चलो स्पीति, हिमाचल प्रदेश Travel Guides and trips for spiti #bestoftravel #besttravelpic #tripoto 

Tripoto
Photo of Kinnaur Lahaul Spiti Tour, Panthaghati, Shimla, Himachal Pradesh, India by Afsarul haq

हिमाचल प्रदेश की सीमावर्ती जिला लाहौल - स्पीति खूबसूरत पर्यटन स्थल है। इस जिले की पूर्वी सीमा तिब्बत से मिलती है, उत्तर में लद्दाख और किन्नौर तथा दक्षिण में कुल्लू है। असल में लाहौल और स्पीति दो जुड़वा घाटियां हैं, जो कुनजाम दर्रे ( 4,520 मीटर की ऊंचाई पर ) द्वारा एक दूसरे से जुड़ी हुई हैं।

#bestoftravel #spiti #jeep _coming

Photo of Kunzum Pass, Dhar Thachakarpo, Himachal Pradesh by Afsarul haq

लाहौल - स्पीति का मुख्यालय केलोंग हरे - भरे मैदानों का एक रमणीय स्थल है।

Photo of Keylong, Himachal Pradesh, India by Afsarul haq

इसके उत्तर में महान हिमालय, दक्षिण में पीर पंजाल पर्वत श्रंखला है। लाहौल में आपको हिन्दू और बौद्ध धर्म का अनोखा संगम देखने को मिलेगा। यहां बड़ी संख्या में बौद्ध मठ और हिन्दू मंदिर है।

Photo of चलो स्पीति, हिमाचल प्रदेश Travel Guides and trips for spiti #bestoftravel #besttravelpic #tripoto by Afsarul haq

हिमाचल की इन घाटियों में प्रकृति की विविधता देकते ही बनती है। कहीं आकाश छूती चोटियों के बीच झिलमिलाती झीलें है, तो कहीं बर्फीला रेगिस्तान दूर तक फैला नज़र आता है।

Photo of Himachal Pradesh, India by Afsarul haq

पहाड़ों पर बने मंदिर, गोम्पा और इनमें बौद्ध मंत्रो की गूंज के साथ - साथ वाद्ययंत्रो के मधुर स्वर एक आलोखिक अनुभूति से भर देते है। बर्फ और बादलों का सौन्दर्य तो आपको दीवाना बना देगा।

Photo of चलो स्पीति, हिमाचल प्रदेश Travel Guides and trips for spiti #bestoftravel #besttravelpic #tripoto by Afsarul haq

लाहौल - स्पीति घाटियां

कई मायनो में यह एक - दूसरे से बिलकुल अलग है। लाहौल में हरयाली, प्रकृति का भरपूर सौंदर्य और चंद्र एवं भागा जैसी खूबसूरत नदियां है, तो स्पीति एक ठन्डे मरुस्थल जैसा है। हालाँकि भौगोलिक और पुरातत्विक रूप से स्पीति एक सजीव संग्राहलय जैसा है। लाहौल को साहित्यकार राहुल सांस्कृतयानन ने "देवताओं का देश" कहकर पुकारा था।

Photo of Rohtang Pass, Himachal Pradesh by Afsarul haq

तिब्बती भाषा में लाहौल जो 'दक्षिण देश' कहा जाता है। दूसरी तरफ, स्पीति में दूर तक निगाहें हरयाली को तरस जाती है, इसके बावजूद इस बर्फीले रेगिस्तान का सौंदर्य लोगो को अपनी तरफ खींच ही लेता है। रोहतांग दर्रा लाहौल - स्पीति को कुल्लू घाटी से अलग करता है। प्राचीन मान्यताओं के अनुसार रोहतांग दर्रे को पांडवों के स्वर्गारोहण का पथ माना जाता है। कहते है की अपनी अंतिम यात्रा के दौरान पांडवों व द्रौपदी ने यहीं पर अंतिम सांस ली थी।

दर्शनीय स्थल

ताबो, केलोंग, केलोंग म्यूज़ियम, खोकसार - नेशनल पार्क, टांडी, गोंधला, जिस्पा,

दारछा, बरालाछा दर्रा, सारछू, शान्शा, कुनजमुम दर्रा, काजा, की मठ, यांग युद

गोम्पा आदि यहां के प्रमुख दर्शनीय स्थल है।

ताबो, हिमाचल प्रदेश [ TABO MONASTERY ]

#BESTOFTRAVEL #TAABOMONSTRY #TRAVELPICS #TRIPOTO

Photo of Rohtang Pass, Himachal Pradesh by Afsarul haq

समुद्रतल से करीब तीन हज़ार मीटर की ऊंचाई पर स्थित स्पीति घाटी में स्थित ताबो दुनिया के सबसे प्राचीनतम और सबसे ऊँचे गांवो में से एक हैं। इसे हिमालय का अजंता भी कहा जाता है। सूरजताल, चन्द्रताल, मनी यंग, छोह और ढंकर छोह लाहौल - स्पीति की चार प्रमुख झीलें है। लेकिन यह अत्यंत दुर्गम स्थलों पर स्थित हैं।

जाने का समय

लाहौल - स्पीति जाने का सबसे उपयुक्त समय मई से अक्टूबर महीना है। यह जिला ज़्यादार समय बर्फ से ढाका रहता है। लाहौल घाटी नवम्बर से अप्रैल तक दुनिया से अलग थलग हो जाती है, क्यूंकि तब रोहतांग दर्रा बंद हो जाता है। इस वजह से लाहौल - स्पीति का ( कोकसार बताल - काजा ) भी बंद रहता है। हालंकि किन्नौर से स्पीति घाटी की सड़क हर समय खुली रहती है। यह इलाका पीर पंजाल पर्वत श्रंखला के उत्तर में है, इसलिए गर्मियों किए दौरान यहां मौसम काफी सुहाना और सुविधाजनक रहता है। स्पीति की निचली घाटी में गर्मी में भी तापमान 20 डिग्री के ऊपर नहीं पहुंचता हैं।

कैसे पहुंचे। ........

Photo of स्पीति घाटी के पर्यटन, Kaza, Himachal Pradesh, India by Afsarul haq

लाहौल - स्पीति जाने के लिए करीब 4 ,000 मीटर ऊँचे रोहतांग दर्रे को पार करना होता है।

कुल्लू तक हवाई या सड़क मार्ग से जा सकते है और वहां बस या जीप से रोहतांग दर्रा होते हुए केलोंग पहुँच सकते है।

मनाली से अगर केलोंग पहुंचना चाहते हैं, तो इसमें करीब 6 घंटे लग जाते है।

ध्यान रखने योग्य बातें..............
अगर आप यहां के लिए रोड ट्रिप का प्लान बना रहे है तो ध्यान रहे, यहां पेट्रोल पंप गिने चुने ही है। इसलिए अपने पेट्रोल / डीजल को एडवांस में लेकर चले।

यहां की रातें काफी ठंडी होती है, इसलिए गर्म कपड़े साथ लेकर चले ।

बारिश के मौसम में यहाँ जगह जगह भूस्खलन का खतरा बना रहता है, इसलिए अपनी प्लानिंग सही मौसम को देखकर करे ।

इस इलाके में कोई सहर नही है और समूची जनसंख्या कस्बाई या ग्रामीण है ।
धन्यवाद ।।।

उम्मीद करते है आपको पोस्ट पसंद आ रहे होंगे आगे और भी दिलचस्प जगहों के बारे में हम आपको बताते रहेंगे आप हमें ट्रिपोटो पर फॉलो भी कर सकते है। और हमसे अपने यात्रा से जुड़े सवाल पूछ सकते है, हमसे सोशल मीडिया पर भी जुड़े।

WWW.TRIPOTO.COM

WWW.INSTAGRAM.COM

#TRIPOTOABHINDIMEIN #TRIPOTO #TRIPOTOTRAVEL #TRIPOTOCOMMUNITY #TRAVELBLOG #CHEAPTRAVEL #WEEKENDGATEWAYS #AFSARULHAQ #TRAVELABROAD #TRAVELQUESTIONS #BESTTRAVEL #BEAUTIFULPLACES

Be the first one to comment