दिल दहला देंगी गोआ की ये भूतिया जगहें

Tripoto

भारत आने वाला लगभग हर विदेशी गोवा ज़रूर जाता है और भारतीय तो छुट्टी मिलते ही गोवा जाने के सपने देखने लगते हैं | बीच के किनारे आरामदेह छुट्टियाँ मनाने की आज़ादी की वजह से गोवा हम सभी के दिलों में बसता है | मगर गोवा में इतना ही नहीं है | गोवा में कई चर्च भी हैं जहाँ भटकते भूतों की कहानी लगभग सभी जानते हैं | ये कहानियाँ कितनी सच है और कितनी मंघाड़ंत ये तो हम नहीं जानते, मगर एक बात ज़रूर है, इन डरावनी जगहों पर घूमते हुए ये कहानियाँ काफ़ी दिलचस्प  है | तो अगर जल्द ही गोवा जा रहें हैं तो इन भूतहा जगहों के बारे में जान लें ताकि इन्हें देखने या इनसे दूर रहने का मन बना सकें |

थ्री किंग्स चर्च

भूतहा चर्चआ सुनने में अजीब लग सकता है लेकिन डर तब लगेगा जब आप गोवा के थ्री किंग्स चर्च की कहानी सुनेंगे | कहानियों के मुताबिक इस चर्च में राजपाट के लालच में एक राजा ने अपने साथी दो राजाओं की धोखे से हत्या करवा दी थी | बाद में इसी राजा ने भी इसी चर्च में ज़हर खा कर आत्महत्या कर ली | कहा जाता है कि तभी से चर्च में इन तीनों राजाओं की आत्माएँ भटकती रहती है | स्थानीय लोगों और सैलानियों ने इस चर्च से अजीब सी आवाज़ें सुनी और किसी बुरी शक्ति को महसूस किया है | इस चर्च से शाम का सूर्यास्त बड़ा प्यारा दिखता है मगर ख़ौफ़ के कारण ज़्यादातर लोग दोपहर में ही यहाँ से जाना शुरू कर देते हैं |

इगोरचेम बांध

अगर दिन दहाड़े आपके साथ कुछ खौफनाक घट जाए तो डर तो लगेगा ही | रैरा की ओर जाते हुए रास्ते में आपने वाला इगोरचेम बांध भी ऐसी भूतहा घटनाओं के लिए बदनाम है | वैसे तो ये शांत और एकांत रास्ता बड़ा प्यारा लगता है, मगर यहाँ से गुज़रने वालों की धड़कनें रोक देता है | ये जगह रैरा गाँव के पास चर्च ऑफ लेडी स्नो के पीछे है | लोगों का मानना है कि दिन में 2 से 3 के बीच यहाँ से गुज़रने से आपमें शैतानी रूह प्रवेश कर लेती है | इस खौफनाक रास्ते पर दिन दहाड़े डरावने कांड हुए हैं | तो अगर इस सड़क पर चलने का काम पड़े तो समय का ज़रूर ध्यान रखें |

जकनी बाँध

नवेलिम और ड्रामपुर के बीच बना ये अस्थाई पुल भी गोवा की डरावनी जगहों में से एक है | इस जगह की कहानी काफ़ी दुख भरी है | कुछ साल पहले बच्चो से भरी एक स्कूल बस इस अस्थाई पुल से नीचे गिर गयी थी और इस हादसे में कोई नहीं बच पाया | आज भी सूर्यास्त के बाद जकनी बाँध से रोते, चिल्लाते और चीखते बच्चों की आवाज़ें सुनाई देती है |

एनएच 17 मुंबई-गोवा हाइवे

मुंबई-गोवा हाइवे के नाम से जानी जाने वाली इस जगह को यहाँ के नज़ारों के अलावा एक और चीज़ के लिए जाना जाता है | स्थानीय लोगों का मानना है कि इस रास्ते पर भूखी चुड़ालें और भूत, मुर्दों के माँस की तलाश में भटकते रहते हैं | तो सूर्यास्त के बाद इस रास्ते से गुज़र रहे हैं तो साथ माँस ना रखें, नहीं तो ये प्रेत आपके पीछे लग जाएँगे | कुछ लोगों ने जब अपनी गाड़ी में माँस-मछली ले जाने की कोशिश की, तो उनकी गाड़ी बेकाबू हो गयी | तो डिलीवरी छोड़िए, यहाँ से गुज़र रहे हैं तो आस-पास से खा कर चलें |

बत्यखोल

धवली और बोरी के बीच गोवा का एक और भूतहा स्थल है जिसका नाम है बत्यखोल | ये जगह फिल्मों जैसी डरावनी घटनाओं के कारण जानी जाती है | रात के समय इस रास्ते से गुज़रते ड्राइवरों ने सड़क के बीचों बीच मदद के लिए चिल्लाती औरत को देखा है | गाड़ी रोकना तो बेवकूफी भरा काम होगा ही, मगर उससे भी बुरा होगा अगर आपने आगे बढ़ने के बाद उस औरत को पीछे मुड़ कर देख लिया | यहाँ कई ड्राइवरों का गाड़ी पर से काबू छूटा है और अगर किसी ने पीछे मुड़कर देखा तो सड़क पर कोई दिखाई नहीं देता | दिल दहला देने वाले दृश्य और आवाज़ें सुनकर कई ड्राइवरों का गाड़ी पर से काबू खोया है |

सेमीटरी रोड

ये जगह ज़ुआरी नदी के पास बसे गाँव के पास  बने कब्रिस्तान की ओर है | इस आर्च से आती हुई सड़क पर एक पुर्तगाली सैनिक की आत्मा भटकती है | स्थानीय लोगों का मानना है कि ये सैनिक मरने के बाद आज भी अपनी पोस्ट छोड़ने को तैयार नहीं है | लोगों की मानें तो कुछ ख़ास दिनों में ये आत्मा इस रास्ते पर भटकती रहती है और इस जगह में प्रवेश करने वाले अयोग्य लोगों को रोक देती है |

सल्लिगाँव

Photo of दिल दहला देंगी गोआ की ये भूतिया जगहें 3/4 by लफंगा परिंदा

पणजी से 15 कि.मी. दूर सल्लिगाँव भी गोआ की डरावनी जगहों में से एक है | ये जगह यहाँ के चर्चों के कारण ही नहीं बल्कि यहाँ भटकने वाली क्रिस्टालीना नामक आत्मा के कारण भी जानी जाती है | गाँव में लगा बरगद का पेड़ इस आत्मा का निवास स्थान माना जाता है | कहानियों के मुताबिक जब एक खोया हुआ पुर्तगाली आदमी यहाँ पाया गया तो उसके शरीर पर चोट और खरोंचों के निशान थे | पूछने पर उसने बताया कि इस जनानी प्रेत ने उसकी इज़्ज़त लूटी है | दिन में इस पेड़ को देखने सैलानी आ भी जाते हैं, मगर सूरज ढलते ही यहाँ मौत सी चुप्पी छा जाती है |

बोरिम ब्रिज

इस ब्रिज की डरावनी कहानी एक जनाना प्रेत की है | लोगों ने इस पुल पर एक औरत को खड़े देखा है | जब औरत के करीब जाओ तो वो पानी में छलाँग लगा देती है | अगर कोई ड्राइवर मदद के लिए आगे आता भी है तो उसके हाथ कुछ नहीं आता है | वापिस जाकर गाड़ी में बैठने पर ड्राइवर को वही औरत पीछे की सीट पर बैठी दिखाई देती है | माना जाता है कि इस पुल पर किसी पागल औरत की आत्मा भटकती है | जिसने भी प्रेत को देखने की कहानी सुनाई है वह किसी वजह से बीमार हो गया है | बीते समय में हुई घटनाओं के मद्देनज़र कोई भी आधी रात के समय ये पुल पार करने की हिम्मत नहीं करता |

डी'मेलो हाउस

सांटीमोल का डी'मेलो हाउस गोआ की सबसे डरावनी जगहों में से एक है | इस सुनसान घर को भूतहा होने के कारण कोई नहीं खरीदता | स्थानीय लोगों की सुनाई कहानियों के मुताबिक इस घर में दो भाई रहते थे | संपत्ति के कारण हुए विवाद की वजह से एक ने दूसरे की हत्या कर दी | तभी से लोगों को इस विवादित घर से अजीबो-ग़रीब आवाज़ें सुनाई देती है | रात में लोगों ने इस घर से आती चीखें भी सुनी है | माना जाता है कि ये आवाज़ें मुर्दा भाई की है |

रॉड्रिग्स होम

भूतहा कहानी में एक घर ज़रूर होता है जहाँ से सबकुछ शुरू हुआ | दक्षिणी गोआ जिला मुख्यालय मडगाँव से 10 कि.मी. दूर वारना गाँव में घर स्थित है | ये एक साधारण-सा सुंदर मकान है जिसमें आज भी रॉड्रीग्स परिवार रहता है | कहानी की पेचीदगी ये है कि परिवार के साथ प्रेत भी रहते हैं | इस बंगले से अदृश्य शक्तियों और अजीब हादसों की खबरें आई हैं | स्थानीय लोगों के मुताबिक इस घर के खिड़की-दरवाज़े अपने आप खुलते और बंद हो जाते हैं, लाइटें जलती बुझती रहती हैं, रसोई का सामान अपने आप हिलने लगता है और आधी रात में चादर-तकिये गायब हो जाते हैं | इतना सब किसी का भी दिल दहला देने के लिए काफ़ी है |

गोआ के भूतिया घर शायद यहाँ के और पर्यटन स्थलों जितने लोकप्रिय ना हों, मगर यहाँ घूमने में रोंगटे खड़े ज़रूर होते हैं |

क्या आप किसी भूतहा जगह के बारे में जानते हैं | अपनी कहानी Tripoto पर बाँटें

यात्रा की प्रेरणा लेने के लिए Tripoto का यू ट्यूब चैनल सबस्कराइब करें|

यह आर्टिकल अनुवादित है | ओरिजिनल आर्टिकल पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करें |

Be the first one to comment