गुजरात की जूनागढ़ रियासत के अनमोल खजाने को संभालने वाला जूनागढ़ मयुजियिम भाग -2

Tripoto
7th Oct 2021
Day 1

#जूनागढ़_म्यूजियम
#भाग_2

नमस्कार दोस्तों
पिछले भाग में हमें जूनागढ़ राज्य और नवाबों के बारे में जानकारी मिली थी।  इस भाग में मैं आपको जूनागढ़ संग्रहालय के अंदरूनी भाग की  पर ले चलूँगा और आपको जानकारी दूंगा।  जूनागढ़ संग्रहालय एक बहुत ही सुंदर संग्रहालय है जहां जूनागढ़ के नवाबों से संबंधित सामान जैसे हथियार, घरेलू सामान, बिस्तर, दरबार, कालीन, सिक्के, चांदी के बर्तन, विभिन्न देशों के उपहार, पेंटिंग आदि रखे हुए हैं।
साथियों, जब मैं जूनागढ़ संग्रहालय के द्वार पर पहुँचा तो संग्रहालय का टिकट मिला जो मात्र पाँच रुपये का था।  मैंने टिकट अधिकारियों से संग्रहालय के अंदर से तस्वीरें लेने के बारे में पूछा और उन्होंने कहा कि आप संग्रहालय के अंदर 100 रुपये की रसीद काटकर फोटोग्राफी कर सकते हैं और अगर आप वीडियो बनाना चाहते हैं तो आपको 500 रुपये का भुगतान करना होगा।  मैंने 100 रुपये का भुगतान किया और एक रसीद प्राप्त की ताकि मैं संग्रहालय के इंटीरियर की तस्वीरें ले सकूं।  मैं इस पोस्ट में सभी तस्वीरें दिखाऊंगा ताकि आप भी घर बैठे इस शानदार संग्रहालय का आनंद उठा सकें।  टिकट के साथ मैं संग्रहालय में दाखिल हुआ, एक गार्ड ने मेरा टिकट देखा और मुझे आगे बढ़ने के लिए कहा।  एक हॉल में प्रवेश करते हुए  मैने देखा नवाबों के बड़े-बड़े चित्र लगे थे।  उसके बाद मैं एक कमरे में दाखिल हुआ जहाँ सारा सामान चाँदी का बना हुआ था।  चाँदी के बर्तन, चाँदी के खिलौने जिससे नवाबों के बच्चे खेलते थे।  चांदी से बने कई अन्य उपहार भी हैं जो जूनागढ़ राज्य के नवाबों को अन्य राजाओं और जूनागढ़ राज्य की प्रजा द्वारा दिए गए हैं।  जूनागढ़ गुजरात का एक बहुत प्रसिद्ध और समृद्ध राज्य था।  चाँदी के बर्तन को देखने के बाद मैं शस्त्र कक्ष में दाखिल हुआ जहाँ नवाबों और उनके सैनिकों के हथियार रखे हुए थे।  इस कमरे में भारतीय और यूरोपीय हथियार जैसे यूरोपीयन तलवारें, खंजर आदि रखे हुए हैं।  हथियारों में कांच के डिब्बों में रखी बंदूकें, रिवाल्वर, पिस्तौल आदि शामिल हैं।  मैंने अपने मोबाइल फोन के कैमरे में चांदी के बर्तन और हथियारों की तस्वीरें कैद कर लीं।  फिर मैं लकड़ी की चौड़ी सीढ़ियाँ चढ़कर संग्रहालय की पहली मंजिल पर पहुँचा।  संग्रहालय की पहली मंजिल संग्रहालय का सबसे महत्वपूर्ण हिस्सा है क्योंकि इसमें दरबार हॉल है।
पहली मंजिल पर क्रॉकरी की वस्तुओं से युक्त एक सुंदर कमरा है जहाँ देश-विदेश के सुंदर क्रॉकरी आइटम रखे जाते हैं जैसे कि सुंदर फूलदान, प्लेट, बर्तन आदि जिस पर की हुई कलाकारी कार्य आपके मन को मोह लेती  है।  मैंने इस खूबसूरत कलाकृति की कुछ तस्वीरें भी लीं।  उसके बाद मैंने दरबार हॉल देखा।
#दरबार_हॉल
दरबार हॉल, या नवाबों का दरबार, संग्रहालय का सबसे महत्वपूर्ण हिस्सा है।  इसे हम नवाबों का शाही दरबार भी कह सकते हैं।  इस दरबार हॉल में नवाबों की अपने मंत्रियों, अधिकारियों, अधिकारियों या शाही मेहमानों के साथ बैठकें होती थीं।इस दरबार हॉल में शाही परिवार के समारोह आयोजित किए जाते थे।  दरबार हॉल यूरोपीय और सौराष्ट्र  कला का एक संयोजन है।  दरबार हॉल में विभिन्न प्रकार के लकड़ी, कांच और चांदी के फर्नीचर हैं जो बहुत सुंदर हैं।  इस खूबसूरत फर्नीचर पर एक सुंदर डिजाइन है जिसे गिर  के शेरों के रूप में दर्शाया गया है।  बेल्जियम से आयातित चांदी की कुर्सियाँ, मेजें आदि बहुत अच्छी लगती हैं।  दरबार हॉल को चेकोस्लोवाकिया, फ्रांस, इंग्लैंड और अन्य देशों से आयातित सामानों से सजाया गया है।  दरबार हॉल में नवाबों को मिली फ्रेंच घड़ियां, पानदान, हुक्का, इत्र के डिब्बे आदि हैं।  आप दरबार हॉल में प्रवेश नहीं कर सकते, लेकिन बाहर खड़े होकर देख सकते हैं।  आप तस्वीरें ले सकते हैं।
दरबार हॉल के बगल में एक कांच का कमरा हैं जिसे गलास हाऊस कहते है।  एक कमरे में चांदी की सुंदर डोलियां बनी हुई  हैं।  रानियां इन डोली में बैठकर शाही समारोहों में शामिल होती थीं।  दूसरे कमरे में नवाबों के कालीन  रखे हुए हैं।
मैं जूनागढ़ संग्रहालय की एक सुंदर यात्रा के बाद बाहर आया।
धन्यवाद।

चांदी के बर्तन मयुजियिम के अंदर

Photo of Junagadh Museum by Dr. Yadwinder Singh

दरबार हाल जूनागढ़ मयुजियिम चांदी की कुर्सियों से सजा है।

Photo of Junagadh Museum by Dr. Yadwinder Singh

हथियार

Photo of Junagadh Museum by Dr. Yadwinder Singh

खूबसूरत फूलदान

Photo of Junagadh Museum by Dr. Yadwinder Singh

खूबसूरत गलीचे

Photo of Junagadh Museum by Dr. Yadwinder Singh

More By This Author

Further Reads