क्यों हर किसी को अपने बेस्ट फ्रेंड के साथ सफर ज़रूर करना चाहिए!

Tripoto
Photo of क्यों हर किसी को अपने बेस्ट फ्रेंड के साथ सफर ज़रूर करना चाहिए! by Shivani Rawat

दुनिया में आने के बाद कई रिश्ते बनते हैं। कुछ आपको विरासत में दिए जाते हैं और कुछ आप खुद बनाते हो। यह रिश्ते जो आप खुद बनाते हो, इसमें बहुत एक्सपेरिमेंट होते हैं। अलग अलग तरीके लोगों के साथ उठना बैठना, उनको करीब से जानना। कई बार यह रिश्ते निभाना आप को पूरी तरह से दिमागी और शारीरिक तौर पर थका देता है। पर एक रिश्ता है जो इस थकान को दूर करने के लिए बनाया गया है, वो है बेस्ट फ्रेंड का।

बेस्ट फ्रेंड ढूँढ़ना लाइफ पार्टनर ढूँढ़ने से काम नहीं, वही शिद्दत और लगन से आपको रिश्ता निभाना पड़ता है। दोनों साइड को एक दूसरे की अच्छी बातों के साथ बुरी बातें भी अपनानी पड़ती है पर एक ट्रैवल ही तो है जो एक फ्रेंड को बेस्ट फ्रेंड बनाता है। मेरा और श्रीति का रिश्ता भी कुछ ऐसे ही आगे बढ़ा। मैं निफ्ट दिल्ली की फैशन ग्रेजुएट और श्रीति बेंगलुरु से इंजीनियर जो असल में बिहार से है। जैसा कि हर दोस्ती में आपने देखा होगा, पहली बार मिलने पर ना कोई ताल, ना कोई मेल पर जिसे कहते हैं ना जोड़ियाँ तो रब बनाता है, वैसा ही कुछ रब ने हमारे लिए लिखा हुआ था। उसका माध्यम था ट्रैवल; ट्रैवल हमें जिस तरीके से करीब लेकर आया उसके बारे में मैं आज बात करुँगी। आइये मेरे और श्रीति की दोस्ती की दास्ताँ मैं आप सब को सुनाती हूँ और कुछ वजह बताती हूँ अपने बेस्ट फ्रेंड के साथ ट्रैवल करने के लिए:

1. एक दूसरे को और बेहतर जानने का समय

आज की व्हाट्सऐप और स्नैपचैट वाली दुनिया में एक ट्रैवल ही तो है जहाँ आप अपने ट्रैवल पार्टनर के साथ आराम से बात कर पाते हो। जैसलमेर में तारों के नीचे थार रेगिस्तान में रात गुज़ारते हुए हमने शायद 7 घंटे तक सिर्फ बातें करी। मेरी जैसी इंट्रोवर्ट के लिए तो यह रिकॉर्ड है। मेरा यकीन मानिए उनको करीब से जानने का ट्रैवल से अच्छा आपको और मौका नहीं मिलेगा । उनकी गन्दी और अच्छी दोनों साइड आपको बखूबी दिखेंगी। 

Photo of क्यों हर किसी को अपने बेस्ट फ्रेंड के साथ सफर ज़रूर करना चाहिए! 1/3 by Shivani Rawat

2. प्लानिंग की एक्साइटमेन्ट

ट्रैवल करने से पहले की जो प्लानिंग करने का मज़ा बेस्ट फ्रेंड के साथ है वो किसी और के साथ नहीं। अपनी फेवरेट लोकेशंस के स्क्रीनशॉट्स भेजना, वीडियो कॉल पर शॉपिंग करना और एक दूसरे की मम्मी पापा से बात करके माहौल को थोड़ा ठंडा करना। पैकिंग से लेकर अनुसूची तक, एक्ससाइटमेंट इतनी कि एक एक बात में इतना मज़ा है, आपको भी ट्राई करना चाहिए।

Photo of क्यों हर किसी को अपने बेस्ट फ्रेंड के साथ सफर ज़रूर करना चाहिए! 2/3 by Shivani Rawat

3. लम्बी यात्रा में बोरियत की जगह नहीं

माँ बाप के साथ कभी-कभी 10 घंटो का सफर भी लम्बा लगता है क्योंकि उनका अपना एक तौर तरीका है जिसे वो फॉलो करते हैं। बेस्ट फ्रेंड के साथ आपको सबसे लम्बा सफर भी आसान लगेगा क्योंकि बातों और मस्ती के बीच टाइम का पता ही नहीं लगेगा। एक बार श्रीति और मुझे बस से मुंबई से हम्पी पहुँचने में 20 घंटे लग गए , पर खाते पीते, गाने सुनते और एक दूसरे के कंधो पर खर्राटे मारते हुए वक़्त कैसे काट गया पता ही नहीं चला।

Photo of क्यों हर किसी को अपने बेस्ट फ्रेंड के साथ सफर ज़रूर करना चाहिए! 3/3 by Shivani Rawat

4. एडवेंचर की कोई सीमा नहीं

बेस्ट फ्रेंड आपको जज नहीं करते। और अगर एडवेंचर करना हो तो बेस्ट फ्रेंड आपको ख़ुशी ख़ुशी मुश्किल में धकेल देते हैं। पर थोड़ा कमीनापन और मस्ती तो चलती है। ऐसे ही मस्ती में मैं श्रीति को हम्पी में रॉक क्लाइम्बिंग ले गयी जहाँ अगले 6 घंटे के लिए उसकी ज़िन्दगी दुश्वार हो गयी पर आखिर में उस चट्टान पर बैठकर सूर्यास्त देखने के बाद उसने मुझे थैंक यू कहा।

Photo of क्यों हर किसी को अपने बेस्ट फ्रेंड के साथ सफर ज़रूर करना चाहिए! by Shivani Rawat
Photo of क्यों हर किसी को अपने बेस्ट फ्रेंड के साथ सफर ज़रूर करना चाहिए! by Shivani Rawat
Photo of क्यों हर किसी को अपने बेस्ट फ्रेंड के साथ सफर ज़रूर करना चाहिए! by Shivani Rawat

5. बेस्ट फ्रेंड आपका बेस्ट पोज़ जानता है

आप घंटो तक बिना किसी से एहसान माँगते हुए एक दूसरे की फोटोज़ ले सकते हैं। एक बेस्ट फ्रेंड ही समझता है आपकी अगली डी पी की कीमत तो इसी के लिए वो पूरी मेहनत करता कि आपकी फोटोज़ पर लाइक्स कि बौछार हो और आप दोनों का सोशल मीडिया रोक्किंग रहे। यही आप किसी आम दोस्त के साथ जाइये, वो फॉर्मेलिटी में आपकी 5 फोटो खींच कर साइड हो जायेगा। गोवा में हमने शायद 3000 फोटो खींच कर एक पर्सनल रिकॉर्ड बना दिया था।

Photo of क्यों हर किसी को अपने बेस्ट फ्रेंड के साथ सफर ज़रूर करना चाहिए! by Shivani Rawat

6. बजट की नो टेंशन

बेस्ट फ्रेंड के साथ आप उस कम्फर्ट लेवल पर पहुँच चुके हो जहाँ आपको खर्चे की फ़िक्र करने कि ज़रूरत नहीं। बड़े ग्रुप्स में यही टेंशन रहती है कि कौन ज़्यादा ड्रिंक्स पी रहा है तो कौन फालतू में पैसे उड़ा रहा है। इन सब के साथ आपको डील नहीं करना पड़ता जब आप एक दूसरे को अच्छे से पहचानते है और ट्रस्ट करते है। इससे हॉलिडे का एक्सपीरियंस और अच्छा हो जाता है।

चाहे हम्पी के मंदिर हो या गोवा के बीच, श्रीति और मैंने हमारे ट्रैवल कि वजह से काफी कुछ पाया है। और सबसे अहम चीज़ है हमारी दोस्ती। आज वो अमेरिका में है पर इन लम्हों को याद करके और आप सबसे शेयर करते हुए बस यही कहना चाहूँगी कि अपने बेस्ट फ्रेंड के साथ घूमने का कोई भी मौका ना छोड़ें। शायद ही कोई अनुभव इस से बेहतर होता है, मैं दुआ करती हूँ कि मैं जल्द ही श्रीति के साथ ट्रैवल कर पाऊँ। 

आप अपने बेस्ट फ्रेंड के साथ आखिरी बार यात्रा करने कहाँ गए थे? हमें कॉमेंट में बताएँ और अपना अनुभव लिखने के लिए यहाँ क्लिक करें।

रोज़ाना वॉट्सऐप पर यात्रा की प्रेरणा के लिए 9599147110 पर HI लिखकर भेजें या यहाँ क्लिक करें।

Photo of क्यों हर किसी को अपने बेस्ट फ्रेंड के साथ सफर ज़रूर करना चाहिए! by Shivani Rawat
Be the first one to comment