Dwarahat 1/undefined by Tripoto

Dwarahat

Kabira Speaking
कैसे पहुँचें: आप कठगोदम तक रेल से सफर कर सकते हैं। काठगोदाम से द्वाराहाट 88 किलोमीटर है। यह दूरी आप टैक्सी या बस के माध्यम से पूरी कर सकते हैं।द्वाराहाट से जुडी पौराणिक कथा: हिंदी में द्वाराहाट का संधिविच्छेद किया जाए तो इसका अर्थ है "स्वर्ग का द्वार"। यह भारत के सबसे प्राचीनतम मंदिरों में से एक है और यहाँ कत्यूरी वंश का राज था। इस छोटी सी जगह में 55मंदिर स्तिथ हैं जो की यहाँ आने वाले यात्रियों को एक अनोखा आध्यात्मिक अनुभव देते हैं।
Sreshti Verma
How to Reach: Reach Kathgodam by train, 88 kms till Dwarhat can be covered through taxi or bus.Mythology: Dwarhat stands for "door too heaven". This one of the famous temples in India was once the seat of Katyuri Dynasty. The small town has over 55 temples scattered all over, giving it's visitors a brilliant rendezvous with history.
Nikhil Dhyani
2 Hrs Drive from Chaukhutiya. Rugged and Hot.