सिक्किम के 8 खूबसूरत मंदिर, श्रद्धालु ही नहीं घुमक्कड़ों के लिए भी बेस्ट

Tripoto
Photo of सिक्किम के 8 खूबसूरत मंदिर, श्रद्धालु ही नहीं घुमक्कड़ों के लिए भी बेस्ट by Musafir Rishabh

कहते हैं कि मंदिर भगवान तक अपनी बात पहुँचाने का एक जरिया होते हैं लेकिन असल में मंदिर उस जगह के कल्चर परंपरा और आर्किटेक्चर को जानने का सबसे बढ़िया तरीका होता है। सिक्किम भारत के सबसे खूबसूरत राज्यों में से एक है। हर मुसाफिर की चाहत सिक्किम को घूमने की आती हैं। सिक्किम की इन्हीं खूबसूरत वादियों में बेहद शानदार मंदिर हैं। दूर-दूर से श्रद्धालु इन मंदिरों के दर्शन करने आते हैं। खूबसूरत पहाड़ों और जंगलों के बीच इन मंदिरों में जाना सुकून देता है। ऐसी शांति आपको और कहीं नहीं मिलेगी। इसलिए अगर आप मुसाफिर हैं तो भी आपको सिक्किम के मंदिरों को देखना चाहिए। हमने सिक्किम के कुछ मंदिरों की लिस्ट बनाई है, जिनको आपको देखना ही चाहिए।

1. ठाकुरबाड़ी मंदिर

सिक्किम की राजधानी गंगटोक में बेहद शानदार ठाकुरबाड़ी मंदिर है। गंगटोक के बीचों-बीच स्थित ये मंदिर सिक्किम के सबसे पुराने हिंदू मंदिरों में से एक है। ठाकुरबाड़ी मंदिर के लिए सिक्किम के चोग्याल ने जमीन दान दी थी। जिसके बाद 1935 में इस मंदिर को बनवाया गया था। पहले इस मंदिर में सिर्फ मंदिर परिसर ही था, बाद में इसमे कुछ हॉल और लाइब्रेरी जोड़ी गई। इस मंदिर को देखकर आप सिक्किम के उस समय के बारे में और आर्किटेक्चर के बारे अंदाजा लगा सकते हैं।

2. किरातेश्वर मंदिर

सिक्किम के पेलिंग से सिर्फ 4 किमी. की दूरी सूरी में किरातेश्वर मंदिर स्थित है। भगवान शिव के इस मंदिर तक गेयजिंग और पेमायांग्त्से से भी आसानी से पहुँचा जा सकता है। ये मंदिर अपने बेला चतुर्देसी फेस्टिवल के लिए फेमस है जो नवंबर और दिसंबर के बीच में मनाया जाता है। उस समय यहाँ श्रद्धालुओं की भारी भीड़ होती है। उस समय तो ये मंदिर और भी खूबसूरत लगने लगता है। इस मंदिर के बार में महाभारत में भी जिक्र है। कहा जाता है कि अर्जुन ने भगवान शिव की प्रार्थना की और वे इसी जगह पर एक शिकारी के भेष में प्रकट हुए थे। सिक्किम आएं तो इस मंदिर को देखना न भूलें।

3. हनुमान टोक

हनुमान टोक गंगटोक के सबसे फेमस मंदिरों मंे से एक है। समुद्र तल से 7,200 फीट की ऊँचाई पर स्थित इस मंदिर की देखभाल करती है। यहाँ से सिक्किम का खूबसूरत नजारा देखकर आपका दिल खुश हो जाएगा। दूर-दूर तक आपको सिर्फ खूबसूरत वादी ही नजर आएगी। यहाँ पर आप अपने दोस्तों और फैमिली के साथ आ सकते हैं और कुछ वक्त बिता सकते हैं। यहाँ पर आपको बेहद शांति और सुकून मिलेगा।

4. गणेश टोक

सिक्किम में टोक का अर्थ होता है मंदिर। हनुमान टोक की तरह गंगटोक में गणेश टोक मंदिर है। समुद्र तल से 6,500 फीट की ऊँचाई पर स्थित छोटा-सा मंदिर बेहद खूबसूरत है। ये मंदिर इतना छोटा है कि एक बार सिर्फ एक व्यक्ति की अंदर जा सकता है। मंदिर से आप सिक्किम की खूबसूरत वादियों के व्यू को देखकर हैरान रह जाएंगे। गंगटोक के सबसे खूबसूरत नजारों को देखने के लिए कुछ देर गणेश टोक पर जरूर ठहरें।

5. बाबा मंदिर

चीन की सीमा से सटे नाथुला और जेलेप ला के बीच में एक ऐसा मंदिर है। जिसके बारे में कहा जाता है एक सैनिक मरने के बाद 48 साल बाद भी सरहद रक्षा कर रहा है। बाबा मंदिर के नाम से जाने जाना वाला ये मंदिर सैनिक हरभजन सिंह का मंदिर है। समुद्र तल से 13 हजार फीट की ऊँचाई पर स्थित इस मंदिर में हरभजन सिंह की फोटो और उनका सामान रखा हुआ है। हरभजन सिंह की मौत 1968 में एक खाई में गिरने से हुई थी। हरभजन सिंह की याद में बनाया गया ये मंदिर आस्था का केन्द्र बन गया है। बड़ी संख्या में लोग इस मंदिर के दर्शन करने जाते हैं। सिक्किम जाएं तो इस मंदिर को जरूर देखें।

6. सोलोफोक चारधाम मंदिर

सिक्किम के नामची से लगभग 5 किमी. की दूरी पर सोलोफोक पहाड़ी पर चारधाम मंदिर स्थित है। भगवान शिव के इस मंदिर की मान्यता महाभारत से जुड़ी हुई है। कहा जाता है कि पांडवों और कौरवों की लड़ाई के बीच भगवान शिव ने अर्जुन को यहीं पर दर्शन दिए थे औ जीतने का आर्शीवाद दिया था। लगभग 7 एकड़ में फैले सोलोफोक चारधाम मंदिर में भगवान शिव की 16 फीट ऊँची मूर्ति है। इस मंदिर में चारधाम भी बने हुए हैं। जिनको आप देख सकते हैं।

7. साईं बाबा मंदिर

सिक्किम की खूबसूरत वादियों में भी एक शिरड़ी है। सिक्किम के नामची में सोने के रंग की इमारत है जिसे साईं बाबा के मंदिर के नाम से जाना जाता है। मंदिर में खूबसूरत गार्डन हैं जहाँ श्रद्धालु कुछ देर शांति के साथ बैठ सकते हैं। यहाँ साईं बाबा की मूर्ति स्थापित है। दूर-दूर से लोग इस मंदिर के दर्शन करने आते हैं। मंदिर के गार्डन से आप कंचनजंगा पर्वत के खूबसूरत नजारे को देख सकते हैं। इन नजारों को देखने के लिए भी आप मंदिर में जा सकते हैं। सिक्किम जाएं तो साईं बाबा के मंदिर को देखना न भूलें।

8. विश्व विनायक मंदिर

सिक्किम के खूबसूरत हरे-भरे पहाड़ों के बीच विश्व विनायक मंदिर स्थित है। भगवान गणेश का ये मंदिर पूर्वी सिक्किम के रंगदंग जिले में स्थित है। इस मंदिर भगवान गणेश के 51 रूपों को दिखाया गया है। इनकी खास बात ये है कि हर मूर्ति की ऊँचाई लगभग 12 फीट है। स्थानीय लोगों के लिए ये मंदिर काफी पवित्र है। नेपाल से भी लोग इस पुराने मंदिर के दर्शन करने आते हैं। अपने सिक्किम के सफर में इस मंदिर को भी देखा जा सकता है।

क्या आपने हाल ही में सिक्किम की यात्रा की है? अपने अनुभव को शेयर करने के लिए यहाँ क्लिक करें।

बांग्ला और गुजराती में सफ़रनामे पढ़ने और साझा करने के लिए Tripoto বাংলা और Tripoto ગુજરાતી फॉलो करें।

Tripoto हिंदी के इंस्टाग्राम से जुड़ें और फ़ीचर होने का मौक़ा पाएँ।