नुब्रा घाटी - लद्दाख का एंट्रेंस

Tripoto
15th Jun 2016
Day 1

नुब्रा घाटी, जो मूलतह ल्दुम्र के नाम से जाना जाता था, का मतलब 'फूलों की घाटी' है, जो समुद्र तल से 10,000 फुट की ऊंचाई पर स्थित है। यह क्षेत्र लद्दाख के बाग के नाम से जाना जाता है। गर्मियों के दौरान पर्यटकों को गुलाबी और पीले जंगली गुलाबों को देखने का मौका मिलता है जो कि इस क्षेत्र में उगते हैं। इस गंतव्य का इतिहास 7वीं शताब्दी ई. पूर्व का है जब चीनी, मंगोलिया और अरब यहाँ आक्रमणकारियों के रूप में आये थे। इस्लाम से पहले, बौद्ध धर्म इस क्षेत्र पर हावी था।नुब्रा घाटी तक पहुंचने के लिए पर्यटकों को लेह से खार्दूंग ला दर्रा लेना होगा, जो दुनिया का सबसे ऊँचा दर्रा है।
नुब्रा घाटी के आस पास के स्थान
खार्दूंग ला दर्रा साल भर बर्फ से ढका रहता है। इस कारण से सीमा सड़क संगठन को इस दर्रे के रखरखाव की जिम्मेदारी दी गई है। पनामिक गाँव, एन्सा मठ और दिस्कित मठ नुब्रा घाटी के मुख्य आकर्षण हैं।
पनामिक गांव समुद्र तल से 10,442 फीट की ऊंचाई पर स्थित है और पर्यटकों के बीच एक गर्म पानी के वसंत के लिए प्रसिद्ध है जो इस जगह के सरहद पर स्थित है। एन्सा मठ, अन्यथा एन्सा गोम्पा के नाम से जाना जाता है, इस गांव के आसपास के क्षेत्र में स्थित है।
350 साल पुराना दिस्कित मठ, अन्य प्रमुख आकर्षण है जो कि इस गंतव्य के सबसे पुराने और सबसे बड़े बौद्ध मठों में एक माना जाता है।
कैसे जाएं नुब्रा घाटी नुब्रा घाटी की खोज में रुचि रखने वाले यात्री इस गंतव्य तक हवा और ट्रेन के माध्यम से पहुँच सकते हैं। लेह हवाई अड्डा निकटतम हवाई अड्डा है और जम्मू रेलवे स्टेशन निकटतम रेलवे स्टेशन है।
नुब्रा घाटी का मौसम नुब्रा घाटी का तापमान वर्ष भर अनुकूल रहता है, पर्यटकों को नुब्रा घाटी जुलाई से सितंबर के महीनों के बीच यात्रा करने का सुझाव दिया जता है।

Photo of नुब्रा घाटी - लद्दाख का एंट्रेंस by Faisal Ansari
Photo of नुब्रा घाटी - लद्दाख का एंट्रेंस by Faisal Ansari
Be the first one to comment