गांव का एक दिन और बचपन की मीठी यादें

Tripoto
21st Mar 2019
Photo of गांव का एक दिन और बचपन की मीठी यादें by Pratiksha Shankhdhar
Day 1

पढ़ लिख कर कुछ करने की चाह लेकर जो लोग अपने गाँव से मीलों दूर निकल गए... खास उनके लिए आज की ट्रिप।
शायद मेरी तरह किसी और की भी यादें ताज़ा हो जायँ, और कुछ पल के लिए वो सब भी अपने बचपन मे खो जायँ।

Photo of बुलंदशहर, Uttar Pradesh, India by Pratiksha Shankhdhar
Photo of बुलंदशहर, Uttar Pradesh, India by Pratiksha Shankhdhar

सुबह सुबह की ताजी हवा और ये लहराते खेत देखे शायद आपको जमाना हो गया होगा, कुछ लोगों की ज़िन्दगी तो इतनी व्यस्त है कि उनके पास पीछे पलट के देखने की भी फुर्सत नहीं..

Photo of गांव का एक दिन और बचपन की मीठी यादें by Pratiksha Shankhdhar

ये खिलखिलाता बचपन.... ये एक बार फिर हमें बच्चा बनने पर मजबूर कर देगा। गांव में ऐसे बच्चो को खेलते देखा तो याद आया की हम भी इन्ही में से एक थे

Photo of गांव का एक दिन और बचपन की मीठी यादें by Pratiksha Shankhdhar
Photo of गांव का एक दिन और बचपन की मीठी यादें by Pratiksha Shankhdhar

ये देखिये सुबह की मीठी ठंड और इस बच्चे का ऐसे घुस के सोना, और आंख खुलते ही मोहल्ले का डॉन बन जाना.. क्या आपने ऐसा डॉन देखा था कभी

Photo of गांव का एक दिन और बचपन की मीठी यादें by Pratiksha Shankhdhar
Photo of गांव का एक दिन और बचपन की मीठी यादें by Pratiksha Shankhdhar
Photo of गांव का एक दिन और बचपन की मीठी यादें by Pratiksha Shankhdhar
Photo of गांव का एक दिन और बचपन की मीठी यादें by Pratiksha Shankhdhar

गन्ने के खेत, ट्यूबबेल का पानी, घूंघट से झांकती और पल्लू में से गन्ना खाती भाभी... ऐसे ही कुछ नज़ारे हुआ करते थे हमारे भी बचपन में।
मेरी समझ से साल का एक दिन निकाल के हर इंसान को वहां जरूर जाना चाहिए जहां उसका बचपन बीता है

Be the first one to comment