से मृत पाए गए थे।

5) किंगल रोड

Photo of भूत-प्रेत को नहीं मानते हो, तो एक बार हिमाचल प्रदेश की इन 10 भुतहा जगहों पर घूम आओ, राय बदल जाएगी। by Walia Sachin

ये सड़क पहाड़ी स्टेशनों की किसी भी अन्य सड़क की तरह लग सकती है लेकिन, सूर्यास्त के बाद हर रात लगभग 2 बजे यहांँ अजीब बिजली आती है। ये घटना कई लोगों द्वारा बताई गई है लेकिन कोई नहीं जानता कि इस तरह की बिजली कैसे या क्यों आती है? कुछ का मानना है कि ये एक वैज्ञानिक घटना है लेकिन, कुछ भी निश्चित नहीं कहा जा सकता है।

यह भी पढ़ेंः क्या है भानगढ़ के भुतहा किले का रहस्य

6) IGMC रोड

Photo of भूत-प्रेत को नहीं मानते हो, तो एक बार हिमाचल प्रदेश की इन 10 भुतहा जगहों पर घूम आओ, राय बदल जाएगी। by Walia Sachin

स्थानीय लोगों का मानना है कि मेडिकल कॉलेज से सटी इस सड़क पर अभी भी एक संतरा बेचने वाले की आत्मा घूमती है। ये सड़क शिमला में इंदिरा गांधी मेडिकल कॉलेज के पास है। ये माना जाता है कि वो एक कार दुर्घटना में मारा गया था और अब उसकी आत्मा यहांँ भटकती है।

7) चुड़ैल बावड़ी

Photo of भूत-प्रेत को नहीं मानते हो, तो एक बार हिमाचल प्रदेश की इन 10 भुतहा जगहों पर घूम आओ, राय बदल जाएगी। by Walia Sachin

चुडै़ैल बावड़ी शिमला हाईवे और छोटा शिमला के बीच स्थित है। यहां के लोगों के अनुसार, यहांँ पर एक औरत सफ़ेद साड़ी में लोगों से लिफ़्ट मांगती है। उनका दावा है कि मदद के लिए मना करने पर भी महिला कार में बैठती है और चालक को घूरती रहती है जिसकी वजह से कई सड़क दुर्घटाएं भी हुईं हैं।

8) कैसल नग्गर

Photo of भूत-प्रेत को नहीं मानते हो, तो एक बार हिमाचल प्रदेश की इन 10 भुतहा जगहों पर घूम आओ, राय बदल जाएगी। by Walia Sachin

नग्गर रोड पर स्थित एक पुराना महल है, जिसे ब्रिटिश काल के दौरान बनाया गया था। इस महल पर ब्रिटिश काल के दौरान राजाओं और रानियों ने कब्ज़ा कर लिया था। यहांँ कई असामान्य गतिविधियां बताई गई हैं। लोगों की मानें, तो यहां अजीब-अजीब आवाज़ें सुनाई देती हैं और उन्होंने चीज़ों को हिलते हुए भी देखा है। हालांकि, लोगों का कहना है, कि यहां पर रहने वाली आत्माएं किसी को नुकसान नहीं पहुंचाती हैं।

यह भी पढ़ेंः कंचनजंगा के भूतों और रहस्यों के बारे में क्या जानते हैं आप

9) कसौली क़ब्रिस्तान

Photo of भूत-प्रेत को नहीं मानते हो, तो एक बार हिमाचल प्रदेश की इन 10 भुतहा जगहों पर घूम आओ, राय बदल जाएगी। by Walia Sachin

शिमला की सड़क पर स्थित ये क़ब्रिस्तान असाधारण गतिविधियों के रूप में जाना जाता है। यहां कई असामान्य घटनाएं सामने आई हैं। लोगों ने रात के समय क़ब्रिस्तान में आत्माओं को घूमते देखा है। साथ ही उन्होंने अजीब शोर, फ़ुसफ़ुसाहट और रोने की आवाज़ें भी सुनी हैं। इसके चलते सूर्यास्त के बाद कोई भी इस क़ब्रिस्तान में नहीं जाता है।

10) टनल नंबर 33 कालका-शिमला ट्रेन रूट

Photo of भूत-प्रेत को नहीं मानते हो, तो एक बार हिमाचल प्रदेश की इन 10 भुतहा जगहों पर घूम आओ, राय बदल जाएगी। by Walia Sachin
Photo of भूत-प्रेत को नहीं मानते हो, तो एक बार हिमाचल प्रदेश की इन 10 भुतहा जगहों पर घूम आओ, राय बदल जाएगी। by Walia Sachin

कालका-शिमला ट्रेन मार्ग पर टनल नंबर 33, हिमाचल प्रदेश में सबसे डरावनी जगहों में से एक है। Legend के अनुसार, कैप्टन बारोग नाम के एक ब्रिटिश इंजीनियर को सुरंग के निर्माण की ज़िम्मेदारी दी गई थी, लेकिन वो बुरी तरह विफ़ल रहे। इसके चलते उन्हें अंग्रेज़ों द्वारा जुर्माना लगाया गया था और अपमानित किया गया था, इसलिए उन्होंने ख़ुदकुशी कर ली। उन्हीं की आत्मा सुरंग में घूमती है. इसके अलावा कुछ लोगों का दावा है कि, उन्होंने एक महिला को सुरंग से चीखते हुए भागते देखा है।

कैसा लगा आपको यह आर्टिकल, हमें कमेंट बॉक्स में बताएँ।

अपनी यात्राओं के अनुभव को Tripoto मुसाफिरों के साथ बाँटने के लिए यहाँ क्लिक करें।

बांग्ला और गुजराती के सफ़रनामे पढ़ने के लिए Tripoto বাংলা  और  Tripoto  ગુજરાતી फॉलो करें।

रोज़ाना Telegram पर यात्रा की प्रेरणा के लिए यहाँ क्लिक करें।