घुमक्कड़ों के लिए खास: सिर्फ नागालैंड में ही मिलेंगे ये 11 अनोखे अनुभव!

Tripoto

भारत की उत्तरपूर्व सीमा पर बसे नागालैंड की एक समृद्ध संस्कृति रही है जिसे लेकर सालों से पर्यटकों में एक उत्सुकता बनी रहती है। यहाँ की आदिवासी संस्कृति पूरी दुनिया में मशहूर है। सालों से ही, कम जानकारी की वजह से नागालैंड में पर्यटकों की संख्या बहुत कम रही है लेकिन हाल के सालों में इसमें काफी बदलाव आ गया है।

अगर आप भी नागालैंड के बारे में जानने के लिए उत्सुक हैं तो यहाँ बेहतरीन चीज़ों की लिस्ट दी जा रही है जो नार्थईस्ट के इस ख़ास राज्य में ही करने को मिलती है।

1. ज़ोकू वैली और जाफु पीक पर ट्रेकिंग करें

मणिपुर और नागालैंड की सीमा से सटे ज़ोकू वैली सालों से ट्रैकर्स और एडवेंचर पसंद लोगों की पसंदीदा जगह रही है। घाटी में 3048 मीटर की दूरी पर जाफु शानदार नज़ारे लिए बैठा है।

विश्वेमा गाँव ट्रेक के लिए बेस कैंप है। यहाँ जाने के लिए आप दीमापुर से शेयर वाली टैक्सी ले सकते हैं। नागालैंड में ट्रेकिंग के लिए बेहतरीन समय जून महीने से सितंबर तक का होता है।

2. सतोई रेंज में कैंपिंग करें

भारत में बचे कुछ ही अछूते जंगलों में से एक सतोई रेंज को नागालैंड में ट्रैकिंग और कैंपिंग के लिए बेस्ट माना जाता है। जुनहेबोटो जिले में स्थित पर्वत शृंखला ब्लाइद ट्रैगोपैन जैसे दुर्लभ पक्षी का घर है, जिसे आप अपनी यात्रा पर यहाँ देख सकते हैं। यहाँ की दुर्लभ रोडोडेंड्रोन इसे अप्रैल और मई महीने में राज्य के सबसे अच्छे स्थानों में एक बनाता है। आप यहाँ पुरानी गुफाओं के अंदर और चट्टानों के बीच कैंपिंग करके एक अनोखा अपनी ज़िंदगी में जोड़ सकते हैं।

3. इनटंकी सैंक्चुरी में कुदरत से मिलें

नागालैंड के पेरेन जिले में इंटंकी वन्यजीव अभ्यारण्य स्थित है। यह सैक्चुरी दीमापुर से 37 कि.मी. और कोहिमा से 111 कि.मी. की दूरी पर है। जहाँ हूलॉक गिब्बन, गोल्डन लंगूर, हॉर्नबिल, पाम सिवेट्स, ब्लैक स्टॉर्क, बाघ, व्हाइट-ब्रेस्टेड किंग्सएयर, मॉनिटर छिपकली, पायथन और स्लॉथ बीयर की दुर्लभ प्रजातियाँ पाई जाती हैं। नवंबर से फरवरी महीने तक का समय यहाँ जाने के लिए सबसे बढ़िया होता है।

4. रंगीन हॉर्नबील फेस्टिवल का आनंद लें

नागालैंड में हर साल दिसंबर के महीने में हॉर्नबील फेस्टिवल का आयोजन किया जाता है। 10 दिनों तक चलने वाले इस फेस्टिवल को ‘त्योहारों का त्योहार’ कहा जाता है। इस त्योहार के माध्यम से यहाँ आने वाले पर्यटकों को नागा संस्कृति को अनुभव करने का बढ़िया मौका मिलता है। इस त्योहार का आयोजन नागा हेरीटेज गाँव किसमा में किया जाता है। हर साल 1-10 दिसंबर तक चलने वाले इस फेस्टिवल में हिस्सा लेने के लिए सभी आदिवासी संप्रदायों के नागा लोग इसी गाँव में जुटते हैं।

5. दो देशों में बटे लोंगवा गाँव की सैर करें

लोंगवा नागालैंड के मोन जिले का सबसे बड़ा शहर है। लोंगवा गाँव मुख्य मोन शहर से 42 कि.मी. की दूरी पर जबकि राज्य के सबसे उत्तरी छोर पर बसा है। लोंगवा गाँव में इंटरनेशनल बॉर्डर ग्राम प्रधान के घर से ही होकर गुज़रता है। गाँव के प्रधान के घर का आधा हिस्सा भारत में है जबकि आधा बर्मा में पड़ता है। ये गाँव भी खुद दो देशों में बंटा हुआ है।

Photo of घुमक्कड़ों के लिए खास: सिर्फ नागालैंड में ही मिलेंगे ये 11 अनोखे अनुभव! 4/7 by Rupesh Kumar Jha
श्रेय: अंशुमान

6. आयोलिंग फेस्टिवल में भाग लें

यहाँ हर साल अप्रैल महीने के पहले सप्ताह में कोनयक नागाओं द्वारा आयोलिंग फेस्टिवल का आयोजन किया जाता है। 6 दिनों तक चलने वाले इस त्योहार के पहले दिन को कोनयक नववर्ष के रूप में मान्यता दी गई है। इस फेस्टिवल में 6 दिनों तक जनजाति सदस्यों द्वारा गाँव के आसपास पशु बलि, डांस, फिस्ट के अलावा सफाई अभियान भी चलाए जाते हैं।

7. नागा जीवनशैली देखने पहुँचें तौफेमा गांव

नागालैंड का तौफेमा गाँव अंगामी संस्कृति व जीवनशैली का खूबसूरत अनुभव देता है। ये गाँव कोहिमा शहर से करीब 41 कि.मी. की दूरी पर है। इस गाँव में जाकर आप चावल से बनी बीयर और बांस पर बने लजीज व्यंजनों का लुत्फ उठा सकते हैं। अगर आप इस गाँव में घूमना चाहते हैं तो उसके लिए सबसे बेस्ट समय अक्टूबर से मई महीने का है। वहीं आप इस गाँव में मनाए जाने वाले पांरपरिक त्योहार अंगामी सेक्रेंनी में हिस्सा लेने के लिए फरवरी में जा सकते हैं।

Photo of घुमक्कड़ों के लिए खास: सिर्फ नागालैंड में ही मिलेंगे ये 11 अनोखे अनुभव! 5/7 by Rupesh Kumar Jha
श्रेय: अंशुमान

9. नागालैंड की नदियों में पकड़ें मछलियाँ

नागालैंड राज्य से कई सारी नदियाँ बहती है, जैसे धनसिरी, दोयांग, दिक्खू व झांजी, यहाँ आप मछली पकड़ने का आनंद ले सकते हैं। यहाँ पास की दुकानों से किराए पर मछली पकड़ने का सामान भी मिलता है।

10. कोहिमा में रोमांचक माउंटेन बाइकिंग

नागालैंड में नेटिव स्टेशन नाम के एक बाइकिंग ग्रुप माउंटेन बाइकिंग कराता है। ये ग्रुप पहले भी पेशेवर राइडर्स के लिए कई सारी माउंटेन बाइकिंग प्रतियोगिताएँ जैसे कोहिमा डाउनहिल और थुवु-नी एंडुरो का आयोजन कर चुका है।

आप भी अपनी मजे़दार यात्राओं का अनुभव यहाँ शेयर कर सकते हैं।

रोज़ाना वॉट्सऐप पर यात्रा की प्रेरणा के लिए 9319591229 पर HI लिखकर भेजें या यहाँ क्लिक करें

ये आर्टिकल अनुवादित है। ओरिजनल आर्टिकल पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करें

Tagged:
#video