INDORE Thru my Eyes -- A HISTORICAL WAIK

Tripoto

INDORE Thru my Eyes -- A Historical Walk

नमस्कार दोस्तों, आज एक बार फिर मैं अपना Hindi Blog लेकर आपके समक्ष उपस्थित हूं आज का मेरा यह Blog किसी यात्रा वृत्तांत प्रेरित नहीं है बल्कि यह मेरे अनुभवों का एक संस्मरण है जिसे मैं आप लोगों के साथ साझा करना चाहती हूं और आशा करती हूं कि आप लोगों को यह जरूर पसंद आयेगा। मैं Basically इंदौर से नहीं हूं लगभग 4-5 year से मैं यहां रह रही हूं उसी के आधार पर मेरा इस शहर के प्रति एक नजरिया, एक विचार प्रकट हुआ है जिसे मैं आज आपके साथ शेयर कर रही हूं

इंदौर मध्यप्रदेश के प्रमुख शहरों में से एक है इसे मध्य प्रदेश की व्यवसायिक राजधानी का दर्जा प्राप्त है इंदौर मध्यप्रदेश के मालवा रीजन में आता है और अगर इतिहास देखें तो इंदौर मराठा साम्राज्य के अंतर्गत आता था जिसके कारण यहां होलकर वंश का शासन था। इंदौर का नाम इंद्रेश्वर टेंपल के कारण इंदौर पड़ा। इंदौर मध्य भारत का सबसे बड़ा Education Hub है इसके साथ ही यह Trade, Transports और Food के लिए भी फेमस है।Historical Places इंदौर में होलकर साम्राज्य के कारण यहां काफी हिस्टोरिकल टूरिस्ट प्लेस है जो यहां आने वाले टूरिस्ट को अपनी तरह तरफ आकर्षित अवश्य करते हैं तो चलिए देखते हैं वह कौन-कौन से इतिहास की गवाही देती इमारते हैं जहां इंदौर आने वाले सभी टूरिस्ट को जरूर आना चाहिए

राजवाडा पैलेस शहर के बीचोबीच शान से खड़ी एक 7 मंजिला इमारत है यह होलकर राजवंश के शासकों की ऐतिहासिक हवेली है इसका निर्माण लगभग 200 साल पहले हुआ था। यह पूरा महल लकड़ी और पत्थर से निर्मित है इस महल की वास्तुकला मरहट्टा फ्रेंच मुगल शैली के कई रूपों और वास्तु शैलियों का अनुपम मिश्रण है।

How to Reach राजवाडा पैलेस इंदौर का बहुत Famous place है यह city centre से दूर है यहां आप पब्लिक ट्रांसपोर्ट या प्राइवेट ऑटो या कैप से आसानी से आ सकते है

Timing -- 10 AM to 5 PM

Entry Fee -- 10 Rs.

Note -- यह Palace Monday को बंद रहता है

कृष्ण पुरी छतरी राजवाड़ा पैलेस से कुछ ही दूरी पर स्थित एक बेहद सुंदर आकर्षक और जटिल सिर्फ लिए एक भव्य स्मारक है यह छतरी वास्तव में होलकर राजवंश के सदस्य की कब्र हैं। कथा यह छतरी खान नदी के किनारे स्थित है

How to Reach यह छतरी राजवाड़ा में महाराज तुकोजीराव होलकर क्लॉथ मार्केट के पास स्थित है तथा Rajwada palace से कुछ ही मिनट की दूरी पर स्थित है

Timing -- यह छतरी 9 AM to 5 PM खुली रहती है

Entry Fee -- no fee

Lal Bagh Palace

लालबाग पैलेस इंदौर के सबसे शानदार और प्रसिद्ध महलों में से एक है इसलिए वास्तुकला बेहद अनूठी है यह महल खान नदी के तट पर एक भारत के रूप में खड़ी शानदार संरचना है इस महल का निर्माण राजा शिवाजी राव होल्कर ने कराया था इस महल में होलकर शासकों की जीवन शैली की झलक स्पष्ट तौर पर देखने को मिलती है। इसका निर्माण 1921 में कराया गया है यह एक प्रकार का म्यूजियम है।

How to Reach लाल बाग पैलेस कलेक्ट्रेट के पास इंदिरा नगर में रिवेन्यू कॉलोनी में स्थित है। यहां पर आप Public Transport से या फिर Private Taxi or Cab से भी आ सकते हैं।

Timing -- यह Palace 10 AM to 5 PM खुला रहता है

Entry Fee -- 10 Rs.

Note -- यह Monday को बंद रहता है।

RELATED READ -- INDORE Thru My Eyes A Religious Walk

Central Museum

इंदौर संग्रहालय, इंदौर की ऐतिहासिक विरासत को बरकरार रखता है इस संग्रहालय को केंद्रीय संग्रहालय के नाम से भी जाना जाता है यदि आप इंदौर की समृद्ध सभ्यता और इतिहास के बारे में जानना चाहते हैं तो इस संग्रहालय में आपको अवश्य आना चाहिए।

How to Reach इंदौर संग्रहालय A B Road में GPO के पास स्थित है। यहां आप Public Transport like van, city bus, or ibus या फिर Private Taxi or Cab से आ सकते हैं।

Timing -- यह संग्रहालय 9 AM to 5 PM खुला रहता है

Entry Fee --10 Rs.

Note -- यह म्यूजियम Monday को बंद रहता है

Town Hall (Gandhi Hall)

इस इमारत को 1904 में बनाया गया था, तब इसका नाम किंग एडवर्ड हॉल था पर 1947 में देश स्वतंत्र होने के बाद इसका नाम Gandhi Hall कर दिया गया। इस Hall का निर्माण प्रसिद्द वास्तुकार स्टीवेंसन ने किया था। इसके ऊपर राजपुताना शैली में गुंबद और मीनारे बनी हुई है। यह भवन सफेद सिवनी और पाटन के पत्थरों से बनाश था है इसे इन्डोगोथिक शैली में बनाया गया है। इसके अंदर की बात करें तो इसकी छत में प्लास्टर ऑफ पेरिस का इस्तेमाल किया गया था। इसका फर्श काले और सफेद संगमरमर से बना है, इसमें बीच की मीनार चोकोर आकार में बनी है और उसके उपरी हिस्से में चारों और घड़ी है, यहां बड़ी सी घड़ी होने के कारण इसे घंटाघर भी कहते है।

Hall में पर्यटकों के लिए मुख्य आकर्षण एक घड़ी टॉवर है। चारों तरफ मुंह वाला यह Tower, Hall के बीचों-बीच में स्थित है और एक गुंबद से घिरा है। Hall में बच्चों के लिए पार्क और एक पुस्तकालय भी है।

How to Reach Town Hall , सियागंज में Mahatma Gandhi Rd, शास्त्री मार्केट के पास स्थित है। यहां आप City Bus, Private Taxi or Cab से आ सकते हैं

Timing -- यह Hall 10 AM to 6 PM खुला रहता है

Entry Fee -- no fee

आशा करती हूं आपको मेरा शहर इंदौर और यह blog दोनों पसंद आया होगा और साथ ही मेरा यह Blog आपकी इंदौर यात्रा में काफी मददगार होगा। Historical places का सफर तो यही समाप्त होता है पर जल्दी में अपने अगले Blog के साथ आपके समक्ष उपस्थित होऊंगी। Thank You

Day 1
Photo of INDORE Thru my Eyes -- A HISTORICAL WAIK by Ankita Sahu
Be the first one to comment