मैक्लोडगंज- जगह एक, मंज़िल अनेक

Tripoto
11th Jun 2019


मैक्लोडगंज एक ऐसी खूबसूरत जगह है हिमाचल में जो हर श्रेणी के यात्रियों के समक्ष काफी चर्चित है। मेरे माँ-बाप ने यहाँ चार धाम की यात्रा की तो मेरा कॉलेज के दोस्तों के साथ पहला हिल स्टेशन ट्रिप भी यहीं लगा। ट्रिप से याद आया, कई लोग यहां 'ट्रिप' करने भी आते हैं तो भक्ति की तलाश में दलाई लामा के दर्शन भी यहीं होते है। फिर आते हैं ट्रिप नहीं ट्रेक के शौकीन जो त्रिउंड का ट्रेक करने की इच्छा रखते हैं। अब बताइये एक ही जगह पर इतने प्रकार के पर्यटक आपको कहाँ मिलेंगे।

मेरा मकसद है कुछ शब्दों में आपको मैक्लोडगंज की सैर करवाना। दिल्ली से सफर की शुरुआत कीजिये। आई एस बी टी से आपको हिमाचल टूरिज्म और प्राइवेट, दोनों बसें मिल जाएँगी। बस श्याम को बैठ जाइये और सुबह 7 से 10 के बीच आप मैक्लोडगंज में होंगे।
हसीन मौसम से स्वागत होने का 99 प्रतिशत चांस है।

चलिए बात करते हैं कुछ ऐसे स्थल की जो मैक्लोडगंज को खूबसूरत बनाते हैं:

१. भागसूनाथ झरना: बस स्टॉप से 2-3 किलोमीटर की लगभग दूरी पर है यह छुपा नगीना। एक मिनी ट्रेक के बाद जब आपके ऊपर ठंडे पानी की छींटे पड़ेंगी तो ही आप विश्वास कर पाएंगे मेरी बातों पर। अगर थोड़ा समय और जवानी का जोश है तो शिवा कैफे पर जाकर मैग्गी के मज़े ज़रूर लीजियेगा।

२. दलाई लामा मंदिर (नामग्याल मोनास्ट्री): हिमाचल में बसे इस शहर में तिब्बत के काफी प्रवासी रहते हैं। और उनके मसीहा, भगवान और गुरु दलाई लामा का घर भी यहीँ है। दुनिया के हर कोने से लोग यहाँ बौद्ध धर्म का पाठ करने आते हैं। आपको आस पास काफ़ी सन्यासी दिख जाएंगे जो मोनास्ट्री में काम और सेवा करते हैं। दलाई लामा शायद आपको ना दिख पाएं, पर शांति से आप रूबरू ज़रूर हो जाएंगे। इस बादलों के बीच बसे हुए मंदिर में आपको एहसास होगा कि शायद जन्नत का रास्ता यहीं से शुरू होता है।

३. त्रिउंड ट्रेक: 7 किलोमीटर का यह मदहोश कर देने वाला ट्रेक आपको बिन नशे ट्रांस में पहुँचाने में सफल होगा। मेरे गैरन्टी है। आना जाना 14 किलोमीटर जिसके लिए आपको एक पूरा दिन तो निकलना पड़ेगा। सफर का आग़ाज़ जितनी जल्दी करेंगे उतना बहतर। आपके पास पहाड़ी पर ऊपर टेंट में कैम्प करने का भी ऑप्शन है जिसके बारे में आप पक्का सोचेंगे ऊपर का नज़ारा देखकर। और रास्ते में आने वाले नज़ारों को भी कम मत समझना। बस कम्फ़र्टेबल जूते पहन कर प्रकृती की खूबसूरती के और करीब चले जाना।

4. धर्मशाला क्रिकेट मैदान: यहीं पहुंच कर आपको शायद थोड़ा बुरा लगेगा कि आपने क्रिकेट को अपना कैरियर क्यों नहीं बनाया। बर्फीले पहाड़ों से घिरा यह मैदान एक खिलाड़ी के लिए वरदान है। आप तो बस 45 रुपये देकर इस नज़ारे का मज़ा उठा सकते हैं। धर्मशाला, मैक्लोडगंज से 10 किलोमीटर पहले आता है पहाड़ी उतर कर, यहाँ जाने के लिए आपको बस, टैक्सी का सहारा लेना पड़ेगा।

५. खाना-पीना: अब इतना सफर करके भूख लगना तो लाजिमी है। मैक्लोडगंज आपको बहुत विकल्प देगा। हर तरीके के यात्री के लिए हर तरीके का खाना। पंजाब के पास होने की वजह से बटर चिकन और परांठे भी आपको उतने ही अच्छे मिलेंगे जितने के स्टीम मोमोज़। मकलोड, स्नो लायन कैफे और कॉमन ग्राउंड कैफे का काफी नाम है, उनके लाजवाब स्वाद और सर्विस की वजह से।

बाकी आप समझदार पर्यटक हैं, मुझे पता है आप भी वहाँ जाकर ना सिर्फ वादियों का आनन्द उठाएंगे पर उस जगह की शांति और खूबसूरती को बनाये रखने में साथ निभाएंगे। कचरा और प्लास्टिक को सही से डिस्पोज़ ज़रूर करना दोस्तों। में शिवानी रावत आप को ऐसे ही और ट्रिप्स की जानकारी पहुँचाती रहूँगी।

भागसूनाथ

Photo of मैक्लोडगंज- जगह एक, मंज़िल अनेक by Shivani Rawat
Photo of मैक्लोडगंज- जगह एक, मंज़िल अनेक by Shivani Rawat

स्टाइल

Photo of मैक्लोडगंज- जगह एक, मंज़िल अनेक by Shivani Rawat
Photo of मैक्लोडगंज- जगह एक, मंज़िल अनेक by Shivani Rawat
Photo of मैक्लोडगंज- जगह एक, मंज़िल अनेक by Shivani Rawat
Photo of मैक्लोडगंज- जगह एक, मंज़िल अनेक by Shivani Rawat

चिल्लिंग

Photo of मैक्लोडगंज- जगह एक, मंज़िल अनेक by Shivani Rawat
Photo of मैक्लोडगंज- जगह एक, मंज़िल अनेक by Shivani Rawat
Photo of मैक्लोडगंज- जगह एक, मंज़िल अनेक by Shivani Rawat
Photo of मैक्लोडगंज- जगह एक, मंज़िल अनेक by Shivani Rawat
Photo of मैक्लोडगंज- जगह एक, मंज़िल अनेक by Shivani Rawat
Photo of मैक्लोडगंज- जगह एक, मंज़िल अनेक by Shivani Rawat
Photo of मैक्लोडगंज- जगह एक, मंज़िल अनेक by Shivani Rawat

त्रिउंड ट्रेक के बाद आराम

Photo of मैक्लोडगंज- जगह एक, मंज़िल अनेक by Shivani Rawat
Photo of मैक्लोडगंज- जगह एक, मंज़िल अनेक by Shivani Rawat

प्रकृति की खुशी

Photo of मैक्लोडगंज- जगह एक, मंज़िल अनेक by Shivani Rawat
Photo of मैक्लोडगंज- जगह एक, मंज़िल अनेक by Shivani Rawat

मोमोज़ज़्ज़ज़्ज़

Photo of मैक्लोडगंज- जगह एक, मंज़िल अनेक by Shivani Rawat
Photo of मैक्लोडगंज- जगह एक, मंज़िल अनेक by Shivani Rawat

बज़ार

Photo of मैक्लोडगंज- जगह एक, मंज़िल अनेक by Shivani Rawat

पापा के साथ

Photo of मैक्लोडगंज- जगह एक, मंज़िल अनेक by Shivani Rawat
Photo of मैक्लोडगंज- जगह एक, मंज़िल अनेक by Shivani Rawat
Photo of मैक्लोडगंज- जगह एक, मंज़िल अनेक by Shivani Rawat
Photo of मैक्लोडगंज- जगह एक, मंज़िल अनेक by Shivani Rawat
Be the first one to comment