कैसे करें नेपाल की बजट यात्रा? यहाँ मिलेंगे सारे जवाब और यात्रा कार्यक्रम!

Tripoto
Photo of कैसे करें नेपाल की बजट यात्रा? यहाँ मिलेंगे सारे जवाब और यात्रा कार्यक्रम! by Aastha Raj

हम सब जीवन में एक बार तो दोस्तों के साथ ये योजना बनाते ही हैं कि यार विदेश घूमने चलेंगे, पर अपनी रोज़मर्रा की ज़िन्दगी से वक़्त और पैसे दोनों निकालना सबके लिए ही बहुत मुश्किल काम है। अगर आप विदेश यात्रा करने की सोच रहें है और आपको कम बजट में विदेशी प्राकृतिक सुन्दरता का अनुभव करना है तो ये ट्रिप आपके लिए पैसा वसूल साबित होगी। अपनी विदेश यात्रा की शुरुआत आप भारत के पड़ोसी देश नेपाल घूम कर सकते हैं। कैसे जाना हैं और कहाँ घूमना है, इन सब की जानकारी आपको यहीं मिलेगी।

नेपाल जाने से पहले कौन से डॉक्यूमेंट्स रखें तैयार?

भारत से नेपाल यात्रा करने का सबसे बड़ा फ़ायदा है कि आपको वीज़ा की ज़रूरत नहीं है। आपको नेपाल घूमने के लिए अपना पासपोर्ट, कुछ पासपोर्ट साइज़ की फ़ोटो और अपना वोटर आई डी तैयार रखना है। अगर आप विदेशी मुद्रा के बारे में सोच रहे हैं तो यहाँ भी आप फ़ायदे में हैं। नेपाल में भारतीय रुपया चलता है तो जहाँ तक हो सके ₹100 के भारतीय नोट लेकर जाएँ। अगर आपके पास एसबीआई का एटीएम कार्ड है तो आप नेपाल के एसबीआई बैंक से पैसे भी निकल सकतें हैं।

भारत से नेपाल तक कैसे पहुँचे?

वैसे तो नेपाल तक पहुँचने के कई रास्ते हैं। आप दिल्ली से काठमांडू की हवाई यात्रा कर सकते हैं पर ये आपके लिए महंगी होगी। अगर आप रोड यात्रा करना चाहते हैं तो आपको दिल्ली से नेपाल के लिए सीधे बस भी मिलेगी पर ये यात्रा 30 घंटे लम्बी होगी, इसलिए सबसे सस्ता और सरल रास्ता होगा कि आप उत्तर प्रदेश के गोरखपुर रेलवे स्टेशन पहुँचे और वहाँ से भारत नेपाल बॉर्डर सोनौली के लिए ट्रेन की टिकट ले लें। अगर आप बड़े ग्रुप में कई साथियों के साथ घूमने गए हैं तो आप जीप या कैब से भी गोरखपुर से सोनौली तक पहुँच सकते हैं। गोरखपुर से भारत नेपाल बॉर्डर 248 कि.मी. की दूरी पर है जहाँ पहुँचने में आपको 6-7 घंटे का वक़्त लगेगा।

सोनौली पहुँचने के बाद आपके पास दो रास्ते होंगे। पहले सोनौली से काठमांडू तक का जो वहाँ से 285 कि.मी. की दूरी पर है और दूसरा सोनौली से पोखरा का जो वहाँ से 148 कि.मी. पर है। मेरा सुझाव है कि आप पोखरा की ओर जाएँ। पोखरा और काठमांडू कुल मिलाकर एक जैसे ही हैं बस पोखरा में यात्रियों की भीड़ कम होती है तो आपको बेहतर अनुभव मिलेगा। साथ ही पोखरा काठमांडू से हर मायने में किफायती है।

पोखरा

पोखरा शहर अपनी झीलों की वजह से बहुत प्रसिद्ध है इसलिए आप यहाँ पहुँच कर झील के किनारे होटल में कमरा ले लें। आपको ₹800-₹1000 तक के कमरे मिल जाएँगे। अगर आप सुबह पहुँचे हैं तो कुछ देर आराम करने के बाद पैदल ही शहर की यात्रा करने निकल सकते हैं। फेवा झील यहाँ की सबसे मशहूर और लम्बी झील है। झील में घूमने के लिए आपको वहाँ ₹400 में नाव मिल जाएगी जो इस खूबसूरत झील की सुन्दरता और ठहराव दोनों का अनुभव करवाएगी। सारंग्कोट और शांति स्तूपा पोखरा के आस पास बहुत मशहूर हैं तो अगर आपके पास वक़्त हो तो आप 1-2 दिन वहाँ रुक कर बाकि जगह भी घूम सकते हैं।

पोखरा की खासियत है वहाँ की ट्रेकिंग। अन्नपूर्णा की पहाड़ियों में ट्रेकिंग करने के लिए आपको कई विकल्प मिलेंगे जिसमें ये तीन सबसे मशहूर हैं:

1. अन्नपूर्णा सर्किट ट्रेक ( 20 दिन का समय)

2. अन्नपूर्णा बेस कैंप ट्रेक (10-12 दिन)

3. घोरेपानी/ पून हिल ट्रेक (3-5 दिन)

समय सीमा और बजट को ध्यान में रखते हुए मेरा सुझाव होगा कि आप घोरेपानी/ पून हिल ट्रेक को चुनें।

घोरेपानी/ पून हिल ट्रेक

परमिट

अन्नपूर्णा कंज़रवेशन रेंज में जाने के लिए आपको 2 परमिट की आवश्यकता होगी। एसीएपी और टीआईएमएस। ये दोनों परमिट आपको ₹1000 में पोखरा से ही आधे घंटे के अन्दर मिल जाएँगे।

कैसे करें पोखरा से घोरेपानी की ट्रेकिंग

Day 1

पोखरा-नयापुल-तिखेदुंगा

नयापुल गाँव से आपकी ट्रेकिंग की शुरुआत होगी। यहाँ पहुँचने के लिए बागलुंग बस पार्क से आसानी से बस मिल जाएगी। बस का किराया बहुत ही मामूली होता है और 2 घंटे में आप नयापुल पहुँच जाएँगे। नयापुल पहुँचने के बाद यहाँ से आपको नेपाल के नज़ारे देखने को मिलेंगे। नयापुल चेक पोस्ट पर आपको परमिट दिखाना होगा और अगर आपके पास परमिट नहीं है तो वहाँ से आपको नया परमिट भी मिल जाएगा। इस 3-4 घंटे की ट्रेकिंग में आपको बहुत सारा रोमांच और नेपाल की सुन्दरता दोनों एक साथ मिलेगी। तिखेदुंगा पहुँच कर आपको अन्नपूर्णा की हरी घाटियाँ देखने को मिलेगी और साथ ही नयापुल के सबसे प्रसिद्ध आकर्षण मोदी नदी का भी लुत्फ़ उठा सकते हैं। तिखेदुंगा पहुँचने के बाद आप एक रात के लिए होटल में कमरा ले लें जो आपको ₹300-₹400 तक में मिल जायेगा।

Day 2

तिखेदुंगा – घोरेपानी

इस दिन के लिए खुद को तैयार कर लें क्योंकि यहाँ आपको 6-7 घंटे की ट्रेकिंग करनी होगी। वैसे तो घोरेपानी तक का रास्ता इतना खूबसूरत है कि आपको थकान का एहसास ही नहीं होगा पर तिखेदुंगा से निकलने से पहले पानी और स्नैक्स का इंतज़ाम कर लें ताकि रास्ते में कोई परेशानी ना हो। आपकी ज़्यादातर चढ़ाई सीढ़ियों से होगी इसलिए रास्ते में आराम करते हुए हर नज़ारे का लुत्फ़ उठाएँ। नेपाल कितना खूबसूरत है, वहाँ की ठंडी स्वच्छ हवा और झील से बहता पानी आपकी सभी चिंताओं को गायब कर देगा। यहाँ पहुँच कर भी आप उस रात के लिए ₹300-₹400 में कमरा ले लें और खूबसूरत वातावरण का लुत्फ़ उठाएं।

Day 3

घोरेपानी- पून हिल- तडापानी

पून हिल से उगते सूरज को देखना आपकी ज़िन्दगी के सबसे बेहतरीन नज़ारों में से एक होगा। जब पहाड़ों के पीछे से सूरज निकलता है और उसकी रौशनी पहाड़ों की चोटी पर पड़ती है तो वो सोने की तरह चमक उठता है। पून हिल घोरेपानी से आधे घंटे के रस्ते पर है तो आप सुबह जल्दी उठकर सूर्योदय देखने के लिए पहुँच सकते हैं। उसके बाद आप वहाँ चाय नाश्ता करके वापस घोरेपानी लौट आईये। घोरेपानी से आप सीधे तडापानी की ओर निकल जाईये। तडापानी के रास्ते में जो आपको प्राकृतिक सुन्दरता दिखाई देगी उसमें आप कहीं खो जाएँगे। रास्ते में आपको देउराली पास मिलेगा जो आपको नेपाल की बेहतरीन खूबसूरती का लगातार अनुभव कराएगा। चढ़ाई पूरी करने के बाद ऊपर से नेपाल के खूबसूरत मनमोहक नज़ारों का आनंद लें और फिर उस रात के लिए वहीं कमरा ले लें जो आपको ₹300 में मिल जाएगा। अगले दिन घान्द्रुक के लिए निकलें।

Day 4

तडापानी- घान्द्रुक- नयापुल-पोखरा

घान्द्रुक एक बहुत बड़ा गाँव है जहाँ पहुँचने में 4-5 घंटे लग जाएँगे। घान्द्रुक की सबसे प्रसिद्ध जगह है गुरुंग म्यूज़ियम। इस शानदार म्यूज़ियम में कुछ घंटे घूमने के बाद आपको वहाँ से पोखरा के लिए बस मिल जाएगी और पोखरा से भारत बॉर्डर के लिए आपको शाम 5 बजे बस मिल जाएगी।

आपके ट्रेकिंग पर हर दिन लगभग ₹1000 खर्च होंगे तो ₹6000-₹7000 में आपकी ये विदेश यात्रा पूरी हो जाएगी। इसलिए अगर आप किफायती विदेश यात्रा के बारे में सोच रहे हैं तो देर ना करें और ट्रिप की तैयारी शुरू कर दें।

आपने भी कभी ऐसी बजट यात्रा की है? यहाँ क्लिक करें और अपना अनुभव लिखना शुरू करें।

यात्रा से जुड़े ऐसे किस्से और कहानियाँ पढ़ने के लिए Tripoto हिंदी के फेसबुक पेज से जुड़ें।

Be the first one to comment

Further Reads