कोंकण घूमना हुआ आसान : जानिए हाल ही में लौन्च किए सिन्धुदुर्ग एयरपोर्ट के बारे में

Tripoto
Photo of कोंकण घूमना हुआ आसान : जानिए हाल ही में लौन्च किए सिन्धुदुर्ग एयरपोर्ट के बारे में 1/3 by लफंगा परिंदा

चारों तरफ फैली हरियाली और साफ-सुथरे समुद्रतट कोंकण बेल्ट को महाराष्ट्र के सबसे लोकप्रिय इलाक़ों में से हैं | यहाँ आवागमन को बेहतर बनाने के लिए आख़िरकार 5 सितंबर को मुख्यमंत्री देवेंद्र फड़नवीस और नागरिक उड्डयन मंत्री सुरेश प्रभु ने सिन्धुदुर्ग एयरपोर्ट का उद्घाटन किया |

सिंधुदुर्ग

ये मालवन और वेंगुरला के बीच कोंकण तट पर स्थित है| गोताखोरी के लिए लोकप्रिय जगहों जैसे तार्कर्ली के पास है और सिन्धुदुर्ग किले से सिर्फ़ 20 किमी दूर है | खुशी कीबात तो ये है कि इस रूट के द्वारा गोवा के प्रसिद्ध समुद्रतटों तक पहुँचा जा सकता है | ये उत्तरी गोवा के करीब है | तिरकोल, अरामबोल व मंद्रेम जैसे समुद्रतटों से लगभग 60 किमी दूर है और दाबोलिम एयरपोर्ट से भी लगभग इतना ही दूर है | 520 करोड़ की लागत से बनने वाला ये एयरपोर्ट पर्यटन में तो इज़ाफा करेगा ही, साथ ही महाराष्ट्र, गोवा और कर्नाटक को भी जोड़ेगा |

Photo of कोंकण घूमना हुआ आसान : जानिए हाल ही में लौन्च किए सिन्धुदुर्ग एयरपोर्ट के बारे में 2/3 by लफंगा परिंदा

एयरपोर्ट अथॉरिटी ऑफ इंडिया और महाराष्ट्र इंडस्ट्रियल डेवलपमेंट कॉरपोरेशन (एमआईडीसी) ने मिलकर नागरिक उड्डयन मंत्री की उपस्थिति में एक एमओयू (मैमोरेन्दम ऑफ अंडरस्टॅंडिंग) पर दस्तख़त किए गए हैं। 3 अंतरराष्ट्रीय और 13 घरेलू हवाई अड्डों के साथ महाराष्ट्र सरकार और अधिक पहल के साथ अपने राज्य के पर्यटन में इज़ाफ़ा करने की ठान ली है | उद्घाटन के बाद मंत्रियों ने और भी अन्य महत्वपूर्ण योजनाओं की जानकारी दी | सिन्धुदुर्ग में मछली पालन और होर्टिकल्चर कार्गो का हब बनाने की योजनाएँ हैं |

Photo of कोंकण घूमना हुआ आसान : जानिए हाल ही में लौन्च किए सिन्धुदुर्ग एयरपोर्ट के बारे में 3/3 by लफंगा परिंदा

रोमांच प्रेमियों को जानकर खुशी होगी कि महाराष्ट्र टूरिज्म डेवलपमेंट कॉर्पोरेशन को 65 करोड़ रुपये पर्यटन से जुड़ी पनडुब्बियाँ लाने के लिए दिए गये हैं |

कौन से विमान इस हवाई अड्डे पर उतार जाएँगे, इस बारे में अभी कोई जानकारी नहीं है | हालाँकि उड़ान परियोजना के अंतर्गत उड़ाई जाने वेल कैरियर को मुंबई से बेंगलोर को जोड़ने के काम लिया जाएगा | 2500 मीटर के रनवे पर एयरबस ए 320 और बोइंग 737 जैसे एक गलियारे वाले संकरे जहाज़ चलाए जा सकते हैं | हवाई अड्डे पर एक घंटे में 400 यात्रियों (200 आने वाले और 200 जाने वाले) को आराम से संभाला जा सकता है, जो शुरुआत में बेहतरीन है |

क्या आपके पास भी ऐसी दिलचस्प कहानियाँ हैं? ट्रिपोटो ग्रुप में अपने अनुभव बाँटें |

ट्रिपोटो के यू ट्यूब पेज पर यात्रा के वीडियो और अन्य आकर्षण देखें |

यह आर्टिकल अनुवादित है | ओरिजिनल आर्टिकल पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करें |

Be the first one to comment