IRCTC "श्री रामायण यात्रा ट्रेन" के जरिए रामायण काल से जुड़े भारत के 8 राज्यों की कराएगा सैर

Tripoto
7th May 2022
Photo of IRCTC "श्री रामायण यात्रा ट्रेन" के जरिए रामायण काल से जुड़े भारत के 8 राज्यों की कराएगा सैर by Sachin walia
Day 1

अगर आप भी श्री राम से जुड़े धार्मिक स्थलों पर घूमना चाहते हैं तो रेलवे आपके लिए एक सुनहरा मौका लेकर आया है। यह रेलवे द्वारा चलाई जाने वाली पहली भारत गौरव टूरिस्ट ट्रेन है। इस ट्रेन का संचालन इंडियन रेलवे कैटरिंग एंड टूरिज्म कॉरपोरेशन (IRCTC) द्वारा किया जा रहा है।

राम जानकी मन्दिर नेपाल

Photo of IRCTC "श्री रामायण यात्रा ट्रेन" के जरिए रामायण काल से जुड़े भारत के 8 राज्यों की कराएगा सैर by Sachin walia

श्री रामायण यात्रा ट्रेन

Photo of IRCTC "श्री रामायण यात्रा ट्रेन" के जरिए रामायण काल से जुड़े भारत के 8 राज्यों की कराएगा सैर by Sachin walia

यह देश की पहली ऐसी ट्रेन है जो दो देशों को जोड़ने का काम करेगी। यह भारत से चलकर हमारे पड़ोसी देश नेपाल भी जाएगी। यात्रियों को ट्रेन के जरिए माता सीता के जन्म स्थान जनकपुर जाने का मौका मिलेगा। बता दें कि जनकपुर में विश्व प्रसिद्ध राम जानकी मंदिर है।

इस ट्रेन से इन जगहों में घूमने का मिलेगा मौका

यह ट्रेन 8000 किलोमीटर का सफर तय करेगी। इस सफर के दौरान यह ट्रेन भारत के 8 राज्यों को कवर करेगी। साथ ही यह भारत के साथ-साथ नेपाल घूमने का भी मौका देगी। भारत के 8 राज्यों में उत्तर प्रदेश बिहार, मध्य प्रदेश, महाराष्ट्र, कर्नाटक, तमिलनाडु, आंध्र प्रदेश में घूमने का मौका मिलेगा।

रास्तों में आने बाले मंदिरों के दर्शन

गंगा आरती दर्शन

Photo of IRCTC "श्री रामायण यात्रा ट्रेन" के जरिए रामायण काल से जुड़े भारत के 8 राज्यों की कराएगा सैर by Sachin walia

मन्दिर दर्शन की शुरुआत यूपी के अयोध्या के श्री राम जन्मभूमि मंदिर, हनुमान गढ़ी,भरत हनुमान मंदिर, भरत कुंड और सरयू घाट जाएंगे। इसके बाद नेपाल के जनकपुर में श्री राम जानकी मंदिर। इसके बाद बिहार के सीतामढ़ी में आपको जानकी मंदिर और पुराना धाम घूमने का मौका मिलेगा। इसके आगे बक्‍सर में आप राम रेखा घाट, रामेश्वर नाथ मंदिर, वाराणसी का संकटमोचन मंदिर, तुलसी मानस मंदिर, भारद्वाज आश्रम, हनुमान मंदिर और विश्वनाथ मंदिर घूमने का मौका मिलेगा और वहां की गंगा आरती देखने का सौभाग्य प्राप्त होगा।

इसके बाद  प्रयागराज सीतामढ़ी, भारद्वाज आश्रम, गंगा-यमुना संगम  और  हनुमान मंदिर के श्रद्धालु दर्शन करेंगे। इसके बाद आप श्रृंगवेरपुर में रामचौरा, श्रिंगी ऋषि आश्रम और रामघाट जाएंगे। इसके बाद ट्रेन चित्रकूट जाएगी जहां आपको  सती अनुसुइया मंदिर, गुप्त गोदावरी और रामघाट के दर्शन करने का अवसर मिलेगा।

आप हंपी अनजानद्री पहाड़ी और विरुपक्षा मंदिर के दर्शन करेंगे। आपको रामेश्वरम रामनाथस्वामी मंदिर और धनुषकोडी घूमेंगे। इसके बाद कांचीपुरम विष्णु कांची, शिवा कांची और कामाक्षी अम्मान मंदिर के दर्शन श्रद्धालु करेंगे। आखिर में आप भद्राचलम में श्री सीताराम स्वामी मंदिर और अंजनी स्वामी मंदिर के दर्शन करेंगे।

यात्रा की समयसारिणी
यह पूरी यात्रा 8000 किलोमीटर की है।
यात्रा दिल्ली के सफदरजंग रेलवे स्टेशन से 21 जून को शुरू होगी।
इसके बाद यह यात्रा 18 दिनों तक चलेगी।
इसमें यात्रियों को थर्ड एसी में ट्रैवल करने का मौका मिलेगा।
इस ट्रेन में 600 यात्री ट्रैवल करेंगे।
ट्रेन में पैंट्री कार की भी सुविधा मिलेगी।
ट्रेन में गार्ड भी मौजूद होंगे जो यात्रियों की सुरक्षा के लिए तैनात किए जाएंगे।
इस ट्रेन की बुकिंग आप IRCTC की ऑफिशियल वेबसाइट पर करवा सकते हैं।
यात्रा के लिए आपको 62, 370 प्रति व्यक्ति देना होगा।