कमलगढ़ : जानिए क्यों एक ट्रैवलर के लिए खास है महाराष्‍ट्र का कमलगढ़ किला

Tripoto
22nd Jun 2017
Day 1

महाराष्‍ट्र में कई पहाड़ी किले हैं जहां पर लोग ट्रैकिंग और कैंपिंग करने आते हैं। आम पर्यटन स्‍थलों में ये जगहें ज्‍यादा पॉपुलर नहीं हैं लेकिन स्‍थानीय लोगों और ऑफबीट पर्यटकों के लिए ये जगहें बहुत लोकप्रिय हैं। ऐतिहासिक महत्‍व के कारण इन जगहों पर कई इतिहास प्रेमी भी आते हैं। इन किलों के गलियों में घूमकर वो इसकी ऐतिहासिकता को महसूस कर पाते हैं। घने जंगलों से घिरा ऐसा ही एक किला है जिसका नाम है कमलगढ़ कमलगढ़ किले आने का सही समय । अगर आप अपने वीकएंड को रोमांचक और दिलचस्‍प बनाना चाहते हैं तो इस बार कमलगढ़ किले का टूर प्‍लान कर सकते हैं। चलिए जानते हैं इस शानदार और प्राचीन इमारत के बारे में।

कमलगढ़ किले आने का सही समय

कमलगढ़ किले के अंदर और बाहर का मौसम सालभर बहुत सुहावना रहता है। इसलिए साल में कभी भी यहां घूमने आ सकते हैं। हालांकि, यहां आने का सबसे सही मौसम सर्दी का रहता है यानि की अक्‍टूबर से मार्च तक का। आप मॉनसून में भी यहां आ सकते हैं जोकि जुलाई से अगस्‍त के बीच है। इस दौरान ये पूरा क्षेत्र हरियाली और सुहावने मौसम से खिल जाता है।

कमलगढ़ किले का इतिहास और क्षेत्र

महाराष्‍ट्र के सतारा जिले में पंचगनी और महाबलेश्‍र जैसे खूबसूरत हिल स्‍टेशनों के पास कमलगढ़ किला स्थित है। 4000 फीट की ऊंचाई पर स्थित ये किला इस क्षेत्र का सबसे ऊंचा किला है। इसलिए स्‍थानीय लोग यहां सबसे ज्‍यादा ट्रैकिंग करने आते हैं। इस किले के बारे में कहा जाता है कि इसे भारत के मध्‍यकालीन युग में बनवाया गया था। ये किला मराठाओं के अधीन था और बाद में इस पर ब्रिटिशों का राज हो गया।

आज इस किले तक पहुंचने के लिए ट्रैक से होकर गुज़रना पड़ता है जबकि प्राचीन समय में तलहटी में बने टनल से यहां पहुंचते थे। इस किले से सबसे नजदीकी शहर है भोर और वाई जोकि यहां से 60 और 30 किमी दूर है।

कमलगढ़ किले क्‍यों आएं

ट्रैकिंग, कैंपिंग और हरियाली के अलावा आप यहां कमलगढ़ गुफा भी देख सकते हैं। अगर आप वीकएंड पर कहीं शात वातावरण में घूमने की सोच रहे हैं तो आपको कमलगढ़ किले जरूर आना चाहिए। स्‍थानीय ग्रामीण आपके रूकने की व्‍यवस्‍था कर सकते हैं। किले के शीर्ष से आसपास की पहाडियों और गांवों का खूबसूरत नज़ारा दिखाई देता है।

कैसे पहुंचे कमलगढ़

वायु मार्ग द्वारा : कमलगढ़ से निकटतम हवाई अड्डा 137 किमी दूर पुणे एयरपोर्ट है। एयरपोर्ट से कमलगढ़ किले की टैक्‍सी ले सकते हैं या फिर सतारा तक बस से जा सकते हैं और फिर किले तक टैक्‍सी। किले से सतारा 64 किमी और एयरपोर्ट से 130 किमी दूर है।

रेल मार्ग द्वारा : कमलगढ़ पहुंचने का सबसे सही मार्ग रेल द्वारा है। सतारा तक सीधी ट्रेन लें और फिर कैब से किले तक पहुंचे।

सड़क मार्ग : पहाडी किला होने के नाते यहां सड़क से रास्‍ता थोड़ा मुश्किल है इसलिए आपको किले तक पहुंचने के लिए पहाड़ी पर चढ़ना होगा। किले की तलहटी तक सड़क मार्ग से आसानी से पहुंचा जा सकता है।

Photo of कमलगढ़ : जानिए क्यों एक ट्रैवलर के लिए खास है महाराष्‍ट्र का कमलगढ़ किला by Faisal Ansari
Photo of कमलगढ़ : जानिए क्यों एक ट्रैवलर के लिए खास है महाराष्‍ट्र का कमलगढ़ किला by Faisal Ansari
Be the first one to comment