Malshej Ghat 1/undefined by Tripoto
N/A
N/A
N/A
N/A
All year
Families, Friends
1 out of 1 attractions in Khubi

Malshej Ghat

It is a mountain pass located in the Western Ghats in Pune. A drive through these roads should rejuvenate your senses.
Plan to have breakfast at Malshej Resort or any local stall on the way. Malshej is at its best in rainy season with lots n lots of waterfalls but it is equally mesmerizing in winters with Fog and geeenary around ghats.Stop your vehicle at multiple view points and click picture or lay your mat on green patches and laze around.Leave malshej around 10.30 am to reach Shivneri fort which is at 1 hour driving distance. Or else plan to have early lunch at Malshej by 12 and leave for Shivneri
Malshej ghat is a popular destination among travel enthusiasts and nature lovers especially in monsoon. This small ghat, merely within 100 Kms from Mumbai will touch your heart as much as the moist clouds passing by will caress your face. Malshej ghat is situated in Maharashtra in the Western ghats. In monsoon nature decorates itself with lush greenery and endless flowing waterfalls. I'm sure you can imagine yourself under those waterfalls and chilling with dear friends and family. Apart from Thumb point, MTDC point and Malshej ghat waterfall point, Pimpalgaon joga dam is worth a visit.
करीब 2 घंटे के सफर के बाद हम दोनों नेशनल हाइवे 61 पर थे और यहां से मालशेज घाट की मौजूदगी नजर आने लगी थी। लेकिन मालशेज घाट के लिए सफर जारी रखने से पहले हमने एक जगह रुककर गरमागरम चाय की चुस्कियों के साथ अपने शरीर को गरमाहट देकर उसमे एक नई जान डालने का जरूरी काम किया। अब ना सिर्फ हमारा शरीर बल्कि मौसम भी खुशनुमा हो गया था। करीब घंटे भर से भी कम के सफर के बाद हम दोनों ठाणे को अहमदनगर जिले से जोड़ने के लिए पहाड़ों को तराश कर बनाए गए प्रसिद्ध पर्यटन स्थल मालशेज घाट पर पहुंच गए। यहां पहुंचकर हमने आधा घंटा आराम फरमाते हुए दिलकश नजारों को दिल भरकर देखे लेने का प्लान बनाया। वैसे तो मालशेज का असली मजा मानसून में आता है। हालांकि, मानसून के महीनों में पहाड़ से गिरने वाले झरनों के अब महज अवशेष भर बाकी रह गए हो, लेकिन हरियाली में अब भी कोई कमी नहीं थी। उसपर से पहाड़ों से किसी चादर की तरह लिपटे कोहरे की लुका-छिपी का खेल भी देखने वालों की आंखों को लुभाने का काम करती है।
Bhupendra Singh
*NOTE: This is a pure moto vlog.
हम प्लान से थोड़ा लेट यानी 11:30 तक अहमदनगर को ठाणे जिले से जोड़ने वाले प्रसिद्ध पर्यटन स्थल मालशेज घाट पर पहुंच गए। और क्योंकि हमारे साथ एक दोस्त ऐसा भी था, जो पहली बार मालशेज आया था। इसलिए हमने यहां आधा घंटा ठहरकर उसे भी जी भरकर मालशेज को जीने का मौका दिया। और खुद भी इस काम में पीछे नहीं रहे। हमने मिलकर यहां ढेर सारी तस्वीरें ली और साथ ही पहाड़ पर पसरे सोने से सुनहरे घास के मैदानों पर बाइक दौड़ाने के लम्हों को भी कैमरे में कैद किया। कसम से, दोपहर की ठंडी धूप में नहाए पहाड़ों का भूरापन मन को इतना ज्यादा भा रहा था कि मन ही नहीं कर रहा था आगे जाने का। लेकिन, हम सभी को इस बात का एहसास था कि मालशेज हमारी मंजिल नहीं बल्कि मंजिल तक पहुंचने के लिए जरूरी सफर का एक खूबसूरत हिस्सा भर है। इसलिए 12 बजे तक मालशेज से अपनी मेमोरेबल मीटिंग को खत्म कर हम मंजिल की तरफ चल दिए।