अकबर की स्मार्ट सिटी। फतेहपुर सीकरी #bestoftravel #besttravelpicture #wtd2018

Tripoto
24th Sep 2018

फतेहपुर सीकरी 

Photo of अकबर की स्मार्ट सिटी। फतेहपुर सीकरी #bestoftravel #besttravelpicture #wtd2018 by Afsarul haq

फतेहपुर सीकरी

Photo of Fatehpur Sikri, Uttar Pradesh, India by Afsarul haq

आगरा से 35 किलोमीटर दूर बसा फतेहपुर सिकरी। कभी मुगलिया सल्तनत की राजधानी हुआ करता था, मगर पानी की कमी के कारण इस खूबसूरत सहर का अस्तित्व ही बच गया। पहाड़ियों के बीच बसा यह शहर मध्यकालीन भारत के शानदार शहरों में से एक है।

शांत वातावरण कम भीड़ - भाड़ की वजह से आप यहाँ सुकून से घूम सकते है।

कब्र

Photo of अकबर की स्मार्ट सिटी। फतेहपुर सीकरी #bestoftravel #besttravelpicture #wtd2018 by Afsarul haq

पूरा परिसर लाल पत्थर से बनाया गया है, जो यहाँ से सटे राजस्थान के किलों की याद दिलाता है। फतेहपुर सिकरी अकबर के दौर में मुग़ल सल्तनत की राजधानी भी थी। जिसने भारतीय इतिहास में एक अलग छाप छोड़ी है। ताज महल से करीब होने के कारण इस जगह को भी अच्छे से सरंक्षित किया हुआ है। इसे 1986 में वर्ल्ड हेरिटेज साइट भी घोषित किया था। फतेहपुर सिकरी कई सवाल भी लिए हुए है, जो यहाँ आने वाले हर पर्यटक की जुबां पर रहता है।

शहर क्यों बसाया गया ?

महज़ 15 सालों के बाद यह वीरान क्यों हो गया ?

इस सहर का पराभव क्या इसलिए हो गया, क्यूंकि यहाँ पानी नहीं था ?

सच यह है की आप जैसे ही फतेहपुर सिकरी के मुगलिया में प्रवेश करेंगे ,

नक्काशीदारजालियां

Photo of Fatehpur Sikri, Uttar Pradesh, India by Afsarul haq

तो आप, यहां की विराटता, सुंदरता, भव्यता और यहाँ की नक्काशी देखकर आश्चर्य में पड़ जायेंगे। वर्ष 1527 में बाबर खानवा के युद्ध को फतह करने के बाद यहां आया। उसने अपने संस्मरण में इस जगह को सीकरी कहा। बाद में बादशाह अकबर संतान प्राप्ति के लिए मन्नत मांगने अजमेर के ख्वाजा मुइनुद्दीन चिस्ती की दरगाह पर निकल पड़े थे। रास्ते में सीकरी पड़ा। वहां अकबर की मुलाकात सूफी संत शेख सलीम चिस्ती से हुई। बाबा ने कहा बच्चा तू मेरा इंतज़ाम कर दे, अल्लाह तेरी मुराद पूरी करेगा। कुछ समय बाद अकबर की हिन्दू बेगम जोधाबाई गर्भवती हो गयी। कहा जाता है की ऐसी स्थिति में अकबर ने जोधा को मायके भेजने की बजाय सीकरी में सलीम चिस्ती के पास ही भिजवा दिया। 1569 में वहीं एक पुत्र का जन्म हुआ। सलीम चिश्ती की बात सच निकली। फ़कीर को इज़्ज़त बख़्शने के लिए अकबर ने अपने पुत्र का नाम सलीम रख दिया। जो बाद में जहांगीर कहलाया। अकबर ने तय किया कि इस जगह एक शहर बसायेंगे, और उसको नाम देंगे फतेहबाद जिसको हम आज फतेहपुर सीकरी के नाम से जानते है।

दीवाने आम का एक दृश्य

Photo of Fatehpur Sikri, Uttar Pradesh, India by Afsarul haq

यह पहला ऐसा सहर था, जिसे पूरी योजना के साथ एक बेहद आकर्षक नक्शा दिया गया था। यह मुगलों की पहली स्मार्ट सिटी भी कहलाया करता था। यह सहर सड़क मार्ग से दिल्ली और आगरा से जुड़ा है। हज़ारों सैलानी यहां रोज़ आते है, जो पर्यटक आगरा आते है वो फतेहपुर सीकरी जाना नही भूलते। फतेहपुर सीकरी के मुख्य द्वार से परिसर करीब एक किलोमीटर अंदर है, वहां तक ले जाने के लिए यहां कई साधन चलते है, जिसमे तांगा भी है। पहले अकबर की राजधानी आगरा थी, लेकिन सीकरी में नया नगर फतेहबाद बन जाने और उस सूफी संत के सानिध्य के लिए अकबर ने अपना निवास और दरबार आगरा से सिकरी स्थांतरित कर दिया था। यही वो जगह है जहां अकबर ने सभी धर्मों की अच्छी बातों को मिलाकर 'दीन - ए - इलाही' नामक नए धर्म की स्थापना की। 1572 से लेकर 1585 तक अकबर वही रहा। इसके बाद शहर में पानी की कमी व राजनीतिक कारणों की वजह से उसके इस जगह को छोड़ दिया, और लाहौर को राजधानी बना लिया। वर्ष 1600 के बाद शहर वीरान होता चला गया। हालांकि बाद में भी इसमें कई निर्माण होते रहे। जैसे यहां का बुलंद दरवाज़ा बाद में ही बना।

खास है यह इमारत ।

पंच महल का एक दृश्य

Photo of Panch Mahal, Dadupura, Fatehpur Sikri, Uttar Pradesh, India by Afsarul haq

यहां की इमारतों को दो तरह से देखा जा सकता है या तो आप नीचे से ऊपर की और बढ़े या बुलंद दरवाज़े में घुसकर ऊपर से नीचे की और जाए।

Photo of अकबर की स्मार्ट सिटी। फतेहपुर सीकरी #bestoftravel #besttravelpicture #wtd2018 by Afsarul haq

बुलंद दरवाज़े तक पहुंचने के लिए पत्थर की सीढ़ियों से 13 मीटर ऊपर आना होगा। इसे वर्ष 1602 में अकबर की गुजरात मे जीत की यादगार के तौर पर बनाया गया था। इसे दुनिया का सबसे विशालतम दरवाज़ा भी माना जाता है। इसकी ऊंचाई 54 मीटर है। दरवाज़े से अंदर घुसते ही सामने लाल पत्थरों का आंगन और गलियारे है। इसी के आगे एक सफेद रंग की इमारत भी है जो धूप में बड़ी चमचमाती है, यह शेख सलीम चिश्ती की दरगाह है। इसमें बारीक कारीगरी और नक्काशी लोगो को काफी आकर्षित करती है। यहां की जालियां काफी खूबसूरत है कहा जाता है कि यहां जो मुराद मांगो वो पूरी हो जाती है। इसी प्रांगण में एक बादशाह दरवाज़ा है, जिससे होकर अकबर मस्जिद और दरबार मे प्रवेश करते थे। यहां आप घूमते हुए दीवाने खास के सामने पहुंचेगे। वाकई यह खास प्रकोष्ठ है। यही दो बेगमों के साथ अकबर न्याय करता था। बादशाह के नवरत्न मंत्री थोड़ा नीचे हटकर बैठते थे। यहां सामान्य जनता व दर्शकों के लिए बरामदे बने हुए है। इसमे अकबर के बैठने के व्यवस्था एक खम्बे के ऊपर गोलाई लिए बनी है।

अकबर के आदेश देने की जगह

Photo of अकबर की स्मार्ट सिटी। फतेहपुर सीकरी #bestoftravel #besttravelpicture #wtd2018 by Afsarul haq

यह जगह पंच महल, शाही महल और हरम से लगी हुई है। जब बात हरम की हो रही है तो यहां जोधाबाई का भी ज़िक्र होना ज़रूरी है। जोधा का हरम शाही महल का महत्वपूर्ण हिस्सा था। इसके अंदर कई हिन्दू चित्रों को दर्शाया गया है। हरम के ही नज़दीक पंच महल या हवा महल है। यह पांच मंजिला भवन जोधाबाई के सूर्य को अर्घ्य देने को बनवाया गया था। यही से अकबर की मुस्लिम बेगमें ईद का चाँद देखती थी। इसके समीप ही राजकुमारियों का मदरसा है। लाल पत्थरों से ही एक अनूप ताल बनाया गया, जहां तानसेन गाया करता था। ताल के पूर्वी और अकबर की बेगम रुकैया का महल है। यह इस्तांबुल की रहने वाली थी।

शेख सलीम चिस्ती की दरगाह

Photo of Fatehpur Sikri, Uttar Pradesh, India by Afsarul haq

इस महल की सजावट तुर्की के दो शिल्पकारों ने की थी। यहां के अन्य महत्वपूर्ण भवनों में नौबत - उर - नक्कार खाना, टकसाल, कारखाना, खज़ाना, हकीम का घर, दीवाने - ए - आम, मरियम निवास और बीरबल का निवास आदि शामिल है। सलीम और अनारकली के किस्से तो सभी को मालूम है, मगर कम ही लोग जानते है कि अनारकली को यही चिनवाया गया था। वर्ष 1584 में एक अंग्रेज व्यापारी अकबर की राजधानी आया, उसने लिखा - आगरा और फतेहपुर दो बड़े शहर हैं। उनमें से हर एक लंदन से बड़ा और जनसंकुल है। फतेहपुर सीकरी घूमते हुए इसकी निर्माण कला को देखते हुए लगता है कि जिस स्मार्ट सिटी की अवधारणा पर हम काम कर रहे हैं, वह अपने देश में सैकड़ों सालों से है।

तानसेन के गाने की जगह अनूप ताल

Photo of अकबर की स्मार्ट सिटी। फतेहपुर सीकरी #bestoftravel #besttravelpicture #wtd2018 by Afsarul haq

फतेहपुर सीकरी घूमते हुए आप महसूस करेंगे की किसी आप सचमुच अतीत में प्रवेश कर चुके है।

मन्नत मांगे हुए धागे खिड़की में बंधे हुए।

Photo of अकबर की स्मार्ट सिटी। फतेहपुर सीकरी #bestoftravel #besttravelpicture #wtd2018 by Afsarul haq

रहने के व्यवस्था

वैसे तो आप इस शहर को एक दिन में आराम से घूम सकते है, अगर आपको इसे बारीक़ी से जानने की इच्छा है तो आप यहाँ किफायती दामों में होटल बुक कर सकते है।

इस ट्रिपोटो की तरफ से अच्छे दामों में होटल बुक कर सकते है।

https://www.tripoto.com/travel-guide/fatehpur-sikri/hotels

कैसे पहुंचे। ............................................

फतेहपुर सीकरी सड़कमार्ग से दिल्ली और आगरा से जुड़ा।

आप चाहे तो ट्रैन से आगरा तक आ सकते है और फिर यहाँ से बस या टैक्सी बुक कर फतेहपुर सिकरी पहुँच सकते है।

उम्मीद करते है आपको पोस्ट पसंद आ रहे होंगे आगे और भी दिलचस्प जगहों के बारे में हम आपको बताते रहेंगे आप हमें ट्रिपोटो पर फॉलो भी कर सकते है। और हमसे अपने यात्रा से जुड़े सवाल पूछ सकते है, हमसे सोशल मीडिया पर भी जुड़े।

WWW.TRIPOTO.COM

WWW.INSTAGRAM.COM

#TRIPOTOABHINDIMEIN #TRIPOTO #TRIPOTOTRAVEL #TRIPOTOCOMMUNITY #TRAVELBLOG #CHEAPTRAVEL #WEEKENDGATEWAYS #AFSARULHAQ #northeastitinerary #TRAVELQUESTIONS #BESTTRAVEL #BEAUTIFULPLACES

Be the first one to comment