WHY I SWITCHED TO SOLO TRAVEL #lifechangingtrip

Tripoto
22nd Nov 2017
Photo of WHY I SWITCHED TO SOLO TRAVEL #lifechangingtrip by Afsarul haq

किसी ने सही ही कहा है जितने ज़्यादा लोग उतनी ज़्यादा परेशानी , आप अपनी यात्रा कैसे आरंभ करते है, यह एक बेहद अहम सवाल है ? कई लोग तो बेकार ही अपनी ज़िन्दगी को कोसते है जब खुद में वो जज़्बा नहीं है तो ज़न्दगी को कोसके क्या फायदा।

Photo of WHY I SWITCHED TO SOLO TRAVEL #lifechangingtrip 1/3 by Afsarul haq

मैंने जब यात्रा करना शुरू किया था तब मेरी उम्र करीब 15 साल थी। वैसे तो में जबसे पैदा हुआ हूँ कहीं न कही घूमता ही रहता हूँ। चाहे वो किसी कार्य की अवसर से जाना हो या किसी विवाह - बारातों में घूमना तो अक्सर लगा रहता है। मुझे करीब 2 साल हुए है जबसे में अकेले यात्रा कर रहा हूँ यही वजह है की आज मैं इस लाइफ चेंजिंग ट्रिप के बारे में आपको बताना चाहता  हूँ। #LIFECHANGINGTRIP

पहले में भी लोगों के साथ एक समूह में यात्रा करना पसंद करता था। में जब भी अपनी यात्रा शुरू करता था तो उसमे 5 -6 लोग ज़रूर हुआ करते थे। पर परेशानी कब होती है जब आपको कहीं जाना है और आपके साथी कहीं और जाना चाहते है। ऐसा ही हुआ भोपाल में हमारी ट्रैन सुबह की थी और सब लोग जल्दी से तैयार होकर स्टेशन को रवाना हो गए दोपहर तक हम भोपाल में तशरीफ़ रख चुके थे। आसपास कुछ अच्छे विश्रामगृह तलाशने के बाद हमने कुछ विचार विमर्श किया और निकल पड़े इस शहर से रूबरू होने। हम 4 लोग थे और वही बात फस गयी जिसका डर था। 2 लोगों को संघ्रालय जाना था और 2 को बड़ा तालाब हमने कहा के पहले बड़ा तालाब चलते है फिर वहां चलेंगे लेकिन वह दोनों मानने को तैयार न हुए और हमें फिर अकेले ही जाना पड़ा हम दो लोग तालाब में बोटिंग के लिए चले गए और वह दो संघ्रालय के लिए प्रस्थान कर चुके थे बाद में फिर वही बहस का सिलसिला शुरू हुआ जो की 2 घंटे तक चला क्यूंकि हम लोग उनके साथ नहीं गए इसलिए बहस तो होनी ही थी। तभी उस दिन से मैंने मन बना लिया था के अब जब भी यात्रा किया करूँगा अकेले ही किया करूँगा। अब आप लोग सोच रहें होंगे के अकेले जाने में क्या मज़ा है। उनके लिए में यह बेहद मशहूर चंद शब्द लिखता हूँ। TRAVELLING ALONE IS BORING AND LONELY SAID THOSE PEOPLE WHO NEVER TRAVEL ALONE .

Photo of WHY I SWITCHED TO SOLO TRAVEL #lifechangingtrip 2/3 by Afsarul haq

बस उसी दिन से मैंने सोलो ट्रेवल शुरू किया और अभी में सोलो ही ट्रेवल करना पसंद करता हूँ, अपनी आज़ादी से कहीं भी जाओ कितना भी रुको कोई दिक्कत नहीं नए लोगों से मिलो उन्हें अपना दोस्त बनाओ यही ज़िन्दगी है। नए लोगों के साथ जाने का मज़ा ही कुछ और होता है कुछ दास्ताने अपनी सुनाओ कुछ उनकी सुनो यही तो ज़िन्दगी है। यह थी मेरी लाइफ चेंजिंग ट्रिप स्टोरी अगर आपके साथ भी कुछ हुआ ऐसा जिससे आपकी ज़िन्दगी में भी कुछ बदलाव आया तो साझा करें अपने अनुभव हमारे साथ और पाएं मौका मुफ्त में यात्रा करने का।

Photo of WHY I SWITCHED TO SOLO TRAVEL #lifechangingtrip 3/3 by Afsarul haq
Be the first one to comment