प्राकृतिक शिव कुण्ड जिसका गन्धक युक्त गर्म पानी सभी तरह के चर्म रोग दूर कर देता है।

Tripoto
14th Feb 2021
Photo of प्राकृतिक शिव कुण्ड जिसका गन्धक युक्त गर्म पानी सभी तरह के चर्म रोग दूर कर देता है। by Kalpana Srivastav

भारत में कई आश्चर्यचकित कर देने वाली जगह है जो आज भी वैज्ञानिकों के लिये शोध का विषय बनी हुई है। ऐसा ही एक स्थान है जो दिल्ली से महज 60 किमी और गुड़गांव से 25 किमी. दूर अरावली की तलहटी में बसा सोहना कस्बा। यहाँ एक ऐसा कुण्ड है जिसके बारे में कहा जाता है की यहाँ स्नान ओ0०करने से त्वचा संबंधी सभी रोग खत्म हो जाते हैं। इस कुण्ड को शिव कुण्ड कहते है।

मंदिर का प्रवेश द्वार

Photo of प्राकृतिक शिव कुण्ड जिसका गन्धक युक्त गर्म पानी सभी तरह के चर्म रोग दूर कर देता है। by Kalpana Srivastav

जय भोले

Photo of प्राकृतिक शिव कुण्ड जिसका गन्धक युक्त गर्म पानी सभी तरह के चर्म रोग दूर कर देता है। by Kalpana Srivastav

इस मंदिर की प्रसिद्धि का प्रमुख कारण है की इस मंदिर में प्राकृतिक रूप से गर्म पानी निकलता है। वैज्ञानिकों का मानना है की प्राकृतिक रूप से निकलने वाले जल में गंधक होता है जो त्वचा संबंधित रोग जैसे एक्जीमा, चर्म रोग, कुष्ठ रोग, खाज, खुजली आदि ठीक हो जाते है। कुछ लोगों का तो ये भी कहना है कि जोड़ों का दर्द आदि भी ठीक हो जाता है।

मंदिर के अन्दर जाते हुए

Photo of प्राकृतिक शिव कुण्ड जिसका गन्धक युक्त गर्म पानी सभी तरह के चर्म रोग दूर कर देता है। by Kalpana Srivastav

साफ सुथरा प्रांगण

Photo of प्राकृतिक शिव कुण्ड जिसका गन्धक युक्त गर्म पानी सभी तरह के चर्म रोग दूर कर देता है। by Kalpana Srivastav

दूसरी ओर शिव भक्तों का कहना है कि इस कुण्ड पर शिव भगवान की विशेष कृपा और आशीर्वाद है। यही कारण है कि इस कुण्ड से निकलने वाला गर्म जल चर्म रोगों में लाभ पहुंचाता है।

Photo of प्राकृतिक शिव कुण्ड जिसका गन्धक युक्त गर्म पानी सभी तरह के चर्म रोग दूर कर देता है। by Kalpana Srivastav

स्वर्ण गुंबद

Photo of प्राकृतिक शिव कुण्ड जिसका गन्धक युक्त गर्म पानी सभी तरह के चर्म रोग दूर कर देता है। by Kalpana Srivastav

माना जाता है कि राजा सावन सिंह ने अरावली पहाड़ों की तलहटी में, 900 साल पहले, ये रमणीक शहर सोहना को बसाया था। करीब 500 साल पहले एक चतुर्भुज नाम के एक बंजारे ने इस गर्म जल की खोज की और गुबंद बनवाई थी। लोगों की भी आस्था इस कुंड से जुड़ने लगी। मंदिर, भवन बनवाए और तभी से इस कुंड का नाम शिव कुंड पड़ गया।

बाहर एक कुण्ड

Photo of प्राकृतिक शिव कुण्ड जिसका गन्धक युक्त गर्म पानी सभी तरह के चर्म रोग दूर कर देता है। by Kalpana Srivastav

स्नानघर

Photo of प्राकृतिक शिव कुण्ड जिसका गन्धक युक्त गर्म पानी सभी तरह के चर्म रोग दूर कर देता है। by Kalpana Srivastav

55 फीट गहराई से यह गर्म पानी निकलता है जो एक कुण्ड में एकत्र होता है। इस प्राकृतिक कुण्ड का ऊपर से कवर कर दिया गया है। इस मंदिर मुख्य कुण्ड के पानी को छोटे छोटे अलग अलग कुण्डों में डाला जाता है। महिलाओं और पुरूषों के स्नान करने के लिए अलग-अलग कुण्ड है।

पर्ची कटवाकर यही बैठना होता है

Photo of प्राकृतिक शिव कुण्ड जिसका गन्धक युक्त गर्म पानी सभी तरह के चर्म रोग दूर कर देता है। by Kalpana Srivastav
Photo of प्राकृतिक शिव कुण्ड जिसका गन्धक युक्त गर्म पानी सभी तरह के चर्म रोग दूर कर देता है। by Kalpana Srivastav

स्नान की व्यवस्था भी बहुत अच्छी तरह से की गई है।  वी आई पी स्नान, 5 लोगों का समूह स्नान और कुण्ड में एक साथ नहाने का बहुत साधारण चार्ज करते है। बुकिंग के लिये आपको पर्ची कटवानी पड़ती है। आपको अपनी बारी के लिए 20-30 मिनट इंतजार करना पड़ता है।

Photo of प्राकृतिक शिव कुण्ड जिसका गन्धक युक्त गर्म पानी सभी तरह के चर्म रोग दूर कर देता है। by Kalpana Srivastav

रात में ठहरने के लिए भी वी आई पी और साधारण कमरे उपलब्ध है।

मंदिर के सामने गली में खाने-पीने की उचित व्यवस्था है।

सर्दियों में स्नान करने का समय ज्यादा अच्छा है। गर्मियों में इस कुण्ड के गर्म पानी में नहाना बहुत मुशिकल काम है।

सोमवती अमावस्या, फगुन और सावन के महीनों के दौरान बड़ी संख्या में लोग इस कुण्ड में स्नान के लिए आते है। शिवरात्रि के त्यौहार पर विशेष पूजा का आयोजन किया जाता है।