इन गर्मियों की छुट्टियों में बनें तीर्थन घाटी के इस जादुई महोत्सव का हिस्सा

Tripoto

जब भी ज़िंदगी उलझनों से भर जाती है तो हम अक्सर एक ब्रेक के लिए पहाड़ों पर चले जाते हैं। जाएँ भी क्यों ना, आखिर पहाड़ों में हमे शांत करने की एक अनोखी शक्ति जो होती है, जो हमें खुद सेऔर प्रकृति के साथ फिर से जोड़ने में मदद करती है। इस गर्मी में, अगर आप भी एक ऐसे अनुभव की तलाश में हैं, जो आपको एक अलग ही दुनिया में ले जाए तो मेरे पास आपके लिए एक बढ़िया सुझाव है। हिमाचल की तीर्थन घाटी में एक तीन दिवसीय महोत्सव होने जा रहा है 'शून्य' जो आपकी पहाड़ों की यात्रा को और भी बेहतरीन बना देगा।

क्या है 'शून्य'?

शून्य महोत्सव का मकसद आपके लिए आत्म-खोज का मार्ग दर्शन करना है। युवा, प्रतिभाशाली लोगों के एक समूह द्वारा आयोजित ये महोत्सव, अनोखी वर्कशॉप, दिलचस्प अनुभव और रोमांचक परफॉर्मेंस का अड्डा है। ये महोत्सव तीर्थन घाटी में बसे जिभी में आयोजित किया जा रहा है, जहाँ आप चारों तरफ हरियाली और उँचे पहाड़ों में गूंजती शांति से घिरे होंगे। इसके अलावा, ये नए लोगों से मिलने, जीवन के अनुभव को लोगों से बाँटने और कुछ ऐसी पहले कभी ना की गई एक्टिविटीज़ करने के लिए एक बढ़िया मौका है।

कब आयोजित हो रहा है 'शून्य'?

यह महोत्सव 21-23 जून (शुक्रवार - रविवार), 2019 के बीच आयोजित किया जा रहा है।

महोत्सव की खासियत:

महोत्सव के दौरान, आप 20 से अधिक गतिविधियों का अनुभव करेंगे, जैसे कि कहानी सुनाना, कविता पाठ, मंडला बनाना, ब्लॉक प्रिंटिंग, ईडीएम, नेचर वॉक, ड्रम सर्कल, योग, ध्यान और ज़ुम्बा इनमें से कुछ एक्टिविटी हैं।

शून्य आपको अपनी हलचल भरी ज़िंदगी में वापसी से पहले अपने मन और दिल की शांति में निवेश करने का अच्छा वक्त देती है, और वो भी पूरे मज़े करते हुए! इसलिए अगर आप एक ऐसी यात्रा की तलाश कर रहे हैं जो आपको वास्तव में एक बदलाव का अनुभव दे, तो शून्य वह जगह है जहाँ आपको इन गर्मियों की छुट्टियाँ बितानी चाहिए। बेशक, ये आपकी ज़िंदगी में एक नया उत्साह भर देगा।

कहाँ हो रहा है महोत्सव?

शून्य महोत्सव का ये दूसरा साल ई लिविंग प्रोजेक्ट, जिसे पहले जिभी में मडहाउस एक्सपेरिएंटल हॉस्टल के रूप में जाना जाता है, में आयोजित किया जा रहा है। शांत जिभी के पहाड़ों में बसा हुआ और शांत वातावरण वाली ये जगह सप्तहांत बिताने के लिए पर्फेक्ट है।

महोत्सव की टिकट

इस महोत्सव में शामिल होने के लिए आपके पास 5 तरह के पास का विकल्प है।

1. फेस्टिवल पास: ₹3499 प्रति व्यक्ति (सभी क्यूरेटेड गतिविधियाँ और वर्कशॉप शामिल )

2. कीच्छुवा कैंप पास: ₹4999 प्रति व्यक्ति (फेस्टिवल पास + ठहरने के लिए डबल या ट्रिपल शेयरिंग पर रूम)

3. मडहाउस डॉर्म पास: ₹5799 प्रति व्यक्ति (फेस्टिवल पास+ ठहरने के लिए डॉर्मिट्री)

4. जिभी अल्पाइन कैंप पास: रु5999 प्रति व्यक्ति ( फेस्टिवल पास+ डबल/ ट्रिपल शेयरिंग पर कैंप)

5. मडहाउस डीलक्स रूम पास: रु14999 प्रति व्यक्ति ( 2 लोगों के लिए फेस्टिवल पास + 2 लोगों के ठहरने के लिए रूम)

वहाँ और क्या करें?

त्योहार में शामिल होने के अलावा, आप जिभी के आसपास भी घूम सकते हैं। जिभी नदी में ट्राउट मछली पकड़ने जाएँ, या झलोरी पास, सेरोलसर झील और रघुपुर किले तक घूमकर आएँ। जिभी की शांत, शीतल हवाओं का आनंद ले और अगर आप लकी हैं तो शायद आपको आकाश गंगा भी दिख जाए।

आप किस का इंतजार कर रहे हैं?

तो इस गर्मी में सिर्फ घूमने-फिरने के साथ-साथ एक ऐसा अनुभव लें जो आपकी ज़िंदगी को बेहतर बनाने में आपकी मदद भी करेगा।

तो इस आर्टिकल को अपने दोस्तों के साथ शेयर करें और जिभि यात्रा का प्लान बनाएँ!

क्या आपने भारत में किसी आकर्षक त्योहार में भाग लिया है? Tripoto पर एक ब्लॉग बनाएँ और अपना अनुभव साझा करें।

ये आर्टिकल अनुवादित है। ओरिजनल आर्टिकल पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करें।

Be the first one to comment