इकलौता वीज़ा-फ्री यूरोपीय देश : एक यात्रा सर्बिया की ओर

Tripoto
Photo of इकलौता वीज़ा-फ्री यूरोपीय देश : एक यात्रा सर्बिया की ओर 1/6 by लफंगा परिंदा
सासा पेट्रोविक द्वारा ली गयी तस्वीर

सर्बिया

सर्बिया एक ऐसा देश है जिसे देख कर लगता है जैसे यहाँ के समय को बोतल में सहेज कर रखा गया है | यहाँ के शहर कलात्मक संरचनाओं से सजे हैं, किले ऐसे जैसे साक्षात परी कथाओं से निकले हैं | आधे अधूरे बने रूढ़ीवादी गिरिजाघर, यूरोप के सर्वोत्कृष्ट चौक, युद्ध के समय के खंडहर, सड़क किनारे बने अनोखे कैफ़े, पारंपरिक व्यंजन और रंगीन शामें लिए सर्बिया एक अलग ही नज़ारा प्रस्तुत करता है | इतना कुछ होते हुए भी शहरों में अभी भी वही पुरानी 20वी सदी के यूरोप की रौनक दिखती है | इक्का दुक्का सैलानियों के साथ सर्बिया भी हंगरी या चेक गणराज्य जैसा लगता है बस यहाँ पर इन देशों जैसी सैलानियों की भीड़ नहीं है |

अगर सर्बिया के शहरों से भव्यता जहलकती है तो यहाँ के गाँवों के इलाक़ों से संस्कृति की सौंधी महक उठती है | वो लोग जो सर्बिया के मध्यकालीन शहरों की रौनक से आगे बढ़ कर कुछ देखना चाहते है उनके देखने के लिए गाँवों में लकड़ी से बने घरौंदे, पत्थर से बने रास्ते और पुल, ईसाई मठ और एक रोमन कस्बा भी है | प्रकृति प्रेमियों के लिए सर्बिया में कई अचरज भरी चीज़ें हैं जैसे चंद्रमा सी ज़मीन, शानदार पहाड़, सुंदर घटियाँ और डैन्यूब नदी के आस पास के अद्भुत नज़ारे |

वीज़ा

पिछले सितंबर में सर्बिया द्वारा की गयी घोषणा के अनुसार भारतीय अब 30 दिनों की अवधि के लिए वीज़ा के बिना सर्बिया में रह सकते हैं। यह भारतीयों को वीज़ा मुक्त प्रवेश की अनुमति देने वाला पहला यूरोपीय देश बन गया है | तो अब आपको सर्बिया जाने के लिए केवल पासपोर्ट और फ्लाइट टिकट की ज़रूरत है। सर्बिया दुनिया के 78 देशों के नागरिकों को वीज़ा मुक्त प्रवेश की अनुमति देता है।

सर्बिया यात्रा क्यों करें?

ये कुछेक कारण हैं जिनके मद्देनज़र आपको सर्बिया घूमने जाना चाहिए :

बेलग्रेड

बेलग्रेड में पुराने समय का आकर्षण महसूस किया जा सकता है | सेल्ट, रोमन, स्लेव, बाइज़ेंटियाई, बुल्गेरियाई, ऑस्ट्रो-हंगरी के लोगों और ओटोमन साम्राज्य के तुर्की लोगों सहित बहुतों ने बेलग्रेड पर शासन किया है | इन सभी समुदायों ने बेलग्रेड पर अपनी छाप छोड़ी है | इस शहर के लिए लगभग 115 युद्ध लदे गये हैं और इसे 44 बार जलाया भी गया है | फिर भी सर्बिया के लोगों का जज़्बा आज भी उतना ही मज़बूत है जितना यहाँ के वास्तुकला के कुछ नमूने |

क्या देखें

1. डेन्यूब और सावा नदियों के संगम पर स्थित लंबे चौड़े बेलग्रेड के किले को निहारिए |

2. संत सावा की याद में बने रूढ़ीवादी गिरिजाघर के दर्शन कीजिए जहाँ का गुंबद 400 फीट ऊँचा है और गुंबद के ऊपर 40 फीट ऊँचा सोने की सूली बनी है |

3. स्काडारलिजा सड़क के किनारे स्थित बोहीमीयन शैली के बार, रेस्तराँ और कैफ़े में खाने पीने का लुत्फ़ उठायें |

4. एतिहासिक इमारतों के दौरे पर निकल जाएँ और कनीज़ मिहाइलोवा स्ट्रीट पर वाजिब दुकानों पर खरीदारी का मज़ा लें |

5. सैंट मार्क के 80 साल पुराने मुख्य गिरिजाघर के दर्शन के लिए जाएँ जहाँ के तहख़ाने में कई शासकों को दफ़नाया गया है |

कहाँ रहें: सिटी ब्रेक हॉस्टल, होटल स्लाविया। और अधिक विकल्पों के लिए यहाँ क्लिक करें |

नोवी साद

नोवी साद के एक्ज़िट फेस्टिवल में बजने वाले तरानों पर झूम उठेंगे

दुनिया के सबसे बड़े जश्न में शरीक होने पूरी दुनिया भर से लोग नोवी साद आते हैं | पूरे विश्व के जाने माने संगीतकार यहाँ होने वाले एक्ज़िट फेस्टिवल में सम्मिलित होने के लिए आते हैं | ये फेस्टिवल पूरे शहर को एक अलग ही रंग में रंग देता है जहाँ लोग आज़ादी से खुले आसमान के तले नाच गा सकते है और शराब पी सकते हैं व एक दूसरे के संग मस्ती कर सकते हैं | एक्ज़िट फेस्टिवल हर साल जुलाई में आयोजित होता है |

एक्ज़िट फेस्टिवल पेट्रोवाराडिन किले पर आयोजित होता है | पेट्रोवाराडिन किला 17वी शताब्दी की संरचना है जिसे "डेन्यूब पर स्थित जिब्राल्टर" भी कहा जाता है | ये भव्य किला डेन्यूब नदी के दाहिने किनारे पर स्थित है और इसे आज तक कोई फ़तेह नहीं कर पाया है | नोवी साद की अन्य घूमने लायक जगहों मे ड्वोरैक डंडजेर्स्की का महल, अमर शहीद सैंट जॉर्ज का चर्च और ओल्ड टाउन हॉल शामिल हैं।

कहाँ रहें :

अल्टरना होम हॉस्टल

माजा गेस्ट हाउस

ज़्लातिबोर

ज़्लातिबोर जिले में सर्बिया का ग्रामीण जीवन महसूस करें |

ज़्लातिबोर को अक्सर 'प्रकृति, रचनात्मकता और कला' का जबरदस्त मिश्रण कहा जाता है। सर्बिया का यह पश्चिमी कोना दूर दूर तक फैले हरी भरी घास के मैदानों के बीच बसे शांत गाँवों और विशाल पर्वतों पर उगे रंग बिरंगे खुशबूदार फूलों से सज़ा हुआ है | ज़्लातिबोर पूरे साल भर घूमने जाया जा सकता है, सर्दियों में स्कीइंग करने और गर्मियों में चढ़ाई करने | अगर चाहें तो गाँवों की शांति में स्थानीय लोगों के साथ आराम से रहें और समय की कोई चिंता ना करें |

क्या देखें

1. एमीर कुस्टुरिका नाम के निर्देशक की कल्पना के अनुसार निर्मित एथनो-गांव ड्रवेनग्रेड पर जायें | यह बहुत खूबसूरती से माउंट तारा और माउंट ज़्लातिबोर के मिलने के स्थान पर स्थित है |

2. सरगान एट ट्रेन पर सवारी करें जो गहरे चट्टानी घाटियों, सुरंगों और पुलों से गुज़रती है

3. मोकर गोरा राष्ट्रीय उद्यान की प्राकृतिक सुंदरता में खो जाइए |

4. लकड़ी के घरों, पारंपरिक कपड़े, अद्वितीय रीति-रिवाजों और पर्वत जीवन शैली को देखने के लिए सिरोगोजनो के 19वीं शताब्दी के पहाड़ी गांव पर जाएं

कहाँ रहा जाए:

विला बोज़ोविक

वीला स्लाविका

ड्ज़ेरदप नसजोनालपर्क

ड्ज़ेरदप राष्ट्रीय उद्यान में प्रकृति के उपहार का आनंद लें

डीजेडप नेशनल पार्क में यूरोप की सबसे बड़ी और सबसे लंबी घाटी स्थित है जिसका नाम है दरदप्स्का कालिसुरा | इस घाटी को लौह द्वार भी कहते हैं क्यूंकी पुराने समय में इस घाटी को पार करना यात्रियों, दूतों और योद्धाओं के लिए एक चुनौतीपूर्ण कार्य था | डेन्यूब नदी के बहाव के कारण बनी इस घाटी की लंबाई 100 किलो मीटर है और यहाँ की कुछ पहाड़ियों के शिखर तो लगभग 300 मीटर ऊँचे हैं | चट्टानों को काट कर साँप की तरह सरसराकर बहने वाली डेन्यूब नदी का दृश्य बड़ा ही लुभावना लगता है | राष्ट्रीय उद्यान में 1,100 से अधिक पौधों की प्रजातियां हैं। भालू, लिंक्स, भेड़िया, जैकल, सफेद पूंछ वाले ईगल, उल्लू, और काले रंग का मांस पार्क में देखा जा सकता है। बाइकिंग, कायाकिंग, लंबी पैदल यात्रा, पक्षी-देखने और तैराकी पार्क की कुछ लोकप्रिय गतिविधियों में से कुछ हैं।

क्या देखें

1. 2000 साल पुरानी पुरातात्विक स्थल लेपेंस्की विर पर जाएं

2. गोल्यूबेक किले की सैर पर निकल जाएँ जो पहाड़ी के शीर्ष पर स्थित है |

3. डेन्यूब के पास स्थित प्राचीन किलेदार शहर डायना की यात्रा करें |

कहाँ रहें :

एटनो कॉम्प्लेक्स कपेटन मिसिन (राष्ट्रीय उद्यान से 5.5 किलो मीटर दूर)

डेविल टाउन

डेविल टाउन जाएनिन जहाँ आप को लगेगा कि आप मंगल ग्रह की सतह पर आ गये हैं |

Photo of इकलौता वीज़ा-फ्री यूरोपीय देश : एक यात्रा सर्बिया की ओर 5/6 by लफंगा परिंदा
( श्रेय ) विकीपीडिया

एक पर्वत की ढलान पर लाल रंग के ऊँचे ऊँचे चट्टानों के स्तंभनुमा टुकड़े फैले हैं जो देखने में डरती के किसी भी हिस्से जैसा नहीं लगता | डेविल टाउन जेया कर आपको ऐसा लगेगा जैसे आप मंगल ग्रह की सतह पर आ खड़े हुए हैं | डेविल टाउन में दो घाटियों से भी ज़्यादा बड़े हिस्से में फैली 200 चट्टानों की अद्वितीय संरचनायें हैं | लाल चट्टानों के ये लंबे लंबे स्तंभ सदियों से चले आ रहे क्षरण का परिणाम है जो आज भी जारी है | इसी क्षरण के कारण लगभग रोज़ ही कुछ चट्टानों के स्तंभ टूट कर गिर जाते हैं तो कहीं किसी और जगह पर नये स्तंभ बन जाते हैं |

कहाँ रहा जाए

मोटल स्टारा वृबा (डेविल्स टाउन से 19 किओ मीटर की दूरी पर स्थित)

चखने योग्य व्यंजन

सर्बियाई व्यंजन इतालवी, भूमध्यसागरीय और तुर्की व्यंजनों के स्वाद का मिश्रण है। शाकाहारियों के लिए भी स्वादिष्ट विकल्प बहुत सारे हैं। प्रेबरानाक (बेक्ड बीन्स), जिबानिका (चीज़ पाई), और स्लाटकी कुपूस (मीठी गोभी) कुछ लोकप्रिय शाकाहारी व्यंजन हैं। विभिन्न प्रकार के शाकाहारी पास्ता, पिज्जा, सैंडविच और सलाद भी आसानी से उपलब्ध हैं।

यहाँ की स्थानीय विशिष्टताओं में माँसाहारियों के लिए कैवापसी (सॉसेज), प्लाजस्कैविका (सूअर का मांस पैटीज), पेकेन्जे (भुना हुआ मांस), और विनीज़श्नाइटल हैं। मीठे में कुछ चखने का मन करे तो बकलावा, क्रॉफ़्ने और पालसिंके का लुत्फ़ उठा सकते हैं |

सर्बियाई ब्रांडियाँ किसी स्वादिष्ट चमत्कार से कम नहीं है | आप को सर्बिया में आड़ू, आलूबुखारा, अंगूर और अन्य स्थानीय फलों से बनी ब्रांडियाँ आसानी से मिल जाएँगी | इन ब्रांडियों को स्लिवोविट्ज़ के नाम से भी जाना जाता है। राकिजा एक और लोकप्रिय ब्रांडी है जो जड़ी-बूटियों, फलों और शहद के साथ डिस्टिल आरके बनाई जाती है | घरेलू बियर जीन एंड लव भी चखी जा सकती है |

कब जाना है

सर्बिया की यात्रा का सबसे अच्छा समय अप्रैल से अक्टूबर है जब तापमान 20 से 30 सेल्सियस के बीच रहता है।

सर्दियां शून्य होने से ठंड और बर्फीली होती है। स्कीइंग के शौकीन नवंबर से फरवरी तक सर्बिया का दौरा कर सकते हैं।

कहाँ घूमें

बेलग्रेड में घूमने के लिए सार्वजनिक परिवहन के साधन जैसे ट्राम और बसें आसानी से उपलब्ध हो जाती हैं | अगर आपको टैक्सी से आना जाना है तो वह भी हर जगह मिल जाएगी | बेलग्रेड से सर्बिया के अन्य हिस्सों और यूरोप तक जाने के लिए कई ट्रेनें और बसें भी हैं। ट्रेन आमतौर पर बसों की तुलना में सस्ती हैं। बसें बुक करने के लिए यहाँ क्लिक करें और ट्रेनें बुक करने के लिए यहाँ क्लिक करें |

लागत

नई दिल्ली से बेलग्रेड तक का हवाई किराया: 32,000 बेल (आने और जाने का औसत खर्च मिला कर)

इंटरसिटी बस टिकट का किराया: 100 बेल (एक-तरफ़ा लागत)

टैक्सी का शुरुआती भाड़ा: 46 बेल प्रति किलो मीटर

होटल में ठहराने का किराया: 600 रुपये

होस्टल में रहने का किराया: 300 रुपये

एक दिन के लिए भोजन का खर्च: 500 रुपये

क्या आप कभी सर्बिया गए हैं? या क्या आप कभी इस अद्भुत वीजा-मुक्त देश की यात्रा करना चाहेंगे? नीचे दिए कमेंट बॉक्स में अपने विचार और अनुभव लिखें | या चाहें तो अपने स्वयं की कहानी ट्रिपोटो पर लिख कर पूरी दुनिया के साथ बाँटें | ज़बरदस्त वीडियो देखने के लिए ट्रिपोटो का यूट्यूब चैनल सब्सक्राइब करें।

यह आर्टिकल अनुवादित है | ओरिजिनल आर्टिकल पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करें |

Be the first one to comment