अंडमान-निकोबार

Tripoto
15th Jun 2019
Photo of अंडमान-निकोबार by shub
Day 1

अंदमान-निकोबार : अगर आपको पानी से खास लगाव है तो अंडमान-निकोबार आइलैंड आपके लिए सही रहेगा। बंगाल की खाड़ी में स्थित और हिन्द महासागर की जल सीमा से सटा अंडमान-निकोबार द्वीप समूह वास्तव में 300 से अधिक खूबसूरत द्वीपों और टापुओं का बड़ा समूह है, जहां पन्ना और मूंगे की चट्टानें भी मौजूद हैं। सफेद बालू वाले सुंदर समुद्र तट, जहां पानी के किनारे कतार में लंबे-लंबे नारियल के पेड़ काफी आकर्षक नजर आते हैं।

कोर्बिन्स कोव बीच, चिराया टापू, वाइपर द्वीप, रॉस आईलैंड, करमतांग बीच, रेडस्किन आईलैंड नील आईलैंड, हैवलॉक आईलैंड, हरमिंदर बे तट, चि‍ड़िया टापू (बर्ड वॉचिंग) आदि सैलानियों के विशेष आकर्षण का केंद्र माने जाते हैं। लोगों की भीड़ से दूर विशाल समुद्र का साफ पानी आपको यहां अठखेलियां करने के लिए मजबूर कर देगा। आप चाहें तो यहां सन बाथ, वाटर स्पोर्ट्स और सी-फूड का भी मजा ले सकते हैं।

सेलुलर जेल
सेलुलर जेल को काला पानी के नाम से भी जाना जाता है. यह जेल भारत के आजादी के लिए संघर्ष के सबसे कुख्यात अवशेषों में से एक है. इसके निर्माण में इस्तेमाल की गई ईंटें बर्मा से आयात की गईं थी. शाम को यहां रोशनी और ध्वनि के माध्यम से एक कार्यक्रम आयोजित किया जाता है जिसमें इस जेल के इतिहास के बारे में बताया जाता है. इस जेल में आप वह कोठरी देख सकते हैं जहां वीर सावरकर को रखा गया था. सेल्यूलर जेल और जेल संग्रहालय को देखने के लिए आपको 30 रुपये का टिकट लेना होगा.

अंडमान वाटर स्पोर्ट्स कॉम्प्लेक्स
सेलुलर जेल से कुछ ही मिनटों की दूरी पर राजीव गांधी जल क्रीड़ा परिसर है, जिसे अंडमान वाटर स्पोर्ट्स कॉम्प्लेक्स के नाम से भी जाना जाता है. यहां आप पानी से जुड़ी कई गतिविधियां कर सकते हैं. साहसिक खेलों में आपको पैरासेलिंग, केले की नौकाओं, स्पीड बोट आदि जैसे खेल खेलने को मिलेंगे. यहां एक शांत और सौहार्दपूर्ण जल खेल का अनुभव लिया जा सकता है. यह सप्ताह के सभी दिन पर्यटकों के लिए खुला रहता है.

मरीना पार्क और मछलीघ
पोर्ट ब्लेयर में स्थित मरीना पार्क को ‘सामुद्रिका समुद्री संग्रहालय’ के रूप में भी जाना जाता है जिसका प्रबंधन भारतीय नौसेना करती है. इसकी स्थापना का मुख्य उद्देश्य अंडमान और निकोबार द्वीप समूह में जलीय जीवन और संसाधनों के संरक्षण के बारे में जागरूकता पैदा करना था. यहां आप सामाजिक और आदिवासी जीवन के समूह के बारे में विस्तृत जानकारी ले सकते हैं. यह पार्क सोमवार को छोड़कर 9.00 बजे से दोपहर 12.00 बजे तक और 2.00 बजे से शाम 5 बजे तक खुला रहता है.

मानव विज्ञान संग्रहालय
इसे अंडमान के सर्वश्रेष्ठ संग्रहालयों में से एक कहा जाता है, जो स्थानीय समुदाय जनजातियों के गहन और सूचनात्मक चित्र पर प्रकाश डालने को काम करता है. इन जनजातियों को दुनिया में सबसे पुराना माना जाता है. पोर्ट ब्लेयर के मिडल प्वाइंट में स्थित, यह एक अच्छा दर्शनीय स्थल है. जरावा छाती गार्ड और शामनी मूर्तियां इस संग्रहालय के प्रमुख प्रदर्शन हैं. यह 09:00 पूर्वाह्न से 01.00 बजे और 01.30 बजे से अपराह्न 04.30 बजे तक खुला रहता है. सभी सरकारी अवकाश और सोमवार को यह बंद रहता है.

कोर्बिन्स कोव बीच
सेलुलर जेल के नज़दीक यह समुद्र तट अपनी प्राकृतिक सौंदर्यता के लिए अण्डमान में सबसे ज्यादा घूमा जाने वाला समुद्र तट है. वॉटर गेम जैसे जेट स्कीइंग, स्कूबा डाइविंग, स्नॉर्कलिंग जैसी गतिविधियां इसे और लोकप्रिय बनाती हैं. यह तट घने पेड़ों से भरा हुआ है. इसे कई रेस्तरां और बार के साथ सजाया गया है. आप अपने दोस्तों के साथ यहां आराम से नारियल पानी पीने का आनंद ले सकते हैं. बैठने के लिए नीले रंग की बेंच आपको यहां आसानी से मिल जायेंगे.

वाइपर आइलैंड
यह आइलैंड एक बढ़िया स्थान है जो अंडमान और निकोबार द्वीप समूह के सबसे महत्वपूर्ण पर्यटन स्थलों में से एक है. यह द्वीप जेल के खंडहरों के लिए प्रसिद्ध है जो सेलुलर जेल से पहले हुआ करती थी. इस जेल का उपयोग पहले राजनीतिक कैदियों को कैद करने के लिए किया जाता था. यहां आप द्वीप पर फांसी के खंडहरों को देख सकते हैं. इस जेल में भारत के कई स्वतंत्रता सेनानियों को कैदी बनाया गया था.

वंदूर बीच
पोर्ट ब्लेयर से 35 किमी पूर्व में स्थित वंदूर बीच अंडमान के लोकप्रिय समुद्री तटों में से एक है जो हर दिन सैकड़ों पर्यटकों को अपनी ओर खींचता है. यह महात्मा गांधी राष्ट्रीय समुद्री पार्क के प्रवेश द्वार के रूप में जाना जाता है. बस द्वारा यहां पहुंचने के लिए एक घंटे लगते हैं.

वन संग्रहालय
वन संग्रहालय सेलुलर जेल से कुछ ही किमी की दूरी पर है. यहां आप गुर्जान, साटन की लकड़ी, मयूर, पादाक, पत्थर आदि देख सकते हैं. यह संग्रहालय सभी कार्य दिवसों (रविवार को छोड़कर) पर सुबह 9 बजे से शाम 5 बजे तक खुला रहता है.

नॉर्थ बे बीच
पोर्ट ब्लेयर के निकट स्थित, यह समुद्र तट जल कोरल के लिए बहुत प्रसिद्ध है. यहां आप स्नॉर्केलिंग और स्कूबा डाइविंग का आनंद ले सकते हैं. सभी प्रकार की सुविधाएं जैसे भोजन, कपड़े के लिए लॉकर, झोपड़ियां आदि यहां उपलब्ध हैं. ज्यादातर यात्री नॉर्थ बे में और अधिक समय के लिए स्नोर्कलिंग और स्कूबा डाइविंग के माध्यम से समुद्र के कोरल का आनंद लेना पसंद करते हैं.

चिड़िया तापू
चिड़िया तापू, जिसे ‘सूर्यास्त प्वाइंट’ और ‘बर्ड आईलैंड’ भी कहा जाता है. यदि आप सूर्यास्त के सुंदर दृश्य को देखना चाहते हैं तो इससे अच्छी जगह कोई और नहीं हो सकती. यह समुद्री तट पोर्ट ब्लेयर से लगभग 18 किमी की दूरी पर स्थित है, जहां जाने में 30 मिनट लगते हैं. यह प्रकृति प्रेमियों के लिए एक आदर्श स्थान है. यह स्थान अपने 46 प्रजातियों के स्थानिक प्रजातियों के लिए भी प्रसिद्ध है. सफेद धब्बेदार हिरण और मौसमी ऑर्किड आपको यहां देखने को मिल जायेंगे.

मुंडा पहाड़ बीच
चिड़िया तापू से कुछ दूरी पर मुंडा पहाड़ बीच है. यहां आपको पक्षियों की विस्तृत प्रजातियां देखने को मिलेंगी. मुंडा पहाड़ इन जीवंत और सुंदर पक्षियों के लिए एक आवास स्थान के रूप में जाना जाता है. यदि आप पक्षियों की तस्वीरें लेने के शौकीन हैं तो यह जगह आपको खास तौर पर पसंद आयेगी.

जॉली बॉय द्वीप
जॉली बॉय द्वीप एक जगह जिसे आप अंडमान की यात्रा पर छोड़ना नहीं चाहेंगे. यह द्वीप वंडुर जेट्टी से 15 मील की दूरी पर है. वंदूर से, आपको जॉली बॉय तक पहुंचने के लिए एक नौका लेनी होगी. इस जगह की पानी की सुंदरता अद्भुत है जहां आपको रंगीन मछलियां और कोरल देखने को मिलेंगे. यहां स्नोर्केलिंग का भी लुत्फ उठाया जा सकता है. यहां जाते समय अतिरिक्त कपड़े लेकर जाना बेहतर होगा. सोमवार को यह बंद रहता है.

माउंट हेरिएट नेशनल पार्क
माउंट हेरिएट नेशनल पार्क की प्राकृतिक सुंदरता बहुत सारे आगंतुकों को अपनी ओर आकर्षित करती है. इसकी स्थापना 1987 में की गई थी. घने जंगल, जंगली फल और पौधों की कई किस्में यहां देखने को मिल जाती हैं. पूर्वी हिस्से पर खुले समुद्री किनारों का लुभावना दृश्य आपके मन को शांति प्रदान करने का काम करता है. यह सुबह 7 बजे से शाम 5 बजे तक खुला रहता है. वयस्कों के लिए यहां 25 रुपये और बच्चों के लिए 10 रुपये का टिकट है.

राधानगर बीच
हेवलॉक द्वीप पर स्थित, राधानगर बीच भारत के सबसे लोकप्रिय समुद्री तटों में से एक है. इस बीच पर कई गतिविधियों का आनंद लिया जा सकता है जैसे स्कूबा डाइविंग, स्नोर्कलिंग, नौकायन, मछली पकड़ना आदि. यह बीच विशेष रूप से जोड़ों के लिए एक लोकप्रिय स्थल है. अगर आप हनीमून के लिए कहीं जाने की सोच रहें हैं तो अंडमान और निकोबार एक अच्छा विकल्प हो सकता है. यहां का शांत वातावरण आपको रोमांस से जोड़ने का काम करता है. यहां हाथियों की सवारी का आनंद भी लिया जा सकता है.

एलीफैंट बीच
हैवलॉक आइलैंड जाने के बाद एलीफेंट बीच का दौरा करना आप बिल्कुल भी छोड़ना नहीं चाहेंगे. यह राधानगर बीच से कुछ ही मिनटों की दूरी पर है. एलीफेंट बीच की सफेद रेत और नीला, हरा पानी लगभग हर यात्री को अपनी ओर आकर्षितकरता है. प्रकाश घर से गुजरने वाले हाथी समुद्र तट पर देखने लायक होते हैं. यहां आप नाव की सवारी का भी आनंद ले सकते हैं.

लक्ष्मणपुर बीच
लक्ष्मणपुर बीच, भरतपुर बीच के नजदीक है. यहां शानदार जैव विविधता, सफेद रेतीले समुद्र तट और उष्णकटिबंधीय वन और वनस्पतियों को देखा जा सकता है. इस द्वीप की गिनती आरामदायक और शांत बीचों में की जाती है. द्वीप का सबसे बड़ा हिस्सा लगभग 5 किमी लंबा है, जिसे आप 2 घंटे में चलकर घूम सकते हैं.

भरतपुर बीच
नील द्वीप से कुछ ही दूरी पर स्थित भरतपुर समुद्र तट अपने प्रवाल भित्तियों और सफेद तटों के लिए प्रसिद्ध है. इन समुद्री तटों का दौरा करने का सबसे अच्छा समय सुबह और शाम के दौरान होता है. यदि आप स्नोर्कलिंग जाना पसंद करते हैं तो सुबह का समय आपके लिए विशेष रूप से अच्छा होगा. यहां आप कोरल रीफ्स के दृश्य का आनंद भी ले सकते हैं. स्थानीय विक्रेताओं से नारियल का पानी लेकर आप आराम करने के लिए बेंच ले सकते हैं.

Photo of अंडमान-निकोबार by shub
Photo of अंडमान-निकोबार by shub
Photo of अंडमान-निकोबार by shub
Photo of अंडमान-निकोबार by shub
Photo of अंडमान-निकोबार by shub
Photo of अंडमान-निकोबार by shub
Photo of अंडमान-निकोबार by shub
Photo of अंडमान-निकोबार by shub
Photo of अंडमान-निकोबार by shub
Photo of अंडमान-निकोबार by shub
Photo of अंडमान-निकोबार by shub
Be the first one to comment