फिरंगी का प्यार । #loveontheroad

Tripoto
7th Sep 2018
Day 1

कभी आपने सोचा है के कोई भी विदेशी यहाँ आकर इतनी प्रसिद्धि कैसे पा लेता है, अपने रंग से अपनी अदा से और अपने बात करने के तरीके से पर कुछ भी कहो उन्हें देखकर मानो लगता है के कोई खूबसूरत अप्सरा आ गयी हो ।
हालांकि अपने भारत में भी खूबसूरती की कमी नही है पर कहते है न ब्रांडेड चीज़ ब्रांडेड होती है । चलिए शुरू करे
में अपने सफर के लिए आगरा जा रहा था और मैंने ताज एक्सप्रेस से अपना रिजर्वेशन करवा लिया था। ट्रैन लग गयी में अपनी सीट ढूंढ कर बैठ गया तभी मुझे लगा के किसी ने मेरे कंधे पर हाथ रखा हो, मैन देखा तो एक खूबसूरत विदेशी लड़की अपनी मधुर आवाज़ से कह रही के इस सीट पर में बैठ सकती हूं । मैंने भी हाँ कर दी लड़की को न कोन करता है और वो भी विदेशी ।
दरअसल उसकी सीट एक्सचेंज हो गयी थी और उस जगह कोई और बैठ गया था । फिर उसने अपने घुंगराले बालो को समेटा और अपने सागर जैसी नीली आंखों से मुझे देखा और अपने कंठ से स्वर्ण शब्दो में मुझसे पूछा
आप कहा जा रहे है ?
मैंने कहा आगरा ।
फिर उसने कहा में भी आगरा जा रही हूं
मैंने कहा आप अकेले ही यात्रा कर रही कोई साथ नही
फिर उसने अपने फ्रेंच में पता नही क्या बोला लेकिन लगा हो के कह रही हो
सफर ही सफर लिखा है
कोई हमसफर नही ।
फिर कुछ उसके अल्फ़ाज़ मेरे अल्फ़ाज़ से मिले और पल भर में कब इश्क़ मोहब्बत पता ही न चला फिर मैंने एक फ्रेंच गाना लगाया जो ही हाल ही में रिलीज हुआ था ।
और वो इतनी इम्प्रेस हुई के उसने अपने सोशल एकाउंट से लेकर अपना नंबर तक दे दिया और फिर हम ताज महल घूमे काफी अच्छा लग रहा था किसी अजनबी से ऐसे में कभी नही मिला था और उसके बाद क्या खाना खाया और थोड़ा मार्किट घूम और सफर का अंत हुआ। बदनसीबी यह रही के उसका इंडिया में आखरी दिन था और मेरी खुशनसीबी के वो मुझे मिली हम अभी भी अच्छे दोस्त है ।
उम्मीद है आपको स्टोरी पसंद आये माफ कीजियेगा फ़ोटो नही डाल सकता कुछ वजह है पर आगे जब वो आएगी तो उससे पूछ कर TRIPOTO के लिए पूरा ब्लॉग बनाऊँगा धन्यवाद । #tripotoabhindimein

Be the first one to comment