झारखंड आइये और प्रकृति नजारों में सराबोर हो जाइये

Tripoto
2nd Jul 2019
Day 1

झारखंड यानी पेड़ो और जंगल की धरती
वैसे झारखंड के सफर पे तो बोहोत कम ही लोग आते हैं ना के बराबर। लोगों को पता नहीं झारखंड की प्रकृति के बारे में

आपको मै पूर्ण रूप से ले चलूंगा एशिया के सबसे घने जंगल झारखंड मे

Photo of झारखंड आइये और प्रकृति नजारों में सराबोर हो जाइये by Aman Jaiswal

अचानक हमारे शहर जमशेदपुर जो कि झारखंड की सबसे बड़ी और खूबसूरत शहर है। मौसम बदला और दोस्तो से चाय पर मुलाकात हुई, और अचानक घूमने की इच्छा सबने जाहीर की।  अगले दिन सुबह 5 बजे शहर से निकल कर जंगल की और हमने 5 जगह तय किए जहा हमे घूम कर शाम तक वापस आना था।
हमेशा की तरह मैं एक घंटे लेट से पहुंचा, मेरे दोस्त नये वाले पुल के पास इन्तेजार कर रहे थे और गुस्सा भी हो रहे थे, मै पहुचते ही उनसे माँफी माँगा और हमलोग चल दिए।

मेरे इन्तेजार मे दोस्त कुछ तो इतने गुस्से में की फोटो नई खीचने दिए, एक घंटे मैंने लेट जो किया था

Photo of झारखंड आइये और प्रकृति नजारों में सराबोर हो जाइये by Aman Jaiswal

गाड़ी हवायें से बाते कर रही थी। सपाट वा साफ रास्ते और दोनों ओर पहाड़ी सफर को और भी रोमांचित बना रहे थे। हम सभी पूरे धुन मे ड्राइव कर रहे थे

रास्ते से दिखते ये जंगल के नजारे

Photo of झारखंड आइये और प्रकृति नजारों में सराबोर हो जाइये by Aman Jaiswal

इन रास्तों को 120 km पार करने के बाद हम रांची शहर पहुचे। जो झारखंड की राजधानी है वहां से और 36 km के करीब हमारा पहला पाइंट था। पतरातू  वैली। हम 10 मिनट रुके पानी पिये और रांची से निकल गये 45 मिनट के सफर के बाद हम पहले पॉइंट पे पहुच गए। 9.30 बज रहा था

Photo of झारखंड आइये और प्रकृति नजारों में सराबोर हो जाइये by Aman Jaiswal
Photo of झारखंड आइये और प्रकृति नजारों में सराबोर हो जाइये by Aman Jaiswal

बोहोत ही सुंदर घाटी है, ऊपर से पूरे रामगढ़ घाटी नजर आती है और पतरातू लेक भी। नजारे तो हम देख लिए हमे बोहोत भूख लगी थी सुबह से हमने कुछ नहीं खाया था, घाटी के किनारे 2-4 ठेले लगे हुए थे हम सभी आगे बढ़े हमे टिकिया चाट मसाला मिला। सभी एसे खा रहे थे जैसे 2 दिन से ना खाया हो। पैसे देने के वक़्त सूरज का हमेशा का ड्रामा जान कर उसे एसा करने मे मज़ा आता है। ये सगुन की तरह है हमारे सफर का

टिकिया चाट और पतरातू के नजारे

Photo of झारखंड आइये और प्रकृति नजारों में सराबोर हो जाइये by Aman Jaiswal

खा कर हम तुरंत निकल गए अपने दूसरे पॉइंट की ओर। जो घने जंगल के बीच थी यहा से 60 km की दूरी पर 1.15 मिनट ड्राइव के बाद हम पहुचे हुनडरू जलप्रपात। पहले तो हमने जलप्रपात के उपर से नजारे देखते ही वहां रुक गए कुछ तस्वीर ली

Photo of झारखंड आइये और प्रकृति नजारों में सराबोर हो जाइये by Aman Jaiswal

फिर जलप्रपात के नीचे की ओर जाने के लिए हमने अपनी बाइक खड़ी की। बाइक के 12 रुपए और एक पर्सन के 7 रुपए जमा करने पड़े जो कि झारखंड सरकार के फ़ंड मे जाता है वहा के साफ सफाई के लिए

Photo of झारखंड आइये और प्रकृति नजारों में सराबोर हो जाइये by Aman Jaiswal

नीचे पहुचने के लिए सीढ़ी बनी है 400 सीढ़ी उतरने के बाद हमे झरने का दीदार हुआ और दिल गार्डन गार्डन हो गया। खुशी से हम सभी उछल पड़े।

Photo of झारखंड आइये और प्रकृति नजारों में सराबोर हो जाइये by Aman Jaiswal

झरने की दूधिया पानी और जंगल की शांतिपूर्ण वातावरण मानो कानो में गुदगुदा रही थी। कुछ तस्वीरें खीचने के बाद झरने के निचे जाने के लिए हमलोग आगे बढ़े और वहा पहुचते ही हमारा झरने मे नहाने को दिल हुआ। अक्सर मै सभी झरनो मे नहाता हू। मै कपड़ा उतारा शॉर्ट्स पहना और कूद पड़ा। पीछे पीछे मेरे सभी दोस्त आ गए।

Photo of झारखंड आइये और प्रकृति नजारों में सराबोर हो जाइये by Aman Jaiswal
Photo of झारखंड आइये और प्रकृति नजारों में सराबोर हो जाइये by Aman Jaiswal

झरने मे हम सभी खो गए थे। तकरीबन 1 घंटे ठंडे पानी में नहाने के बाद ख्याल आया कि दूसरी जगह भी जाना है। तुरंत हमने कपड़े पहने और गीले कपड़ो को पॉलिथीन में डाल कर बैग मे भर लिए और वहा से निकले। अब तीसरे स्थान पर जाना था सीता फॉल जो कि यहा से 35 km दूर था। हम तुरंत चल पड़े

Photo of झारखंड आइये और प्रकृति नजारों में सराबोर हो जाइये by Aman Jaiswal

घने जंगल से होते हुए ये  घुमावदार और साफ रोड एक अलग ही मज़ा दे रहे थे। बता नहीं सकता हू आप पीछे बैठते तो आपको एहसास हो पाता। इस रोमांचक रास्ते को पार कर हम पहुचे सीता फॉल गाड़ी खड़ी कर 300 सीढ़ी उतरने के बाद जो मैंने देखा खो गया। सभी जगह पिछले वाले से अच्छे निकल रहे थे।

Photo of झारखंड आइये और प्रकृति नजारों में सराबोर हो जाइये by Aman Jaiswal
Photo of झारखंड आइये और प्रकृति नजारों में सराबोर हो जाइये by Aman Jaiswal
Photo of झारखंड आइये और प्रकृति नजारों में सराबोर हो जाइये by Aman Jaiswal

सीता फॉल नाम से भी ज्यादा खूबसूरत है। यहा पहुच कर जन्नत का एहसास हुआ। एकदम शांत और सुकून भरी जगह एक भी लोग नहीं थे हमारे अलावा। यहां हमने नहाया तो नहीं पर कुछ देर बैठ कर प्रकृति का आनंद लिया। अब 4 बज चुका था हमे एक और झरने की ओर जाना था जो यहा से मात्र 5 km दूर था। हमने बाइक स्टार्ट की और निकल पड़े

Photo of झारखंड आइये और प्रकृति नजारों में सराबोर हो जाइये by Aman Jaiswal

10 min के बाद हम जोंहा फॉल पहुचे पता चला कि यहा 700 सीढ़ी उतरना है। हमलोग इतने थक चुके थे कि अब हिम्मत नई थी कुछ लोग उपर ही रुक गए हम तीन लोग एक शॉर्ट कट रास्ते से गए। रास्ते मे हमे जामुन मिला दिल खुश हो गया

Photo of झारखंड आइये और प्रकृति नजारों में सराबोर हो जाइये by Aman Jaiswal

जामुन खाते खाते झरने तक पहुच गए। साँसे फूल गई कुछ देर बैठे फोटो खीचें और वापस 700 सीढ़ी चढ़ना हालत खराब हो गई पसीना से भीग गए ऊपर पहुच कर पानी पिया और यहा खाने की अच्छी व्यस्था थी हमने खाना खाया लोकल लोगो के द्वारा बनाया गया लकड़ी की आग मे।

मै और शाश्वत

Photo of झारखंड आइये और प्रकृति नजारों में सराबोर हो जाइये by Aman Jaiswal

अब 5 बज चुके थे हमे वापस जमशेदपुर पहुंचना था 3 घंटे के करीब हमे लगता। हम रात होने से पहले हाइवे पकड़ लेना चाहते थे हमलोग देर ना करते हुए निकल पड़े तभी थोड़ी देर बाद  शाश्वत  को याद आया ग्रुप फोटो तो हुआ ही नई फिर गाड़ी रोक एक ग्रुप फोटो ले कर निकले

मै रोहित, सूरज, आदित्य, शाश्वत

Photo of झारखंड आइये और प्रकृति नजारों में सराबोर हो जाइये by Aman Jaiswal

और फिर गाड़ी 70 km के बाद देवरि मंदिर के पास रोके यहा हमारा पहला स्टॉप था यहा पूजा कर के हमलोग निकले थे। यहा पास ही ढाबे मे हमने चाय नसता किया और घर की और निकल गए। 400 km बाइक ड्राइविंग करने के बाद इतने थक चुके थे की घर पहुचते ही सीधे बिस्तर पे गिर पड़े माँ चिल्लाते रही खाना खा लो पर थकावट इतनी की 5 मिनट मे नींद आ गई और सपनो मै फिर सफर पे चल दिये........

Be the first one to comment