A complete Guide to Prashar Lake #bestoftravel #travelguide

Tripoto
20th Dec 2018

prashar lake 

Photo of A complete Guide to Prashar Lake #bestoftravel #travelguide by Afsarul haq

सर्दी का मौसम जाने ही वाला है और सूरज की तपिश आपको बेहाल करने के लिए पूरे माहौल में आने वाली है। ऐसे में किसी ठंडी जगह जाकर कुछ सुकून ले आये तो कैसा हो ? इसीलिए हमने बनाया है ख़ास आपके लिए पराशर का ट्रेवल गाइड जिसमे हम आपको बताएँगे यहाँ खाने से लेकर रुकने घूमने के बारे में तो चलते है आज पराशर के सफर पर।

पराशर जगह को ऋषि पराशर ने बसाया था इसी वजह से इस जगह को पराशर कहते है। यहाँ पर एक छोटी सी झील भी है जिसमे एक द्वीप है, जो लोगो का आकर्षण का केंद्र है। दरअसल यह द्वीप हर बार अपनी जगह बदल देता है, यह तैरता हुआ द्वीप देखने के लिए लोग दूर - दूर से इस जगह को निहारने आते है। इसे पराशर नदी के नाम से भी जाना जाता है। इसके ठीक सामने बना है ऋषि पराशर का मंदिर जो की केवल एक लकड़ी को काटकर ही बनाया गया है। माना जाता है की यह सब ऋषि पराशर जी का चमत्कार है।

Day 1

यहाँ घूमने के लिए आपको पराशर झील , पराशर मंदिर और दूर - दूर तक हरियाली देखने को मिल जाएगी। यह जगह हिमाचल के मंडी जिले से करीब 7 किलोमीटर की दूरी बग्गी गॉंव में पड़ती है।

यहाँ पहुँचने के लिए आप दिल्ली के ISBT या मजनू का टीला पहुँच कर मंडी जिले के लिए बस ले सकते है। अगर आप कहीं और से आ रहे है तो दिल्ली आ आकर मेट्रो से आप कश्मीरी गेट मेट्रो पर उतरकर भी यहाँ पहुँच सकते है। करीब 7 - 8 घंटे का सफर तय कर आप मंडी पहुँच जायेंगे। में सलाह दूंगा के आप रात में सफर करे ताकि सुबह आप अपनी मंज़िल पहुँच जाए। भीड़ से बचने के लिए आप ऑनलाइन टिकट बुक कर ले जिससे आपकी समय और पैसे दोनों की बचत होगी। यहाँ वॉल्वो ए सी और हिमाचल परिवहन दोनों आपको उपलब्ध है।

मंडी पहुँच कर आप वहां से बग्गी गांव के लिए ऑटो बुक कर सकते है जो की आपको कुछ ही देर में बग्गी गांव पहुंचा देगा।

अब यहाँ से शुरू होता है आपका रोमांच का सफर यहाँ से पराशर झील जाने के दो रास्ते है , आप चाहे तो ट्रेक कर सकते है या आप अपने वाहन से जाना छाते है तो आप उससे भी जा सकते है। अगर आप अपने वहां से नहीं है तो आप मंडी से भी सीधा पराशर के लिए अपनी गाडी बुक कर सकते है।

Day 2

ट्रैकिंग के शौक़ीन है तो आप ट्रेक करे जिसमे आपको करीब 5 - 6 घंटे लगेंगे और आप प्रेशर झील के पास पहुँच जायेंगे।

खाना और ठहरने की व्यवस्था

बग्गी एक छोटा सा गांव है इसलिए यहाँ खाने की चीज़ें भी सीमित है। बग्गी गांव में आपको 2 - 4 छोटे रेस्टुरेंट मिल जायेंगे जहाँ आप ऑमलेट, परांठा , चाय, कॉफ़ी चावल , मैगी आपको मिल जायगी। यह रेस्टुरेंट कैंपिंग और ट्रैकिंग गाइड सुविधा भी देते है।

ऊपर ट्रेक करने के बाद आप पराशर झील , पराशर मंदिर और दूर से चमकती कुल्लू की वादी देख सकते है। यहाँ भी आपको कुछ दुकाने मिल जाएँगी जहाँ आप पैकेट बंद सामन जैसे - कोल्ड कॉफ़ी स्नैक्स वगैरह ले सकते है। यहाँ एक छोटा ढाबा भी है जहाँ आपको दाल चावल , मैग्गी मिल जाएगी।

ठहरने के लिए यहाँ आपको वन विभाग के विश्रामगृह उपलध मिल जायेंगे चाहे तो आप चाहे तो कैंप गाइड से बात कर उनकी जगह पर भी अपना टेंट लगा सकते है। या उनकी सर्विस लेकर आप उन्ही के टेंट में आसानी से विश्राम कर सकते है। इसके लिए आपको कुछ रुपये देने पड़ेंगे। यहाँ बिना इज़ाज़त टेंट लगाना मना है और ऐसा करने पर आपको जुर्माना भी देना पड़ सकता है, हो सकता है वो आपका टेंट भी ज़ब्त ले इसलिए इसका पूरा ख्याल करे।

Day 1

अगर आप लोग समूह में यात्रा कर रहे है तो आप बग्गी से इनकी सर्विस ले सकते है जिसमे यह आपको खाने रुकने के साथ ट्रेक भी करवाते है। या आप चाहे तो सीधा दिल्ली से दिल्ली तक के भी पैकेज बुक कर सकते है। आप ट्रिपोटो की तरफ से सस्ते और अच्छे पैकेज में से अपनी पसंद का पैकेज बुक कर सकतेहै। पराशर लेक पैकेज

आशा है आपको यह पोस्ट पसंद आया होगा ऐसे ही दिलचस्प जगहों के लिए हमें फॉलो करें और शामिल हो हमारे सफर में।

आप चाहे तो हमसे सोशल मीडिया पर भी जुड़ सकते है हमारे हैंडल पर क्लिक कर हमसे जुड़े !

WWW.FACEBOOK.COM/AFSARULHAQTWA

WWW.TWITTER.COM/AFSARULHAQ

हमारी यात्रा के सुन्दर और विहंग दृश्य देखने के लिए हमें फोलो करे इंस्टाग्राम पर

WWW.INSTAGRAM.COM/AFSARULHAQ

धन्यवाद !

#prasharlake #prasharlakeguide #travelguide #tripotocommunity

Be the first one to comment