उत्तराखंड की लुभावनी जगह मोइला टॉप, जहाँ से दिखाई देते हैं हिमालय के सबसे सुंदर नजारे

Tripoto
Photo of उत्तराखंड की लुभावनी जगह मोइला टॉप, जहाँ से दिखाई देते हैं हिमालय के सबसे सुंदर नजारे by Rishabh Dev

पहाड़ों की बात ही निराली होती है। जो भी इस जहां पर कदम रखता है, यहीं का होकर रह जाता है। पहाड़ों के नज़ारे और अनुभव हमें ज़िंदगी भर याद रहते हैं। इन्हीं अनुभवों को दोबारा जीने के लिए हम पहाड़ों का रूख करते हैं। उत्तराखंड में कई ऐसी जगहें जहां आप ज़िंदगी की आपाधापी से दूर चले जाते हैं। यहाँ के नज़ारे हमें मदहोश कर देते हैं। मैं आपको एक ऐसी ही जगह के बारे में बताता हूं। उत्तराखंड में पहाड़ों के शानदार और खूबसूरत नज़ारे देखने हों तो आपको इस जगह पर ज़रूर जाना चाहिए। उत्तराखंड की इस शानदार जगह का नाम है, मोइला टॉप।

Photo of उत्तराखंड की लुभावनी जगह मोइला टॉप, जहाँ से दिखाई देते हैं हिमालय के सबसे सुंदर नजारे by Rishabh Dev

उत्तराखंड की ख़ूबसूरती में चार चाँद लगाते हैं यहाँ के बुग्याल। मोइला बुग्याल उत्तराखंड के सबसे फ़ेमस बुग्यालों में से एक है। देहरादून ज़िले के चकराता में स्थित मोइला बुग्याल को मोइला टॉप के नाम से भी जाना जाता है। मोइला टॉप तक पहुँचने के लिए आपको 2-3 घंटे का ट्रेक करना पड़ता है। मोइला बुग्याल का ट्रेक बहुत कठिन नहीं है। अगर आप इस जगह से ट्रेक करने की शुरूआत कर सकते है। इस ट्रेक के दौरान आपको खूबसूरत नज़ारे तो देखने को मिलेंगे ही, इसके अलावा बेहद पुराने मंदिर और बुद्धा गुफा भी देखने को मिलेगी।

कैसे पहुँचे?

अगर आप उत्तराखंड के बाहर से आर रहे हैं तो आपको सबसे पहले राजधानी देहरादून पहुँचना होगा। देहरादून हवाई मार्ग, सड़क मार्ग और रेल मार्ग से पहुँचा जा सकता है। अगर आप पहली बार उत्तराखंड आ रहे हैं तो आपको देहरादून शहर काफ़ी खूबसूरत लगेगा। मंजिल दूर होने के बावजूद इस जगह को देखकर आप ख़ुशी से झूम उठेंगे। इसके बाद शुरू होता है पहाड़ी रास्तों का सफ़र। आपको देहरादून से चकराता पहुँचना होगा। देहरादून से चकराता बस से जाया जा सकता है। इसके अलावा आप गाड़ी बुक करके भी चकराता जा सकते हैं। देहरादून से चकराता लगभग 98 किमी. की दूरी पर है।

चकराता से लोखंडी

मोइला टॉप जाने के लिए आपको लोखंडी गाँव जाना पड़ेगा। चकराता से लोखंडी गाँव 18 किमी. की दूरी पर है। यहाँ तक आप गाड़ी से आराम से पहुँच जाएँगे। लोखंडी गाँव से 3 किमी. की दूरी पर एक और गाँव है, बुधेर। बुधेर में वन विभाग का एक शानदार गेस्ट हाउस है। आप चकराता में रात गुजार सकते हैं या फिर बुधेर पहुंचकर वन विभाग के गेस्ट हाउस में ठहर सकते हैं। देवदार के जंगलों के बीचों बीच बना ये गेस्ट हाउस वाक़ई में बेहद खूबसूरत है। अंग्रेजों के ज़माने के इस गेस्ट में रात बिताने में आपको वाक़ई में आनंद आएगा। ऐसी खूबसूरत जगह पर हर कोई ठहरने के बारे में सोचता है।

मोपला टॉप ट्रेक

बुधेर देवदार के जंगलों के बीचों बीच स्थित हैं। आप आसपास टहलकर इस जंगल की सैर भी कर सकते हैं। प्रकृति से प्रेम करने वालों को इस जगह पर आकर अच्छा लगेगा। बुधेर से ही एक रास्ता मोइला टॉप की ओर जाता है। बुधेर से मोपला टॉप लगभग 3 से 4 किमी. की दूरी पर है। मोइला टॉप का रास्ता बहुत कठिन नहीं है। एकाध जगह खड़ी चढ़ाई ज़रूर है लेकिन आपको ज़्यादा थकान नहीं होगी। जंगल के बीच से होते हुए जाता ये रास्ता काफ़ी सुंदर है। घना जंगल ख़त्म होते ही आपको खूबसूरत घास का मैदान दिखाई देगा। इस नज़ारे को देखकर आपकी सारी थकान छूमंतर हो जाएगी।

ट्रेक के दौरान

मोइला टॉप उत्तराखंड का एक बेहद खूबसूरत बुग्याल है। हरी घास के इस मखमली मैदान को देखने के लिए आपको ज़रूर आना चाहिए। मोइला टॉप के ट्रेक के दौरान आपको एक लेक भी देखने को मिलेगी। अगर आप गर्मियों में जाएँगे तो ये झील पूरी तरह से सूखी मिलेगी। बारिश के बाद इस झील की सुंदरता बढ़ जाती है। मोइला टॉप के पास में ही एक गुफा भी है। इसके भीतर एक लंबा रास्ता गया है जिसमें आप कुछ दूरी तक जा सकते हैं, उसके बाद अंधेरा बढ़ जाता है। इसके अलावा मोइला बुग्याल की सबसे ऊँची जगह पर एक मंदिर है। इसे परी मंदिर कहा जाता है। पहाड़ी शैली में बना ये मंदिर बेहद आकर्षक है।

ये जगहें भी देखें

1- चकराता

चकराता उत्तराखंड के सबसे खूबसूरत हिल स्टेशन में से एक है। समुद्र तल से 2,118 मीटर की ऊँचाई पर स्थित इस हिल स्टेशन को देखने को लिए हर घूमने वाले को आना चाहिए। यहाँ से आपको हिमालय की खूबसूरत रेंज देखने को मिलेगी। भीड़ और शोर शराबा से दूर इस हिल स्टेशन पर आप शांति से कुछ दिन बिता सकते हैं। चकराता को देखे बिना उत्तराखंड को एक्सप्लोर करने की तमन्ना अधूरी रहेगी।

2- टाइगर फ़ॉल

चकराता से लगभग 18 किमी. की दूरी पर एक शानदार वाटरफॉल है, टाइगर फ़ॉल। इस जलप्रपात तक पहुँचने का रास्ता भी बेहद खूबसूरत है। हिमालय की कनासर रेंज में स्थित इस झरने की सुंदरता देखते ही बनती है। बेहद ऊँचाई से गिरते पानी को देखना अपने आप में एक सम्मोहन है। चकराता में आप इन जगहों के अलावा देवबन ट्रेक, विराटखाई और यमुना एडवेंचर पार्क देख सकते हैं।

कब जाएँ?

मोइला टॉप करने का सबसे अच्छा समय है बारिश के बाद और पहले का समय। मानसून के मौसम में पहाड़ और भी ख़तरनाक बन जाते हैं इसलिए बारिश के मौसम में इस ट्रेक को न करें। आप मोइला टॉप को मार्च से मई और नवंबर से फ़रवरी के बीच में कर सकते हैं। इस दौरान आप इस जगह को अच्छी तरह से एक्सप्लोर और कैंपिंग कर सकते हैं।

क्या आपने उत्तराखंड के मोइला टॉप की यात्रा की है? अपने अनुभव को शेयर करने के लिए यहाँ क्लिक करें।

बांग्ला और गुजराती में सफ़रनामे पढ़ने और साझा करने के लिए Tripoto বাংলা और Tripoto ગુજરાતી फॉलो करें।

Tripoto हिंदी के इंस्टाग्राम से जुड़ें और फ़ीचर होने का मौक़ा पाएँ।

More By This Author

Further Reads