मैंगलोर: मॉडर्न लुक के साथ पुराना अंदाज लिए कर्नाटक का ये शहर है सबसे खास, घुमक्कड़ों कर लो तैयारी

Tripoto
Photo of मैंगलोर: मॉडर्न लुक के साथ पुराना अंदाज लिए कर्नाटक का ये शहर है सबसे खास, घुमक्कड़ों कर लो तैयारी by Deeksha Agrawal

हमें अक्सर ऐसा लगता है कि बड़े शहरों में घूमने के लिए रेस्तरां और शॉपिंग मॉल के अलावा ज्यादा जगहें नहीं होती हैं। यहाँ ना तो शान्ति मिलती है और ना ही सुकून से घूमने का मजा। लेकिन यदि आपको बोला जाए कि भारत में कुछ शहर ऐसे भी हैं जहाँ आपको आधुनिक युग और प्राचीन समय से जुड़ी चीजें दोनों एक ही जगह पर देखने के लिए मिलेंगी तो क्या आप विश्वास करेंगे? कर्नाटक के मैंगलोर में आपको कुछ ऐसा ही अनुभव मिलेगा। मॉडर्न लुक वाली इमारतों से लेकर पुराने समय जैसा एहसास वाला ये शहर घुमक्कड़ों के लिए किसी खूबसूरत तोहफे से कम नहीं है।

मैंगलोर

अरब महासागर के आकर्षक नजारे और वेस्टर्न घाट के लहलहाते पहाड़ों से सजा मैंगलोर हर घुमक्कड़ की लिस्ट में जरूर शामिल होना चाहिए। कम शब्दों में बोला जाए तो इस शहर में सबकुछ है। शानदार बीच से लेकर प्राचीन मंदिर और गिरजाघर, बेहतरीन आर्किटेक्चर और देखने लायक सीपोर्ट तक सभी चीजें मैंगलोर को घूमने लायक बनाती हैं। सांस्कृतिक विरासत और प्राकृतिक सुन्दरता से संपन्न मैंगलोर आपकी सभी घुमक्कड़ीय जरूरतों का ख्याल रखता है। मैंगलोर के इतिहास की बात करें तो इस शहर का नाम मंगलादेवी के नाम पर रखा गया है। यदि आप कर्नाटक घूमने जाना चाहते हैं तो अक्सर आपको मैंगलोर से होकर गुजरना होता है जिसके कारण इस शहर को राज्य का एंट्री प्वॉइंट भी कहा जाता है।

क्या देखें?

मैंगलोर में देखने के लिए तमाम जगहें हैं। यहाँ एक जगह हरियाली है तो दूसरी जगह मॉडर्न आर्किटेक्चर। मैंगलोर की हर एक जगह आपको खुश कर देगी।

1. बीच

एक अच्छी बीच से आप क्या आशा रखते हैं? साफ-सुथरा किनारा और झिलमिलाता नीला पानी। मैंगलोर की लगभग सभी बीच पर आपको कुछ ऐसा ही नजारा दिखाई देगा। मैंगलोर की सासिठुलू बीच इनमें सबसे खास है। अगर आपको भीड़भाड़ वाली बीच पर जाना नहीं पसंद है तो ये बीच आपके लिए एकदम सही जगह है। इसके अलावा आप सुराथकल बीच पर भी जा सकते हैं। इस बीच पर पहुँचने के लिए आपको मैंगलोर से उडुपी जाने वाले हाईवे की ओर बढ़ना होगा। इसके अलावा आप मैंगलोर की सबसे अधिक देखी जाने वाली पनंबुर बीच पर भी जा सकते हैं।

2. मंदिर और चर्च

मैंगलोर में आकर्षक समुद्री किनारों के अलावा मंदिर और गिरजाघर भी शुरू से आकर्षण का केंद्र रहे हैं। मैंगलोर में आप मंजूनाथ मंदिर देखने का सकते हैं। इस मंदिर में गुफाएँ भी हैं जिनमें पाण्डवों से जुड़ी तमाम चीजें बताई गई हैं। इसके अलावा आप मंगलादेवी देखने जा सकते हैं जो नवरात्रि पर विशेष रूप से खास होती हैं। मैंगलोर का कुक्के सुब्रह्मण्य मंदिर में आपको हरे-भरे जंगल, नदियाँ और पहाड़ों से मुलाकात करने का मौका मिलेगा। मैंगलोर का सैंट अलॉयसियस कॉलेज चैपल शहर के आर्किटेक्चर का बेहतरीन उदाहरण है। इस चर्च में शानदार पेंटिंग्स लगाई गई हैं जो बेहद खूबसूरत हैं। इसके अलावा आप रोसारियो कैथेड्रल भी देखने जा सकते हैं।

3. न्यू मैंगलोर पोर्ट

मैंगलोर के पनंबुर में स्थित न्यू मैंगलोर पोर्ट भारत का सातवां सबसे विशाल पोर्ट है। इस पोर्ट की देख-रेख का काम मैंगलोर ट्रस्ट द्वारा किया जाता है। इस पोर्ट का शुभारंभ पूर्व प्रधानमंत्री श्रीमती इंदिरा गांधी ने 1974 में किया था। इस पोर्ट को देखना किसी सपने जैसा है। ये पोर्ट इतना बड़ा है कि आप हैरान रह जाएंगे। नजदीक से जहाजों को आते-जाते देखना आपको ज़रूर पसंद आएगा। इस पोर्ट का इस्तेमाल चीजों का आयात और निर्यात करने के लिए किया जाता है जिसमें कॉफी, काजू, ग्रेनाइट और पेट्रोल से बने तमाम प्रोडक्ट शामिल हैं।

4. बेजाई म्यूज़ियम

श्रीमंथी बाई गवर्नमेंट म्यूज़ियम जिसको बेजाई म्यूज़ियम के नाम से भी जाना जाता है मैंगलोर के बीच में स्थित है। इस संग्रहालय में आपको पुराने समय से जुड़ी तमाम चीजें देखने के लिए मिलेंगी। इस संग्रहालय में पुराने सिक्के, पेंटिंग और मूर्तियां हैं जिनसे आपको प्राचीन भारत के बारे में काफी रोचक बातें जानने के लिए मिलेंगी।

5. सकलेशपुर

सकलेशपुर मैंगलोर से लगभग 100 किमी. की दूरी पर स्थित एक खूबसूरत हिल स्टेशन है। घने जंगल, हाइकिंग ट्रैक, ऐतिहासिक मंदिर, झरने और पुराने किले इस जगह को देखने लायक बनाते हैं। इतिहास से लगाव रखने वाले लोगों को सकलेशपुर बहुत पसंद आएगा। सकलेशपुर में मंजाराबाद किला है जिसमें टीपू सुल्तान के बारे में काफी कुछ बताया गया है। इसके अलावा सकलेशपुर में ट्रेकिंग करने के भी कई विकल्प हैं। यदि आपके पास समय है और आप मैंगलोर से बाहर कहीं जाना चाहते हैं तो सकलेशपुर सही जगह है।

कहाँ ठहरें?

मैंगलोर में ठहरने के लिए आपको तमाम ऑप्शन्स मिल जाएंगे। आप होटल, गेस्ट हाउस या रिजॉर्ट में से किसी भी विकल्प का चुनाव कर सकते हैं। मैंगलोर में आमतौर पर होटल कमरे की कीमत 1,200 रुपए से शुरू होती है। हालांकि यदि आप ट्रिप से काफी पहले कमरा बुक करेंगे तो शायद आपको कम दाम में भी होटल मिल जाएगा। यदि आप बीच के नजदीक रहना चाहते हैं तो उसके लिए आपको थोड़ा ज़्यादा खर्च करना पड़ सकता है। बीच के नजदीक स्थित होटलों में कीमत ज़्यादा होती है। यदि आपका बजट कम है तो आप काउच सर्फिंग जैसे विकल्प का भी इस्तेमाल कर सकते हैं।

क्या खाएँ?

मैंगलोर समुद्र के तट पर बसा हुआ है। इसलिए मैंगलोर में सीफूड की खूब वैरायटी मिलती है। यदि आप मैंगलोर में हैं और आपने इस शहर के तमाम रेस्तरां में खाने-पीने का मजा नहीं लिया तो यकीन मानिए आपने अपनी ट्रिप का बहुत महत्वपूर्ण हिस्सा मिस कर दिया है। मैंगलोर में आप नारियल के तेल में बना लाजवाब खाना खा सकते हैं। मैंगलोर का सीफूड इतना लाजवाब है कि फिश करी और प्रॉन घी रोस्ट का स्वाद आपसे भुलाए नहीं भूलेगा। इसके अलावा आप तवा फ्रायड फिश और बॉम्बे डक जैसी टेस्टी डिशेज का भी स्वाद ले सकते हैं।

कैसे पहुँचें?

मैंगलोर पहुँचने के लिए आपको पास तमाम विकल्प हैं। आप फ्लाइट, ट्रेन और बस के जरिए आराम से मैंगलोर आ सकते हैं।

Photo of मैंगलोर: मॉडर्न लुक के साथ पुराना अंदाज लिए कर्नाटक का ये शहर है सबसे खास, घुमक्कड़ों कर लो तैयारी by Deeksha Agrawal

फ्लाइट: यदि आप फ्लाइट से मैंगलोर पहुँचना चाहते हैं तो आप शहर से 15 किमी. दूर स्थित मैंगलोर इंटरनेशनल एयरपोर्ट के लिए फ्लाइट बुक कर सकते हैं। मैंगलोर देश के बड़े शहरों से अच्छी तरह जुड़ा हुआ है इसलिए आपको फ्लाइट्स मिलने में कोई परेशानी नहीं आएगी। मुंबई और दिल्ली जैसे शहरों से आप आसानी से फ्लाइट लेकर मैंगलोर आ सकते हैं।

ट्रेन: ट्रेन से मैंगलोर आने के लिए आपको मैंगलोर जंक्शन के लिए टिकट बुक करना होगा। मैंगलोर आने के लिए आपको देश के किसी भी कोने से ट्रेन मिल जाएंगी। आप मेल और एक्सप्रेस ट्रेनों को लेकर आराम से मैंगलोर पहुँच सकते हैं। हालांकि स्टेशन आने के बाद आप बाहर से टैक्सी या कैब लेकर शहर आ सकते हैं।

वाया रोड: यदि आप सड़क मार्ग से मैंगलोर आना चाहते हैं तो उसमें भी आपको कोई परेशानी नहीं आएगी। कर्नाटक राज्य परिवहन द्वारा चलाई जा रही बस लेकर आप मैंगलोर आ सकते हैं। इसके अलावा यदि आप कर्नाटक के अलावा अन्य राज्यों से मैंगलोर आना चाहते हैं तो उसके लिए भी आपको बस या टैक्सी मिल जाएंगी। ध्यान देने वाली बात ये भी है कि मैंगलोर घूमने के लिए बस सबसे सस्ता और तेज तरीका है।

क्या आपने कर्नाटक के मैंगलोर की यात्रा की है ? अपने अनुभव को शेयर करने के लिए यहाँ क्लिक करें

बांग्ला और गुजराती में सफ़रनामे पढ़ने और साझा करने के लिए Tripoto বাংলা और Tripoto ગુજરાતી फॉलो करें।

रोज़ाना टेलीग्राम पर यात्रा की प्रेरणा के लिए यहाँ क्लिक करें

Frequent searches leading to this page:

Hidden gems in karnataka, off beat places in karnataka, karnataka packages for couples, honeymoon packages karnataka, beaches in mangalore, best beach resort in mangalore