ये हैं देश के 5 सबसे डरावने रेलवे स्टेशन, शाम ढलते ही पसर जाता है सन्नाटा

Tripoto
20th May 2021
Photo of ये हैं देश के 5 सबसे डरावने रेलवे स्टेशन, शाम ढलते ही पसर जाता है सन्नाटा by kapil kumar
Day 1

देश के कुल 7349 रेलवे स्टेशनों में कुछ ऐसे रेलवे स्टेशन भी हैं, जो बेहद डरावने हैं या यूं कहिए कि भूतिया है. आज हम यहां आपको देश के 5 सबसे डरावने रेलवे स्टेशनों के बारे में बताने जा रहे हैं.
रोजाना करोड़ों सवारियों को ढोने वाली भारतीय रेल, दुनिया का चौथा सबसे बड़ा रेल नेटवर्क है. भारतीय रेल के मुताबिक देशभर में कुल रेलवे स्टेशनों की संख्या 7349 है, जिनमें सभी बड़े और छोटे रेलवे स्टेशन शामिल हैं. इसके अलावा देश में और भी कई जगहों पर रेलवे स्टेशन बनाए जाने की प्लानिंग चल रही है, इसके साथ ही कई जगहों के लोग सरकार से अपने क्षेत्र में भी नए रेलवे स्टेशन की मांग करते रहते हैं. देश के कुल 7349 रेलवे स्टेशनों में कुछ ऐसे रेलवे स्टेशन भी हैं, जो बेहद डरावने हैं या यूं कहिए कि भूतिया (Haunted) है. आज हम यहां आपको देश के 5 सबसे डरावने रेलवे स्टेशन के बारे में बताने जा रहे हैं.

Day 2

1. बेगुनकोदर रेलवे स्टेशन
पश्चिम बंगाल के पुरुलिया जिले में स्थित बेगुनकोदर रेलवे स्टेशन रेलवे स्टेशन की अपनी ही कहानी है. यह देश के सबसे डरावने रेलवे स्टेशनों में गिना जाता है. बेगुनकोदर रेलवे स्टेशन के बारे में कहा जाता है कि यहां आने वाले यात्रियों ने सफेद साड़ी पहनी एक महिला भूत को देखा है. इसके अलावा इस रेलवे स्टेशन से जुड़ी और भी कई डरावनी कहानियां हैं. स्टेशन से जुड़ी इन्हीं भूतिया दावों की वजह से इसे 42 सालों तक बंद रखा गया. हालांकि, इसे साल 2009 में एक बार फिर सेवाओं के लिए खोल दिया गया.

Day 3

2. बड़ोग रेलवे स्टेशन
हिमाचल प्रदेश के सोलन जिले में स्थित बड़ोग रेलवे स्टेशन भी देश के सबसे डरावने रेलवे स्टेशनों में शुमार है. कालका-शिमला रेल रूट पर आने वाला ये छोटा-सा रेलवे स्टेशन देखने में जितना खूबसूरत है, उतना ही डरावना और भूतिया भी है. इस रेलवे स्टेशन के ठीक बगल में एक सुरंग है, इसे बड़ोग सुरंग कहा जाता है. दरअसल, इस सुरंग का निर्माण एक ब्रिटिश इंजीनियर कर्नल बड़ोग ने कराया था. बाद में उन्होंने आत्महत्या कर ली थी. कहा जाता है कि बड़ोग सुरंग में कर्नल बड़ोग की आत्मा घूमती-फिरती है.

Day 4

3. चित्तूर रेलवे स्टेशन
देश के सबसे डरावने रेलवे स्टेशनों की लिस्ट में आंध्र प्रदेश के चित्तूर जिले में स्थित चित्तूर रेलवे स्टेशन का नाम भी शामिल है. स्टेशन के आसपास रहने वाले लोगों का कहना है कि एक बार इस स्टेशन पर सीआरपीएफ का जवान हरी सिंह ट्रेन से उतरा था. ट्रेन से उतरने के बाद उसे आरपीएफ और टीटीई ने मिलकर इतना पीटा कि उसकी मौत हो गई थी. उसके बाद से ही सीआरपीएफ जवान हरी सिंह की आत्मा इंसाफ के लिए इस रेलवे स्टेशन पर ही भटकती रहती है.

Day 5

4. मुलुंड रेलवे स्टेशन
महाराष्ट्र की राजधानी मुंबई में स्थित मुलुंड रेलवे स्टेशन देश के भूतिया रेलवे स्टेशनों में गिना जाता है. इस रेलवे स्टेशन पर आने वाले यात्रियों और आसपास रहने वाले लोगों का दावा है कि उन्हें यहां लोगों के चीखने-चिल्लाने के साथ-साथ रोने की भी आवाजें सुनाई देती हैं. उनका कहना है कि ये आवाजें उन लोगों की हैं, जो इस रेलवे स्टेशन की लाइनों को पार करते वक्त हादसे का शिकार हो गए थे

Day 6

5. नैनी रेलवे स्टेशन
उत्तर प्रदेश के प्रयागराज में स्थित नैनी जंक्शन रेलवे स्टेशन भी भूतिया कहा जाता है. रेलवे स्टेशन के नजदीक ही नैनी जेल भी है. इस जेल में देश की आजादी में अहम योगदान देने वाले कई स्वतंत्रता सेनानी बंद थे, जिन्हें यहां कई तरह की भीषण यातनाओं का सामना करना पड़ा था. जेल में बंद कई स्वतंत्रता सेनानी तो यातनाओं की वजह से मारे गए थे. बताया जाता है कि इस रेलवे स्टेशन पर उन्हीं स्वतंत्रता सेनानियों की आत्माएं घूमती हैं.