सर्दियों में घूमें मसूरी

Tripoto
18th Nov 2020
Photo of सर्दियों में घूमें मसूरी by RAVI ANURAGI
Day 1

अगर आप सर्दियों में पहाड़ पर जाने का प्लान बना रहे हैं तो मसूरी आपके लिए अच्छा ऑप्शन हो सकता है...

Photo of सर्दियों में घूमें मसूरी by RAVI ANURAGI
Photo of सर्दियों में घूमें मसूरी by RAVI ANURAGI
Photo of सर्दियों में घूमें मसूरी by RAVI ANURAGI
Photo of सर्दियों में घूमें मसूरी by RAVI ANURAGI
Photo of सर्दियों में घूमें मसूरी by RAVI ANURAGI
Photo of सर्दियों में घूमें मसूरी by RAVI ANURAGI

जहां आप निजी क्षण बिता सकते हैं। सर्दियां शुरू होते ही इन जगहों का आकर्षण बढ़ने लगता है। हालांकि, पारे के लो लेवल तक पहुंचने के साथ सैलानियों की तादाद घटने लगती है। यहां का माल रोड आपको पसंद आएगा। यह लाइब्रेरी बाजार से गांधी चौक और क्लॉक टावर तक फैला हुआ है। यहां सर्दियों में दुकानें भी मौसम की जरूरतों के हिसाब से सजने लगती हैं। ठंड इतनी बढ़ जाती है कि लोग बातचीत भी मुंह ढक कर करते हैं। लोगों के मुंह और नाक स्कार्फ से ढंके होते हैं, जबकि हाथ पॉकेट में। सैलानी सिर्फ करारी मूंगफली खाने के लिए ही जेब से हाथ निकलते हैं।

Day 2

प्राइवेसी की खोज में
अकेलेपन की तलाश करने वाले और हनीमून कपल के लिए सबसे बेहतर विकल्प केमल्स बैक की सड़कों पर चहलकदमी करना हो सकता है। क्लॉक टावर से थोड़ा पहले कुर्ली बाजार है, जहां भारी तादाद में कैफे और रेस्तरां मौजूद हैं। लिहाजा, यहां लोगों की भारी भीड़ होती है। जहां से बाजार शुरू होता है और जहां माल की चढ़ाई शुरू होती है, वहां से आप दून वैली का शानदार सूर्यास्त देख सकते हैं।

खूबसूरत अहसास
अगर भीड़ की समस्या को छोड़ दें, तो गन हिल और लाल टिब्बा जैसे मसूरी के ज्यादातर ठिकाने मस्ती करने के लायक हैं। इतना ही नहीं, आप यहां रोमांटिक भी हो सकते हैं। यह माहौल कैम्प्टी फॉल पर और बेहतर हो जाता है। यह मसूरी का सबसे पॉप्युलर टूरिस्ट स्पॉट है। क्लॉक टावर के बाद लैंडूर शुरू होता है, जो हिल स्टेशन का अहम हिस्सा है। इसी जगह को सबसे पहली हिल क्वीन का खिताब मिला था। लैंडूर और बोर्लोगंज जैसे इलाकों में घूमते हुए आप मसूरी में भीड़-भाड़ से बच सकते हैं।

यहां से 45 मिनट की दूरी पर धनौल्टी (24 किलोमीटर) है। अगर गर्मियों में मसूरी जाने वालों की भीड़ नहीं बढ़ती तो यह जगह कभी भी नक्शे पर नहीं आ पाती। यहां शानदार पार्क है, जिसका नाम धनौल्टी इको पार्क है। यह जगह टहलने के लिए बेहद उपयुक्त है और यहां आप खास गुफ्तगू कर सकते हैं। सर्दियों में शाम ढलते ही मसूरी में दुकानें बंद होने लगती हैं और जगह-जगह पर आग की तपिश से ठंड कम करते हुए लोग नजर आने लगते हैं।

कैसे जाएं
दिल्ली से मसूरी 269 किलोमीटर की दूरी पर है। यह 8.5 घंटे की ड्राइव है। अगर आप सिर्फ वीकेंड के लिए प्लान करते हैं, तो ड्राइव ज्यादा लंबा हो जाएगा।

नजदीकी शहर: देहरादून (28 किलोमीटर), यहां से आप तकरीबन 1,500 रुपए में मसूरी के लिए टैक्सी ले सकते हैं।

नजदीकी एयरपोर्ट: जॉली ग्रांट एयरपोर्ट (55 किलोमीटर)

आप कोई मोटर साइकल भी किराये पर ले सकते है। केंपटी फॉल जाने के लिये आपको जीप लाइब्रेरी चौक पर ही मिल जाएगी और इसके कुछ ही दूरी पर केंपटी बस स्टैंड और थोड़ा आगे चलकर केंपटी टॅक्सी स्टैंड भी बना है। जो 100 या 150 रुपय लेकर आपको केंपटी फॉल छोड़ देगा। ये जगह Mussoorie की सबसे खास जगह है। और फिर शाम के समय मसूरी माल रोड पर घूमना एक अलग ही अनुभव का एहसास कराता है। यहाँ कई पर्यटन स्थल ऐसे है जहां पैदल घूमने का मजा ही कुछ और है जैसे कैमेल बैक रोड। फिर आपके पास रिक्शा करना भी एक बेहतर विकल्प हो सकता है।  गन हिल पहुचने के लिये झूला घर और पैदल दो ऑप्शन है, ये बहूत ही सुंदर लोकेशन है।

देहरादून और मसूरी अपने वॉटर फ़ॉल्स के लिये बहुत मशहूर है, यहाँ बने कुछ प्रमुख वॉटर फॉल है – केंपटी फॉल, झरीपानी फॉल, मोसी फॉल, भट्टा फॉल, टाईगर फॉल, शिखर फॉल।