अब कभी नहीं सोयेगी बंबई

Tripoto
Photo of अब कभी नहीं सोयेगी बंबई by बिहारी घुमक्कड़

बंबई, भारत की आर्थिक राजधानी, सपनो की नगरी।यूँ तो बंबई मेरे सबसे पसंदीदा शहरों में से एक है, और इसके बहुत सारे कारण है।

Photo of अब कभी नहीं सोयेगी बंबई 1/2 by बिहारी घुमक्कड़
Gateway of India

अभी हाल ही में महाराष्ट्र विधानसभा चुनावों के बाद यहाँ की नवनिर्वाचित सरकार के पर्यटन मंत्री श्री आदित्य ठाकरे ने एक महत्वपूर्ण एवं अति महत्वकांक्षी प्रस्ताव को पारित कर सबको चौंका दिया।

जी हां, मैं बात कर रहा हूँ आज यानी, 27 जनवरी 2020 से बंबई शहर के 24 घंटे खुलने वाले मॉल, और रेस्टोरेंट की।

आज से बंबई के विभिन्न मॉल, और रेस्टॉरेंट को 24 घंटे खुलने की अनुमति दे दी गई है।

Photo of अब कभी नहीं सोयेगी बंबई 2/2 by बिहारी घुमक्कड़
Bandra Worli Sea Link

हालांकि, कई मॉल और रेस्टॉरेंट मलिकों ने इस फ़ैसले पर कोई प्रतिक्रिया दिए बिना, इसे आर्थिक नुकसान देने वाला फ़ैसला कहा है।

हालांकि, अभी भी शहर में कई जगह ऐसे रेस्टॉरेंट, या खाने पीने के कई प्रतिष्ठान हैं जो रात भर खुले रहते हैं उदाहरण के तौर पर: कोलाबा का गोकुल रेस्टॉरेंट, नरीमन पॉइन्ट का कैफ़े कॉफी डे", "नेचुरल आईसस्क्रिम", "बस्किन रॉबिन", माहिम पश्चिम का "बाबा फालूदा", मोहम्मद अली रोड़ पर रात भर आप मुग़लई, अफगानी खान पान का आनंद उठा सकते हैं।

अभी तक जयादातर प्रतिष्ठान या तो चोरी छुपे अवैध रूप से 24 घंटे संचालन कर रहे थे या तो वे इसके लिए प्रति माह स्थानीय प्रशासन को मोटी रकम वो भी अवैध रूप से चढाया करते थे।

ऐसे में ये कदम उन सभी प्रतिष्ठानों के लिए निश्चित तौर से मुनाफे का सौदा साबित होगा जो अपने रेस्टोरेंट अब शहर में 24 घंटे खोलना चाहते हैं।

एक घुमक्कड़ होने के नाते व्यक्तिगत तौर पर मैं इस फ़ैसले का तहे दिल से स्वागत करता हूँ, और महाराष्ट्र के युवा पर्यटन मंत्री आदित्य ठाकरे को इस महत्वकांक्षी फैसले के लिए धन्यवाद देता हूँ।

पहले भी कई बार मैं दिन भर काम करने के बाद बंबई के नाइट लाइफ को खूब जिया है, जैसे लेट नाइट सिनेमा के बाद गोकुल के रोल्स, और माहिम इस्थित "बाबा फालूदा" का देर रात तक भरपूर आनंद लिया है।

बंबई के मुख्य दर्शनीय स्थल निम्नलिखित हैं।

1. गेटवे ऑफ इंडिया।

2. हॉटेल ताज महल प्लेस एंड टॉवर।

3. नरीमन पॉइंट।

4. गिरगाँव चौपाटी।

5. बैंड स्टैंड, पाली हिल, बांद्रा।

6. जूहू चौपाटी।

7. बांद्रा वरली सी लिंक।

8. एलीफैंटा केव।

9. एस्सेल वर्ल्ड।

10. वाटर किंगडम।

11. छोटा कश्मीर।

12. सुरूचि बीच।

13. जीवदानी माता मंदिर।

14. तुंगारेश्वर शिव मंदिर।

15. तुंगारेश्वर राष्ट्रीय उद्यान।

16. कलम्ब बीच।

17. राजोड़ी बीच।

तो दोस्तों दिन हो या रात, साल के 12 महीने आपका स्वागत है, सपनों की नगरी, कभी न सोने वाली,भारत की आर्थिक राजधानी बंबई में।