उत्तराखंड के 7 छिपे हुए हरे-भरे बुग्याल, इन जगहों पर देखने को मिलेंगे पहाड़ों के लुभावने नजारे

Tripoto
Photo of उत्तराखंड के 7 छिपे हुए हरे-भरे बुग्याल, इन जगहों पर देखने को मिलेंगे पहाड़ों के लुभावने नजारे by Rishabh Dev

उत्तराखंड सबसे ज्यादा घूमे जाने वाले राज्यों में से एक है। इसके बावजूद यहाँ इतना कुछ है जो अब तक देखा नहीं गया है। उत्तराखंड के हिमालयी क्षेत्रों में 3 हजार मीटर की ज्यादा ऊँचाई पर आपको बुग्याल देखने को मिलेंगे। बुग्याल हरे-भरे घास के मैदान होते हैं जिनको अल्पाइन चारागह भी कहा जाता है। मवेशियों के चरने के लिए ये बुग्याल शानदार जगह होती है। उत्तराखंड में ऐसे ही बहुत सारे खूबसूरत बुग्याल हैं जिनको देखने के लिए आपको यात्रा करनी चाहिए।

उत्तराखंड के बेहद सुंदर बुग्याल:

1- बेदनी बुग्याल

उत्तराखंड के चमोली जिले में रूपकुंड मार्ग पर बेदनी बुग्याल है। बेदनी बुग्याल उत्तराखंड का सबसे बड़ा बुग्याल है। ऐसा माना जाता है कि वेदों की रचना यहीं पर हुई थी। बेदनी बुग्याल समुद्र तल से 13,000 फीट की ऊँचाई पर स्थित है। इस बुग्याल तक पहुंचने के लिए आपको 13 किमी. का लंबा ट्रेक करना पड़ेगा। यहाँ पर खूबसूरत बेदिनी कुंड भी है जिसे आप देख सकते हैं।

2- चोपता बुग्याल

चोपता बुग्याल को गढ़वाल का स्विट्जरलैंड भी कहा जाता है। उत्तराखंड के सबसे खूबसूरत बुग्यालों में से एक चोपता बुग्याल रुद्रप्रयाय जिले में है। चोपता बुग्याल समुद्र तल से 9,515 फीट की ऊँचाई पर स्थित है। दूर-दूर तक फैला ये बुग्याल बेहद सुंदर है। इसकी खूबसूरती देखकर आपक मोहित हो जाएंगे। इस घास के मैदान को देखकर लगता है कि किसी ने हरी मखमली चादर बिछा दी है। इस बुग्याल को देखने के लिए आपको तुंगनाथ का ट्रेक करना पड़ेगा।

3- दयारा बुग्याल

उत्तराखंड के उत्तरकाशी जिले में एक खूबसूरत बुग्याल है, दयारा बुग्याल। दयारा बुग्याल 10 किमी. लंबा और 5 किमी. चौड़ा है। दयारा बुग्याल समुद्र तल से 3,048 मीटर की ऊँचाई पर स्थित है। दयारा बुग्याल तक पहुंचने के लिए आपको बरसू गाँव से 8 किमी. का ट्रेक करना पड़ता है। इस बुग्याल से आपको बेहद खूबसूरत नजारे देखने को मिलेंगे। आपको एक दयारा बुग्याल जरूर आना चाहिए।

4- औली बुग्याल

औली बुग्याल उत्तराखंड के चमोली जिले में स्थित है। स्वर्ग से दिखने वाला औली बुग्याल समुद्र तल से 10,010 फीट की ऊँचाई पर स्थित है। औली बुग्याल ओक और देवदार के पेड़ों से घिरा हुआ है। ये मखमली घास का मैदान आपको दीवाना बना देगी। औली से आपको नंदा देवी पर्वत, कामेट चोटी समेत कई पर्वतों को देखना का मौका मिलता है।

5- कुश कल्यान बुग्याल

Photo of उत्तराखंड के 7 छिपे हुए हरे-भरे बुग्याल, इन जगहों पर देखने को मिलेंगे पहाड़ों के लुभावने नजारे by Rishabh Dev

उत्तराखंड में यह शानदार बुग्याल गंगोत्री और केदारनाथ के रास्ते में बेलक शहर के पास है। इस बुग्याल तक जाने के लिए आपको खतलिंग सहस्त्र ताल तक का ट्रेक करना पड़ेगा। ये ट्रेक उत्तरकाशी के मल्ला से शुरू होता है। कुश कल्यान के बुग्याल देखकर आपका दिल हो खुश हो जाएगा। आप यहाँ बार-बार आना चाहेंगे। कुश कल्याण बुग्याल समुद्र तल से 13,500 फीट की ऊँचाई पर स्थित है और 25 किलोमीटर वर्ग क्षेत्र में फैला हुआ है।

6- पांवली काठा बुग्याल

उत्तराखंड के टिहरी जिले में एक बेहद खूबसूरत बुग्याल है, पांवली काठा बुग्याल। ये बुग्याल उत्तराखंड के सबसे बड़े बुग्यालों में से एक है। टिहरी से घनसाली होते हुए घुत्तू से 18 किमी. की चढ़ाई के बाद आप इस लुभावने बुग्याल तक पहुंचते हैं। पांवली काठा बुग्याल से प्रकृति की नैसर्गिक सौंदर्यता आपको देखने को मिलेगी। आपको इस बुग्याल को देखने का प्लान जल्द बना लेना चाहिए।

7- केदारकंठा बुग्याल

Photo of उत्तराखंड के 7 छिपे हुए हरे-भरे बुग्याल, इन जगहों पर देखने को मिलेंगे पहाड़ों के लुभावने नजारे by Rishabh Dev

केदारकंठा को वैसे तो सर्दियों में बर्फ वाले ट्रेक के लिए जाना जाता है लेकिन गर्मियों में आप यहाँ हरे-भरे बुग्याल का दीदार भी कर सकते हैं। केदारकंठा बुग्याल उत्तरकाशी जिले में स्थित है और समुद्र तल से 12,500 फीट की ऊँचाई पर स्थित है। इतनी ऊँचाई से आपको बेहद प्यारे-प्यारे नजारे देखने को मिलेंगे। इस बुग्याल तक जाने के लिए आपको सांकरी गाँव से ट्रेक करना पड़ेगा। अगर आपको बुग्याल की खूबसूरती देखनी है तो एक बार यहाँ जरूर आएं।

क्या आपने उत्तराखंड के इन बुग्यालों की यात्रा की है? अपने अनुभव को शेयर करने के लिए यहाँ क्लिक करें।

बांग्ला और गुजराती में सफ़रनामे पढ़ने और साझा करने के लिए Tripoto বাংলা और Tripoto ગુજરાતી फॉलो करें।

रोज़ाना टेलीग्राम पर यात्रा की प्रेरणा के लिए यहाँ क्लिक करें।

More By This Author

Further Reads