हम्पी मे शिलास्तंभ ध्वस्त करते उपद्रवियों की वीडियो दीर्घकालीन पर्यटन की ज़रूरत दर्शाती है

Tripoto
Photo of हम्पी मे शिलास्तंभ ध्वस्त करते उपद्रवियों की वीडियो दीर्घकालीन पर्यटन की ज़रूरत दर्शाती है 1/4 by लफंगा परिंदा

कुछ असामाजिक तत्वों द्वारा हम्पी के मंदिरों को नुकसान पहुँचाने वाली वीडियो इंटरनेट पर फैल चुकी है | वीडियो देख कर पूरा देश आक्रोशित है | वीडियो में कुछ उद्दंड लोग यूनेस्को द्वारा विश्व धरोहर घोषित की गयी हम्पी के प्राचीन पत्थर के स्तंभों को ध्वस्त करते दिख रहे हैं |

यहाँ के स्थानीय निवासी वीडियो में मंदिर ध्वस्त कर रहे उपद्रवी लोगों पर कार्यवाही करने की माँग कर रहे हैं |

कुछ ही हफ्ते पहले हम्पी को न्यू यॉर्क टाइम्स की 2019 में ज़रूर घूमी जाने वाली जगहों की सूची में दूसरे स्थान पर रखा गया था | इस कुकृत्य की जमकर भर्त्सना होनी चाहिए वो भी आज के समय में जब पूरा देश अपनी सांस्कृतिक धरोहरों को सहेजने में तो लगा ही हुआ है साथ ही इन्हें विश्व स्तर पर स्थान भी दिलवा रहा है |

अधिकारियों ने इस पूरे मामले की छानबीन करने और इस शर्मनाक घटना को अंजाम देने वाले असामाजिक तत्वों के खिलाफ कार्यवाही करने का आश्वासन दिया है |

हम्पी : सांस्कृतिक रत्न

Photo of हम्पी मे शिलास्तंभ ध्वस्त करते उपद्रवियों की वीडियो दीर्घकालीन पर्यटन की ज़रूरत दर्शाती है 2/4 by लफंगा परिंदा

कर्नाटक के हॉस्पेट कस्बे में स्थित यूनेस्को द्वारा विश्व धरोहर घोषित की गयी हम्पी के खंडहर आज भी बेहद खूबसूरत हैं | इस जगह पर 26 वर्ग किमी के दायरे में पहाड़ियों पर बड़े बड़े पत्थर भी हैं और मैदान भी हैं | 500 से भी ज़्यादा स्मारक और अन्य आकर्षण जैसे पहाड़ियाँ और घाटियाँ हम्पी को सांस्कृतिक और भौगोलिक रूप से और भी संपन्न बनाते हैं |

महलों के अवशेष, शानदार मंदिर, बाज़ारों की प्राचीन गलियाँ, इमारतें जो कभी खजानाघर हुआ करती थीं, जलीय संरचनाओं के अवशेष, शाही मंडप, किले, शाही मंच और बहुत कुछ हम्पी के आकर्षण हैं | हम्पी बैकपैकर के लिए चहेती जगह और श्रद्धालुओं के लिए स्वर्ग से कम नहीं है | हम्पी वाकयी में बेहद दिलचस्प और शानदार जगह है |

हम्पी विश्व में प्रशंसा का पात्र बना है

अपने प्राचीन स्मारकों, चट्टानों की संरचनाओं और तुन्गभद्रा नदी के किनारे अतुलनीय नज़ारों की वजह से हम्पी को न्यू यॉर्क टाइम्स की 2019 में ज़रूर घूमी जाने वाली जगहों की सूची में दूसरा स्थान मिला था |

एनवाइटी लिखता है :

"सैलानी हम्पी में अभी हाल ही में फिर से विकसित किए हुए इवोल्व बैक कमालपुरा पैलेस में ठहर सकते हैं या अल्टीमेट ट्रॅवेलिंग कैंप के न्यू किश्किन्दा कैंप में भी ठहर सकते हैं जिसने हाल ही दिसंबर में 10 नये और भव्य टेंट शामिल किए हैं | आउटफ़िटर्स ब्लैक टोमेटो और रिमोट लैंड्स इस इलाक़े में पुरातात्विक पर्यटन से लेकर रॉक क्लाइम्बिंग एवं टोकरीनुमा नावों में नदी की सैर कराने जैसी गतिविधियाँ करवाता है |"

इस सूची के शीर्ष पर पुएर्टो रीको है जिसने मारिया नामक तूफान से हुई तबाही से अपने आप को ज़बरदस्त रूप से उबार लिया है और फिर से एक लोकप्रिय पर्यटन स्थल के रूप में सामने आया है |

हेरिटेज स्थलों को महत्व देने की आवश्यकता

आने वाली पीढ़ियों के लिए अपनी विरासत का संरक्षण करना स्थानीय लोगों और सैलानियों की ज़िम्मेदारी है | ऐतिहासिक धरोहरों का पुरानी होने के कारण महत्व कम नहीं होता बल्कि हर समाज के लिए ये बहुत महत्व रखती हैं | ये धरोहरें ना केवल प्राचीन काल के बारे में कई कहानियाँ बयान करती हैं अपितु आने वाले भविष्य के लिए सीख भी देती हैं | आज की पीढ़ी के लिए ये ऐतिहासिक धरोहरें गौरवशाली तो है ही साथ ही आने वाली पीढ़ियों के लिए प्रेरणा का स्त्रोत भी है | ये स्मारक हमारे अतीत और पूर्वजों के साथ हमारा वास्तविक व स्पष्ट संबंध स्थापित करती हैं।

इन जगहों पर घूमने जाने वाले सैलानियों को को इनकी सुरक्षा की ज़िम्मेदारी उठानी होगी | इन स्थानों के बिना सैलानी जाएँगे भी कहाँ !

स्थानीय सैलानियों द्वारा हम्पी के मंदिरों के अवशेषों को ध्वस्त करने की वीडियो यहाँ देखें |

अपने साथी सैलानियों को हमारी धरोहरों का संरक्षण करने की प्रेरणा देना याद रखें | अपनी यात्रा की कहानियाँ ट्रिपोटो परिवार के साथ यहाँ बाँटें |

यह आर्टिकल अनुवादित है | ओरिजिनल आर्टिकल पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करें |

2 Comment(s)
Sort by:
It's very disheartening to see the young generation of India doing this....Aese young Indians hoge to kese aage badhega India?
Mon 02 04 19, 11:07 · Reply · Report
Why the hell is nobody guarding that place!! Logo ko toh waise bhi kuch samjh nhi aana kuch bhi kena bekaar h!!
Sun 02 03 19, 21:53 · Reply · Report
Tagged:
#video