कानपुर में 'सुधांशु महाराज आश्रम'

Tripoto
3rd Dec 2021
Photo of कानपुर में 'सुधांशु महाराज आश्रम' by Neha Patel
Day 1

कानपुर महानगर को औद्योगिक नगरी का दर्जा मिला हुआ है। वैसे तो कानपुर में घूमने के कई आकर्षक और ऐतिहासिक स्थान है लेकिन अगर आपको सुकून की अनुभूति करनी है तो आइये सुधांशु जी महाराज आश्रम।

Photo of Sudhanshu Ji Temple by Neha Patel
Photo of Sudhanshu Ji Temple by Neha Patel

सुधांशु जी महाराज बिठूर का आकर्षण है। इस आश्रम की स्थापना सुधांशु जी महाराज ने की थी। आश्रम के बीच मे एक खूबसूरत मंदिर स्थापित है जिसमें भगवान श्री कृष्ण, शिवजी, हनुमानजी, माँ पार्वती, राधा रानी की खूबसूरती से सजी हुई मूर्तियां है।

Photo of कानपुर में 'सुधांशु महाराज आश्रम' by Neha Patel

मंदिर के अंदर राधा कृष्ण की आरती का दृश्य सबको सम्मोहित करता है। आरती का बड़ा ही सुन्दर दृश्य होता है सुधांशु जी महाराज आश्रम में एक सुंदर उद्यान है जिसमे 8 से 20 फ़ीट ऊंची देवी देवताओं की मूर्तिया सजी है।उस बगीचे में गुफा के सामने झरना भी है। गुफा में जाने का एक अलग अनुभव है।

Photo of कानपुर में 'सुधांशु महाराज आश्रम' by Neha Patel
Photo of कानपुर में 'सुधांशु महाराज आश्रम' by Neha Patel

वहाँ चिड़ियाघर है जिसमे कई तरह के पंछी हैं जैसे मकाउ और काकातुआ आदि। सुधांशु जी महाराज आश्रम शांतिपूर्ण वातावरण में स्थित है जो आपके मन और दिमाग को शांत करता है। आश्रम के पीछे बेघर लोगो के रहने के लिए आश्रय भी है।

Photo of कानपुर में 'सुधांशु महाराज आश्रम' by Neha Patel
Photo of कानपुर में 'सुधांशु महाराज आश्रम' by Neha Patel

आश्रम में खाने की चीजें-

आश्रम में घूमने आने वाले लोगो यहाँ पर कई चटपटी चीजे खाने को मिलती है जैसे पानी पूरी,, चाट बतासा,,भेलपुरी,,अगर आप सॉफ्ट ड्रिंक शौक़ीन है तो आपको यहाँ नीबू पानी,,शिकंजी और नारियल पानी वाजिब दामों पर मिल जायेगा | लेकिन ज्यातर लोग अपने साथ खाने का सामान साथ लाते हैं और आश्रम के पार्क में परिवार के साथ खाने का आंनद लेते हैं।

Photo of कानपुर में 'सुधांशु महाराज आश्रम' by Neha Patel
Photo of कानपुर में 'सुधांशु महाराज आश्रम' by Neha Patel

यहाँ पहुचने के लिए आप स्टेशन से मंधना के लिए बस ले सकते है जो आप को सीधा आश्रम तक पहुंचायेगी। वैसे तो रोजाना सैकड़ो लोग अपने परिवार के साथ सुधांशु जी महाराज आश्रम घूमने आते है लेकिन शनिवार और रविवार को यह संख्या हजारों पार कर जाती है।

आश्रम में आप सुबह 8 से शाम 8 बजे तक जा सकते हैं लेकिन आश्रम के अंदर राधा कृष्ण का मंदिर सुबह 6:00 से 11 के बीच और शाम को 6 से 10 के बीच ही खुलता है।