श्रीखंड कैलाश यात्रा से पहले की जाती हैं इस गुफा की यात्रा

Tripoto
Photo of श्रीखंड कैलाश यात्रा से पहले की जाती हैं इस गुफा की यात्रा by Rishabh Bharawa

अगर 2023 में आपने पांच कैलाश में से एक कैलाश 'श्रीखंड कैलाश ' की यात्रा का प्लान बनाया हुआ हैं तो ध्यान दीजियेगा कि ऐसा कहा जाता हैं कि इस दुर्गम यात्रा को शुरू करने से पहले आपको यही से कुछ ही किलोमीटर दूर स्थित एक गुफा में जा कर भगवान शिव के दर्शन करने चाहिए। क्योंकि इस गुफा की घटना का सम्बन्ध श्रीखंड कैलाश यात्रा से ही माना जाता हैं। हालाँकि इस जगह के बारें में काफी कम श्रद्धालु जानते हैं लेकिन जिन्होंने इस जगह के बारे में सुना हुआ हैं वें श्रीखंड यात्रा के दौरान इस गुफा की यात्रा सबसे पहले करने पहुंचते हैं।मेरे अधिकतर आर्टिकल ऐसी जगहों के बारें में ही होते हैं जहाँ काफी कम लोग ही जा पाते हैं या जिस जगह को कम ही लोग जानते हैं ,इस लेख से भी आप हिमाचल की एक नई जगह के बारें जानेंगे।

Photo of श्रीखंड कैलाश यात्रा से पहले की जाती हैं इस गुफा की यात्रा by Rishabh Bharawa

जब आप चंडीगढ़ से श्रीखंड यात्रा के बेस केम्प मतलब कि जाओं गाँव की तरफ जाते हैं तो रामपुर बुशहर से करीब 4 किमी पहले ही एक बोर्ड मुख्य सड़क पर लगा नजर आएगा जिसपर लिखा होगा कि शिवढांग गुफा के लिए बाए मुड़े। वही से निरमंड गाँव की तरफ 10 से 12 किमी कच्चे रास्ते से चलकर अगर आप आगे बढ़ेंगे तो आपको इस मंदिर तक लगभग पहुंच जाएंगे। असल में नदी किनारे एक मंदिर में यह शिवढांग गुफा बनी हैं जहाँ शिवलिंग स्थापित किया हुआ हैं। यहाँ तक पहुंचने के मंदिर से एक किलोमीटर पहले ही आपको आपकी गाडी खड़ी कर के पहाड़ी से निचे उतरना पड़ेगा।अगर आपके पास कोई पावरफुल गाडी या suv हैं तो आप गाडी निचे उतार सकते हैं। निचे उतरते ही जालीनुमा मंदिर में आप प्रवेश करेंगे जो कि नदी किनारे एक पहाड़ी पर बना हैं। मंदिर के आसपास किसी भी प्रकार की कोई दूकान नहीं मिलेगी।मंदिर में प्रवेश पर आपको लगेगा नहीं कि यहाँ अंदर एक गुफा हैं। आप जैसे ही दर्शन करने के लिए आगे बढ़ेंगे ,आप खुद को एक ऐसी गुफा के पास पाएंगे जिसका प्रवेश द्वार काफी संकरा हैं।आपको उसमें प्रवेश करते ही निचे देखने पर अँधेरे में शिवलिंग के दर्शन हो जाएंगे। आप निचे उतर कर शिवलिंग पर जल चढ़ा सकते हैं। इस गुफा में ऊपर की ओर दूसरी तरफ देखने पर एक रास्ता नजर आता हैं। उस रास्ते के बारे में बताया जाता हैं कि वह रास्ता सीधा श्रीखंड कैलाश की तरफ जाता हैं।

Photo of श्रीखंड कैलाश यात्रा से पहले की जाती हैं इस गुफा की यात्रा by Rishabh Bharawa
Photo of श्रीखंड कैलाश यात्रा से पहले की जाती हैं इस गुफा की यात्रा by Rishabh Bharawa

यहाँ के बारें में कहा जाता हैं कि भस्मासुर से बचते हुए भगवान शिव इस गुफा के अंदर प्रवेश कर गए थे और फिर इसी रास्ते से श्रीखंड कैलाश तक पहुंचे थे।यहाँ जाकर आपको थोड़ा थोड़ा ऐसा लगेगा जैसे कि आप जम्मू के शिवखोड़ी में आ गए हैं। वहां भी ऐसी ही अँधेरी गुफा में शिवलिंग के दर्शन होते हैं और वही से एक रास्ता अमरनाथ तक पहुँचता हुआ बताया जाता हैं।अपने शहर भीलवाड़ा में भी ऐसी ही एक गुफा पर मैंने एक आर्टिकल लिखा हुआ हैं,जहाँ भी शिवलिंग के दर्शन के बाद रास्ता एक पवित्र धाम तक पहुँचता हैं ,ऐसा माना जाता हैं। हालाँकि इन बातों में कितनी सच्चाई हैं यह बताना मुश्किल हैं। लेकिन इन गुफाओं का अनुभव ही अपने आप में काफी रोमांचक होता हैं जिसका अनुभव कम से कम एक बार तो सबको लेना चाहिए।

Photo of श्रीखंड कैलाश यात्रा से पहले की जाती हैं इस गुफा की यात्रा by Rishabh Bharawa
Photo of श्रीखंड कैलाश यात्रा से पहले की जाती हैं इस गुफा की यात्रा by Rishabh Bharawa

श्रीखंड यात्रा के दौरान हिमाचल के लोकल लोग इस गुफा में शिवलिंग के दर्शन करने के बाद ही श्रीखंड कैलाश की चढ़ाई चढ़ते हैं। शिवलिंग के पास से ही निकलने के संकरे रास्ते से आप वापस बाहर निकल सकते हैं। इस बार श्रीखंड यात्रा के दौरान इस जगह शिवलिंग के दर्शन करना ना भूले।

-ऋषभ भरावा

More By This Author

Further Reads