MP के जबलपुर की इन 10 टूरिस्ट प्लेसेस पर डालें एक नज़र, होगा मनमोहक नज़ारों का दीदार

Tripoto
19th Apr 2023
Photo of MP के जबलपुर की इन 10 टूरिस्ट प्लेसेस पर डालें एक नज़र, होगा मनमोहक नज़ारों का दीदार by Priya Yadav

पवित्र नर्मदा नदी के तट पर बसा जबलपुर भारत का दिल कहे जाने वाला राज्य मध्य प्रदेश का एक प्रमुख और बहुत ही खूबसूरत शहर है।यह शहर अपनी ऐतिहासिक और प्राकृतिक सौंदर्य के लिए जाना जाता है। यह जगह एक नेचर लवर के किसी किसी खजाने से कम नहीं है। यहां की नदियां,झरने, प्राकृतिक नजारे, और ऐतिहासिक इमारतें हर किसी को अपनी तरफ आकर्षित करती है।इस छोटे से शहर में आपको एक्सप्लोर करने के लिए बहुत कुछ मिलेगा।अगर आपको भी ऐसी किसी जगह की तलाश हैं, जहां आप मौज मस्ती के साथ बेहतरीन समय बिता सके, तो मध्य प्रदेश के जबलपुर की इस इन जगहों पर जरूर जाएं।

Photo of MP के जबलपुर की इन 10 टूरिस्ट प्लेसेस पर डालें एक नज़र, होगा मनमोहक नज़ारों का दीदार by Priya Yadav

जबलपुर के प्रमुख आकर्षक स्थल

1. धुआंधार जलप्रपात

धुआंधार जलप्रपात मुख्य शहर से 30 किमी की दूरी पर स्थित है, जिसे स्मोक कैस्केड के नाम से भी जाना जाता है। 98 फीट की ऊंचाई से जब नर्मदा नदी का जल गिरता है तो चारो ओर पानी का धुआं फैल जाता है,जो देखने में काफी आकर्षक लगता है।इसी के कारण इसे धुंआधार जलप्रपात कहा जाता है।आप यहां इस खूबसूरत वॉटरफॉल का आनंद उठाने के साथ-साथ यहां बोटिंग और केबल कार जैसी एडवेंचर एक्टिविटीज कर सकते हैं। मानसून के समय यह और भी अधिक आकर्षक दिखाई देता है।

2. भेड़ाघाट मार्बल रॉक

यह घाट जबलपुर के मुख्य शहर से 25 किलोमीटर दूर नर्मदा नदी के तट पर स्थित है। यहां के संगमरमर की चट्टानें बहुत ही खूबसूरत और आकर्षक लगती है जोकि 100 फीट ऊंची है और 25 किलोमीटर में फैली हुई है। जबलपुर के मुख्य शहर से आप यहां पर टैक्सी या कार से मात्र 30 से 40 मिनट में पहुंच सकते है।जब सूर्य की रोशनी इन चट्टानों पर पड़ती है यहां का नजारा देखने लायक होता है,नर्मदा के जल के रिफ्लेशन के कारण ये रोशनी अलग अलग रंगो में दिखाई देती है जो बहुत ही आकर्षक लगती है। यहां पर आप बोटिंग भी कर सकते है।

3. बैलेंसिंग रॉक

जबलपुर का बैलेंसिंग रॉक प्रकृति का एक अद्भुत वरदान है।यह दो चट्टानों का बैलेंस का एक अनोखा उदाहरण है।ऊपरी चट्टान निचली चट्टान पर इस तरह संतुलित है कि स्थानीय लोगों का कहना है कि कोई भी प्राकृतिक आपदा आ जाए इन पत्थरों का संतुलन कभी नहीं बिगड़ता। यह रॉक 6.5 रिक्टर पैमाने के भूकंप में भी अपना संतुलन बनाए रखने में कामयाब रहे हैं। जबलपुर से 6 KM की दूरी पर स्थित यह शहर का एक अनूठा नजारा है जो वहां का लोगो के साथ ही साथ पर्यटकों के आकर्षण का केंद्र है।

Photo of MP के जबलपुर की इन 10 टूरिस्ट प्लेसेस पर डालें एक नज़र, होगा मनमोहक नज़ारों का दीदार by Priya Yadav

4. मदन महल

जबलपुर जितना अपने प्रकृतिक नज़रों के लिए जाना जाता है उतना ही अपने ऐतिहासिक विरासत के लिए भी जाना जाता है।यहां स्थित मदन महल का को 1116 ईस्वी में राजा मदन शाह द्वारा निर्मित किया गया था, यह किला मूल रूप से एक सैन्य चौकी और एक पहरेदारी के रूप में कार्य करता था। इस राजसी किले में युद्ध कक्ष, गुप्त मार्ग, अस्तबल और एक छोटा जलाशय है जो इस जगह की स्थापत्य सुंदरता का एक जीवंत उदाहरण स्थापित करता है।

Photo of MP के जबलपुर की इन 10 टूरिस्ट प्लेसेस पर डालें एक नज़र, होगा मनमोहक नज़ारों का दीदार by Priya Yadav

5. घुघरा फॉल्स

अगर आप शहर के भीड़भाड़ से दूर शांत भरे माहौल की तलाश में हैं यह आपके लिए अच्छा विकल्प है । यहां पर नर्मदा नदी की बहती हुई तेज जलधारा एक मनोरम प्राकृतिक दृश्य उत्पन्न करता है, और यहां का शांत माहौल यहां आने वाले पर्यटकों को मंत्रमुग्ध कर देता है। अगर आप एक नेचर लवर है तो आपको यहां जरूर जाना चाहिए।

6. शिव मंदिर कचनार

कचनार का शिव मंदिर जबलपुर के बीचो-बीच स्थित एक दार्शनिक स्थान है।यहां पर भगवान शिव को समर्पित मंदिर स्थापित किया गया है। मंदिर का गर्भ ग्रह एक गुफादार जगह में है, जिसके अंदर भगवान शिव के 12 ज्योतिर्लिंग की स्थापना की गई है।इस मंदिर में भगवान शिव की 76 फीट ऊंची विशालकाय प्रतिमा भी स्थापित की गई हैं। जोकि पर्यटकों को काफी आकर्षित करती है। जबलपुर जाए तो इस सुंदर मंदिर का दर्शन करने जरूर जाएं।

7. चौसठ योगिनी मंदिर

कलचुरियों द्वारा 10वीं शताब्दी में निर्मित चौसठ योगिनी मंदिर देश के सबसे पुराने विरासत स्थलों में से एक है।जैसा कि नाम से पता चलता है।मंदिर में 64 श्राइन हैं जो इसके गोलाकार परिसर की दीवारों के साथ बने हैं, प्रत्येक में एक योगिनी की नक्काशीदार आकृति है, और केंद्र में एक मुख्य मंदिर है जो भगवान शिव और देवी पार्वती को समर्पित है। हालांकि अब ये मंदिर खंडहर में बदल गया है, जिसे 150 सीढ़ियों का सफर तय करने के बाद देखा जा सकता है। जबलपुर आ रहे हैं, और आपकी रुचि इतिहास में है तो इस मंदिर को भी अपनी ट्रैवलिंग लिस्ट में जरूर शामिल करें।

Photo of MP के जबलपुर की इन 10 टूरिस्ट प्लेसेस पर डालें एक नज़र, होगा मनमोहक नज़ारों का दीदार by Priya Yadav

8. डुमना नेचर रिजर्व पार्क

डुमना नेचर रिजर्व पार्क शहर की सीमा के बाहर 1058 हेक्टेयर के क्षेत्र में फैला एक बहुत ही खूबसूरत प्राकृतिक क्षेत्र है।जहां आप क्षेत्र के समृद्ध वनस्पतियों और जीवों का को देख सकते हैं। आप यहां कई साहसिक और मनोरंजक गतिविधियों में शामिल हो सकते हैं, जैसे मछली पकड़ना, पक्षी देखना और प्रकृति की सैर। यहां एक छोटा चिल्ड्रन पार्क है जिसमें बोटिंग की सुविधा और टॉय ट्रेन की सवारी के अलावा एक रेस्तरां और कुछ गेस्ट रिसॉर्ट और कुछ समय रहने के लिए टेंट हाउस हैं।

Photo of MP के जबलपुर की इन 10 टूरिस्ट प्लेसेस पर डालें एक नज़र, होगा मनमोहक नज़ारों का दीदार by Priya Yadav

9. ग्वारीघाटी

जबलपुर में स्थित ग्वारीघाट बहुत ही लोकप्रिय जगह है, जहां पर मां नर्मदा की पूजा अर्चना की जाती है। शाम के समय यहां पर आरती की जाती है। यहां पर एक मंदिर भी है जो पानी में आधा डूबा हुआ है।यदि आप इस जगह को घूमने आना चाहते हैं तो शाम के समय ही आए। क्योंकि शाम के समय यहां का दृश्य बहुत ही ज्यादा मनमोहक हो जाता है। शाम के समय यहां चारों तरफ दिव्य वातावरण का एहसास होता है।

Photo of MP के जबलपुर की इन 10 टूरिस्ट प्लेसेस पर डालें एक नज़र, होगा मनमोहक नज़ारों का दीदार by Priya Yadav

10. पिसनहारी की मढ़िया

जबलपुर में एक पहाड़ी की चोटी पर हरी भरे पेड़ पौधों के बीच स्थित यह मंदिर एक जैन तीर्थ स्थल है। यह मंदिर जैन धर्म के दिगंबर संप्रदाय से संबंधित है, जिसे 500 साल पहले एक बूढ़ी औरत द्वारा बनाया गया था।मंदिर की उत्तम डिजाइन, वास्तुकला और प्रमुख मूर्तियां यहां आने वाले पर्यटकों को आकर्षित करती है, इसी के कारण यह जगह जबलपुर का एक लोकप्रिय पर्यटक स्थल है। यहां के शांत वातावरण में पर्यटक को काफी अच्छा महसूस होता है।

Photo of MP के जबलपुर की इन 10 टूरिस्ट प्लेसेस पर डालें एक नज़र, होगा मनमोहक नज़ारों का दीदार by Priya Yadav

जबलपुर घूमने का सबसे अच्छा समय

जबलपुर मध्य भारत में स्थित है और मध्य-प्रदेश घूमने का सबसे अच्छा समय सितंबर से फरवरी महीने का माना जाता हैं। इस दौरान यहां का तापमान लगभग 8 डिग्री सेल्सियस से 27 डिग्री सेल्सियस तक रहता हैं। हालाकि यहां के धुआंधार जल प्रपात को देखने के लिए मानसून के मौसम में भी पर्यटक भारी संख्या में जाते हैं। क्योंकि मानसून में इसकी खूबसूरती और भी अधिक आकर्षक दिखाई देती है।

जबलपुर के प्रसिद्ध भोजन

जबलपुर शहर बस घूमने के लिए ही नहीं बल्कि अपने कुछ स्वादिष्ट भोजन के लिए भी जाना जाता है। आपको बता दें कि यहां सीक कबाब, साबूदाना की खिचड़ी, मालपुआ, मालपुआ रबड़ी और चिकन समोसा यहां की स्वादिष्ट और फेमस डिश है।तो आप जब भी जबलपुर की यात्रा पर जाएं तो एक बार इन स्वादिस्ट डिस को चखना न भूले।

जबलपुर कैसे पहुंचे?

फ्लाइट से: जबलपुर जाने के लिए सबसे नजदीकी हवाई अड्डा डुमना हवाई अड्डा है जो शहर के केंद्र से लगभग 20 किलोमीटर की दूरी पर स्थित है। यहां से आप टैक्सी या कैब से अपने गंतव्य तक पहुंच सकते है।यह देश प्रमुख शहरो से बहुत अच्छी तरह से जुड़ा हुआ हैं।

ट्रेन से: अगर आप जबलपुर जाने के लिए रेल मार्ग का चुनाव करते है तो आपको बता दे कि जबलपुर रेलवे स्टेशन देश के प्रमुख शहरों से रेलवे लाइन के द्वारा बहुत अच्छी तरह से जुड़ा हुआ है। तो आप ट्रेन के द्वारा भी आपनी यात्रा आसानी से कर सकते हैं।

सड़क मार्ग: भारत के कुछ प्रमुख शहर जैसे कि औरंगाबाद, भोपाल, पुणे इंदौर, नागपुर और बांधवगढ़ से नियमित रूप से बस जबलपुर जाती है। यदि आप इनमें से किसी भी शहर से हैं तो आप बस से भी जबलपुर की यात्रा कर सकते हैं।

क्या आपने हाल में कोई की यात्रा की है? अपने अनुभव को शेयर करने के लिए यहाँ क्लिक करें

बांग्ला और गुजराती में सफ़रनामे पढ़ने और साझा करने के लिए Tripoto বাংলা और Tripoto ગુજરાતી फॉलो करें।