कश्मीर का वो छिपा और खूबसूरत नगीना जिसके बारे में कश्मीरियों को भी नहीं पता

Tripoto
Photo of कश्मीर का वो छिपा और खूबसूरत नगीना जिसके बारे में कश्मीरियों को भी नहीं पता by Musafir Rishabh

कश्मीर जन्नत है और यहाँ जाना हर किसी की हसरत होती है। मगर जब हम कश्मीर जाते हैं तो श्रीनगर और गुलमर्ग में ही सिमटकर रह जाते हैं। हम नहीं जाते उन जगहों पर जहाँ घुमक्कड़ों के पहले पैर पड़े ही नहीं। हमें तो सुनी-सुनाई जगहों पर जाना पसंद है, जहाँ पहुंचना बहुत आसान होता है। मगर जो रास्ते कठिन होते हैं उनकी मंजिल बेहद खूबसूरत होती है। जब आप कश्मीर में चतपल जाएंगे तो आप बिल्कुल यही महसूस करेंगे। ये खूबसूरत गाँव जिसके बारे में कश्मीरियों तक को नहीं पता। ऐसे छिपी और खूबसूरत जगह की यात्रा आपको जरूर करना चाहिए।

Photo of कश्मीर का वो छिपा और खूबसूरत नगीना जिसके बारे में कश्मीरियों को भी नहीं पता 1/5 by Musafir Rishabh

चतपल, जहाँ आप बाहरी दुनिया से कट जाएंगे। जहाँ गर्मियों में भी आपको सर्दी का एहसास होगा। जहाँ आप खिड़की से बाहर का नजारा देखेंगे तो आपको श्रीनगर और गुलमर्ग कुछ नहीं लगेंगे। ये जगह आपको खूबसूरत नहीं कश्मीर से प्यार करना सिखा देगी। नदी किनारे जाएंगे तो आपको शांति और सुकून महसूस होगा। अगर आपको कश्मीर के किसी शांत जगह पर जाने को मन हो तो चतपल उसके लिए बिल्कुल परफेक्ट है। आप इस अनछुए गाँव में क्या करें? कैसे जाएं? इसकी सारी जानकारी हम आपको दे देते हैं।

चतपल

चतपल साउथ कश्मीर के बिल्कुल कोने में है। जो श्रीनगर से 90 किमी. की दूरी पर शंगुस जिले में बसा हुआ है. ये जगह इतनी खूबसूरत है कि इसे शब्दों में बयाँ करना मुश्किल है। चतपल में आपको पीले और सफेद फूलों के बीच खूबसूरत बगीचे देखेने को मिलेंगे। इस जगह पर लाइट नहीं है और शायद आप उस पर ज्यादा ध्यान भी न दें। जो किसी जगह पर कुछ दिनों के लिए जाते हैं वो वहाँ की परेशानियों को नहीं, खूबसूरती पर ज्यादा ध्यान देते हैं। ज्यादातर लोग कश्मीर की फेमस जगहों पर जाते हैं इसलिए इस जगह के बारे में बहुत कम लोगों को पता है।

कैसे जाएं?

श्रीनगर से चतपल की दूरी 90 किमी. है लेकिन आपको श्रीनगर से चतपल के लिए कुछ नहीं मिलेगा। इसके लिए आपको श्रीनगर से अनंतनाग आना होगा। अनंतनाग को कश्मीर के स्थानीय लोग इस्लामाबाद भी कहते हैं। यहाँ से आप शेयर टैक्सी या कैब बुक करके जा सकते हैं।

टैक्सी

अगर आप शेयर टैक्सी से जाना चाहते हैं तो आपको अनंतनाग से अचाबल के लिए टैक्सी लेनी होगी जो लगभग 10 किमी. है और इसके आपको 20 रुपए लगेंगे। अचबल से आपको दूसरी टैक्सी लेनी होगी जो चितिरगुल ले जाएगी। अचाबल से चितिरगुल की दूरी 15 किमी. और टैक्सी का किराया 30 रुपए होगा। चितिरगुल में आपको फिर एक और टैक्सी लेनी होगी। जो आपको 10 किमी. के बाद चतपल छोड़ देगी और किराया 15 रुपए होगा।

कैब

आप बार-बार टैक्सी नहीं बदलना चाहते हैं तो सबसे आसान है कि कैब बुक कर लीजिए। ये आपको महँगा जरूर पड़ेगा लेकिन आरामदायक रहेगा। अनंतनाग से चतपल की रोड़ की हालत बहुत खराब है इसलिए 35 किमी. की दूरी तय करने में बहुत समय लगता है।

कहाँ ठहरें?

Photo of कश्मीर का वो छिपा और खूबसूरत नगीना जिसके बारे में कश्मीरियों को भी नहीं पता 2/5 by Musafir Rishabh

चतपल जाने का सबसे सही समय गर्मियों का है क्योंकि तब यहाँ चारों तरफ बर्फ नहीं जमी होती है। जिससे यहाँ पहुँचना आसान होता है। चतपल में ठहरने के लिए ज्यादा कुछ नहीं है। यहाँ कुछ काॅटेज हैं जो जम्मू और कश्मीर टूरिज्म चलाते हैं। यहाँ बहुत कम लोग आते हैं इसलिए आपको ये आसानी से मिल जाएंगे। अगर काॅटेज खाली नहीं होते हैं तो आप चतपल गाँव में लोगों से पूछ सकते हैं। यहाँ के लोग इतने प्यारे हैं कि वो आपका स्वागत जरूर करेंगे।

क्या करें?

कश्मीर के इस खूबसूरत नगीने में कोई टूरिस्ट स्पाॅट नहीं है लेकिन फिर भी करने को बहुत कुछ है। आप जितना पैदल चलेंगे ये जगह आपको और प्यारी लगने लगेगी।

1- गाँव देखें

Photo of कश्मीर का वो छिपा और खूबसूरत नगीना जिसके बारे में कश्मीरियों को भी नहीं पता 3/5 by Musafir Rishabh
श्रेय: स्टीमिट।

चतपल कश्मीर का अनछुआ गाँव है, यहाँ पूरे साल ठंड पड़ती है। आप यहाँ आएं तो इस गाँव को देखिए। आपको कुछ-कुछ गाँव के बारे में समझने को मौका मिलेगा। उनकी रोजाना की जिंदगी को जान सकते हैं, लोगों से बात कर सकते हैं। वो आपको इस गाँव के बारे में, उनकी दिक्क्तों के बारे में जरूर बताएंगे। घुमक्कड़ सिर्फ खूबसूरती उस जगहों के लोगों की जिंदगी से भी रूबरू कराती है। यकीन मानिए ये सब करने पर आपको ये गाँव अनजाना नहीं, अपना-सा लगने लगेगा।

2- नदी किनारे जाएं

कहते हैं कि जिस जगह पर नदी होती है वहाँ देखने को बहुत कुछ होता है। चतपल में तो पहले से ही देखने को बहुत कुछ है। चारों तरफ फैली हरियाली और पहाड़ आपका मन मोह लेंगे। जब आप गाँव के बगल से गुजरती नदी किनारे जाएंगे तो आपको ये जगह ही नहीं दुनिया भी बेहद खूबसूरत लगेगी। नदी ज्यादा चौड़ी नहीं है कुछ ही कदमों में आप नदी पार कर सकते हैं लेकिन ऐसी गलती बिल्कुल मत कीजिएगा। पानी का बहाव बहुत तेज है इसलिए उससे दूर रहना ही समझदारी होगी।

3- ट्रेक करें

जहाँ पहाड़ हो और वहाँ ट्रेक न किया जा सके, ऐसा हो ही नहीं सकता। आप आसपास की पहाड़ियों में जाइए और खूबसूरत नजारों को देखिए। क्या पता आपको ऐसा कुछ मिल जाए? जो इस जगह के बारे में अब तक किसी को नहीं पता। इसके बावजूद ये बात ध्यान रखिए कि ये जगह आपके लिए अनजान है तो किसी जगह पर अकेले मत जाइएगा।

4- आसपास के गाँव

चतपल चारों तरफ से पहाड़ों से घिरा हुआ है जो इस जगह को बेहद खूबसूरत बनाता है। आप यहाँ आसपास के गाँवों में पैदल जा सकते हैं। पास में एक गाँव है थिमरन। चतपल से थिमरन जाएंगे तो रास्ते में एक ब्रिज मिलेगा उसके पार करने के बाद आप इस गाँव में पहुँचेंगे। ये गाँव चतपल से काफी बड़ा है और पहाड़ की ऊँची जगह पर बसा है। जिस वजह से यहाँ तक पहुँचने के लिए ट्रेक करना पड़ेगा।

चतपल के आसपास

चतपल के आसपास देखने को बहुत कुछ है। आप जब अनंतनाग से चतपल की ओर आते हैं तो रास्ते में आपको मार्तंड मंदिर मिलेगा। जिसे सूर्य मंदिर भी कहते हैं। आपको इस मंदिर को जरूर देखना चाहिए। इसके अलावा अचाबल में मुगल काल का गाॅर्डन है जिसे आपको जरूर देखना चाहिए। अचाबल से चतपल की दूरी सिर्फ 23 किमी. है।

इन जगहों के अलावा पास में ही कोकेरनाग है जो चतपल से 39 किमी. की दूरी पर है। यहाँ आप कुछ घंटे ठहर सकते हैं। वहीं पास में ही दक्षुम वैली और वेरिनाग है। जरूरी नहीं है कि आप इन सभी जगहों को एक बार में देखें। कुछ जगहें घूमने के दौरान छोड़ देनी चाहिए ताकि आप उस जगह पर दोबारा आ सकें। चतपल ऐसी ही जगह है जहाँ आप बार-बार आना चाहेंगे।

क्या आपने कभी कश्मीर की ऐसी ही किसी जगह की यात्रा की है? अपने अनुभव को शेयर करने के लिए यहाँ क्लिक करें।

रोज़ाना वॉट्सऐप पर यात्रा की प्रेरणा के लिए 9319591229 पर HI लिखकर भेजें या यहाँ क्लिक करें।