अगर कुछ नया खोज रहे, तो जाएँ इन 7 जगह जो आप को भारत के मैप पर भी नहीं मिलेंगी।

Tripoto
Photo of अगर कुछ नया खोज रहे, तो जाएँ इन 7 जगह जो आप को भारत के मैप पर भी नहीं मिलेंगी। by Ankit Kumar

यदि ख़ास जानी-मानी प्रसिद्ध जगहों को घूमकर बहुत ज़्यादा बोर हो गए हैं और कुछ नया ढूॅंढ़ रहे हैं, तो आज हम आपको बताने जा रहे हैं ऐसी 7 ऑफ़बीट जगहों के बारे में जो आपको भारत के मैप में भी नहीं मिलेंगी। एक घुमक्कड़ होने के वजह से भारत की अधिकतम प्रसिद्ध जगहों को देख लेना कोई बड़ी बात नहीं है। इसलिए आप लोगों को असली मायनों में घुमक्कड़ बनाने के लिए इन 7 ऑफ़बीट जगहों की लिस्ट लेकर आया हूँ।

1. हैलेबिडु

हैलेबिडु कर्नाटक राज्य के हुसैन जिले में स्थित एक शहर है। इस शहर के बारे में मूल निवासी के अलावा चुनिन्दा लोग ही जानते हैं। हैलेबिडु में बहुत ही सुन्दर-सुन्दर मन्दिर, धार्मिक स्थल और मूर्तियाॅं हैं। इस जगह को 'Gem of Indian Architecture' के नाम से भी जाना जाता है। इधर के स्थल 'होयसाल शैली' में बने हुए हैं। इस शैली का इस्तेमाल 12वीं से 13वीं सदी में यहाँ पर बसे होयलस्वर करते थे।

कब जाएँ- अक्टूबर से मार्च के समय।

कैसे जाएँ- कर्नाटक पहुँच कर कार या बाइक से ही जाया जा सकता है।

Photo of अगर कुछ नया खोज रहे, तो जाएँ इन 7 जगह जो आप को भारत के मैप पर भी नहीं मिलेंगी। by Ankit Kumar

2. माजुली

माजुली ब्रह्मपुत्र नदी पर स्थित एक जलीय द्वीप है जो असम के जोरहाट से 20 किलोमीटर दूरी पर है। माजुली विश्व की सबसे बड़ा पानी का द्वीप है, जिसका क्षेत्रफल 1250 sq. km है। माजुली घूम आने के लिए उसकी ख़ूबसूरती के साथ ही वहाँ के मूल निवासी की अद्वितीय संस्कृति भी एक कारण है।

कब जाएँ- जुलाई से मार्च के समय।

कैसे जाएँ- जोरहाट से नदी तक पैदल फिर वहाॅं से नाव में।

3. मौसिनराम

यह एक ऐसी जगह है जिसके बारे में हम लोगों ने अपनी सोशल साइंस की बूक में पढ़ा है पर किसी को कुछ याद नहीं। बुक में इसके बारे में लिखा है कि “मौसिनराम भारत की सबसे ज़्यादा नम जगह है।“ यहाँ वर्ष के हर महीने बरसात होती रहती है। यहाँ पर बहुत सारे झरने हैं और ऐसी बहुत सारी जगह भी हैं जहाँ आज तक कोई इन्सान नहीं जा पाया है। यहाँ का मौसम हमेशा ही ख़ूबसूरत रहता है।

कब जाएँ- सितम्बर से नवम्बर के समय (अगर बरसात का आनन्द लेना चाहते हैं तो बरसात के मौसम में जाएँ)।

कैसे जाएँ- मेघालय से अपनी सवारी से।

Photo of अगर कुछ नया खोज रहे, तो जाएँ इन 7 जगह जो आप को भारत के मैप पर भी नहीं मिलेंगी। by Ankit Kumar

4. नुब्रा घाटी

अगर आप लोग भारत में किसी ऐसी जगह की खोज में है जिस जगह पर जा कर आप अपनी ज़िन्दगी में कभी भी नहीं भूलने वाले और बहुत सारी हसीन यादें बनाना चाह रहे तो नुब्रा घाटी आप के लिए बेस्ट जगह है। यहाँ जाने का लेह से 140 किलोमीटर का सिल्क का रास्ता और यहाँ की तेज़-तेज़ ठंडी हवाएँ आपको एक फ़िल्मी किरदार जैसा महसूस कराएँगी। जब आप यहाँ से गुज़रेंगे तो नदी श्योक और नुब्रा बहुत ही ख़ूबसूरत से दृश्य पेश करेंगे। इस जगह को ‘टाइमलेस ब्यूटी’ कहें तो गलत नहीं।

कब जाएँ - जून से सितम्बर के समय।

कैसे जाएँ - लेह से अपनी सवारी से।

5. चेम्बर पीक

वायानाड हिल के सबसे पूरी हिस्से को चेम्बर पीक कहते हैं। ये चोटी समुन्द्र के लेवल से 2000 मीटर ऊची है। यहाँ से पूरे वायानाड हिल के आकर्षक दृश्य के साथ ही आस-पास के अधिकतर हिस्से का भी सुन्दर व्यू मिलता है। यहाँ पर हर जगह हरियाली से घिरी है और यहाँ पर एक ख़ूबसूरत सी दिल के आकार की नदी भी है। किसी भी घुमक्कड़ के लिए यह एक परफ़ेक्ट जगह है।

कब जाएँ- वर्ष के किसी भी महीने।

कैसे जाएँ- वायानाड से पैदल।

Photo of अगर कुछ नया खोज रहे, तो जाएँ इन 7 जगह जो आप को भारत के मैप पर भी नहीं मिलेंगी। by Ankit Kumar

6. चोपटा

अगर शहर की भाग-दौड़ वाली ज़िन्दगी से थोड़े समय के लिए ब्रेक लेने का सोच रहे हो तो चोपटा आप लोगों के लिए एक बेहतरीन गाँव है। उत्तराखण्ड में स्थित एक छोटा ख़ूबसूरत गाँव चोपटा, जो हाल ही में लोगों की नज़रों में आ रहा है। यहाँ पर आप लोग ट्रैकिंग, पिकनिक और तो और पहाड़ी जानवरों के साथ एक अच्छा समय व्यतीत कर सकते हैं।

कब जाएँ- मार्च से जून के समय (वर्ष के किसी और समय जाने पर आप निराश हो सकते हैं इधर के अनफ़्रेंडली वातावरण के कारण)।

कैसे जाएँ - उत्तराखण्ड में चोपटा जाने वाली बस से या ख़ुद की सवारी से।

Photo of अगर कुछ नया खोज रहे, तो जाएँ इन 7 जगह जो आप को भारत के मैप पर भी नहीं मिलेंगी। by Ankit Kumar

7. तालसरी बीच

यह ओडिशा के उन बीच में से एक है जिसका नाम न ही अधिकतर लोगों ने सुना और न ही यहाँ गए हैं। यहाँ अगर जा रहे तो कम से कम 2 दिन का ट्रिप करना तो बनता है। इस जगह के बारे में पढ़ने से ज़्यादा यहाँ जा कर यहाँ की ख़ूबसूरती का आनन्द लेने में सुकून है। ओडिशा की गर्मी से बचने के लिए यहाँ गर्मी के मौसम में न जाएँ।

कब जाएँ- अक्टूबर से फरवरी के समय।

कैसे जाएँ- ओडिशा से ख़ुद की सवारी या टैक्सी से।

क्या आपने इनमें से किसी जगह की यात्रा की है? अपने अनुभव को शेयर करने के लिए यहाँ क्लिक करें

बांग्ला और गुजराती में सफ़रनामे पढ़ने और साझा करने के लिए Tripoto বাংলা और Tripoto ગુજરાતી फॉलो करें।

रोज़ाना टेलीग्राम पर यात्रा की प्रेरणा के लिए यहाँ क्लिक करें

More By This Author

Further Reads