IRCTC का जबरदस्त तोहफा: बिना जेब खाली करे कर सकते हैं इन धार्मिक स्थलों की यात्रा! जानें पूरी डीटेल

Tripoto
Photo of IRCTC का जबरदस्त तोहफा: बिना जेब खाली करे कर सकते हैं इन धार्मिक स्थलों की यात्रा! जानें पूरी डीटेल by Deeksha

ट्रेनें सही मायनों में भारत की जान हैं। अगर इन ट्रेनों को एक दिन के लिए रोक दिया जाए तो पूरा देश तो क्या उसके साथ-साथ देश की अर्थव्यवस्था में भी भूचाल आ जाएगा। हमें ट्रेन में जब भी सफर करना होता है हम सबसे पहले भारतीय रेलवे यानी आईआरसीटीसी की ऑफिशियल वेबसाइट पर जाकर टिकट बुकिंग करना पसंद करते हैं। अब अगर घुमक्कड़ी में हमारा सबसे जिगरी साथी ही हमें देश के अलग-अलग हिस्सों को बेहद कम पैसों में घूमने का मौका दे रहा है तो आखिर ये जबरदस्त स्कीम किसको नहीं अच्छी लगेगी। आईआरसीटीसी की इस नई स्कीम के तहत आपको बेहद कम खर्च में देश के कुछ प्रसिद्ध धार्मिक स्थलों को घूमने का मौका मिल रहा है। तो अब देर किस बात की?

क्या है ये स्कीम?

इंडियन रेलवे कैटरिंग एंड टूरिज्म कॉर्पोरेशन यानी आईआरसीटीसी देश के सभी घुमक्कड़ों के लिए एक बेहद लाजवाब स्कीम लेकर आया है। इस स्कीम में आप देश के कुछ धार्मिक स्थलों को बहुत कम पैसों में देख सकते हैं। इस स्कीम को लेने के लिए आपको आईआरसीटीसी का पुरी गंगासागर यात्रा पैकेज लेना होगा जिसमें मात्र 9,450 रुपए में आप देश के कई मशहूर धार्मिक स्थलों की यात्रा कर सकते हैं। 9 रातों और 10 दिन वाले इस पैकेज में आपको कुछ ज्योतिर्लिंगों की यात्रा करने का भी मौका मिलेगा। इस पैकेज को बुक करने के लिए आपको आईआरसीटीसी की आधिकारिक वेबसाइट पर जाकर बुकिंग करनी होगी।

क्या है शामिल?

इस पैकेज में आपको देश के अलग-अलग कोनों में स्थित तमाम ऐसे स्थलों की यात्रा करने का मौका मिलेगा जिन्हें देखने के लिए वैसे आपको बहुत ज्यादा पैसे खर्च करने पड़ते थे। लेकिन आईआरसीटीसी की इस शानदार स्कीम के चलते अब आपको अपनी जेब खाली करने की भी कोई जरूरत नहीं पड़ेगी। इस पैकेज को लेने के बाद आप बैद्यनाथ, गंगासागर, गया, पुरी और कोणार्क की यात्रा कर सकते हैं।

बैद्यनाथ: इस पैकेज में आपको बैद्यनाथ घुमाया जाएगा जो देश के 12 ज्योतिर्लिंगों में से एक है। झारखंड के संथाल में स्थित इस मंदिर की बहुत मान्यता है। भक्तों का कहना है कि इस मंदिर में मांगी हुई हर कामना पूरी होती है। शायद इसलिए बैद्यनाथ को कामना लिंग भी कहा जाता है।

गंगासागर: गंगासागर द्वीप हिन्दू धर्म को मानने वाले लोगों के लिए बहुत महत्वपूर्ण जगह है। हर साल मकरसंक्रांति के दिन देश के सभी हिस्सों से लोग गंगासागर में इकट्ठा होते हैं। गंगा नदी और बंगाल की खाड़ी के संगम में डुबकी लगाना बहुत शुभ माना जाता है।

गया: अगर आपको भारत के इतिहास में रुचि है तो आपको भारत और बौद्ध धर्म के अटूट रिश्ते के बारे में जरूर मालूम होगा। गया देश के उन महान धार्मिक स्थलों में से है जिसको देखने के लिए केवल भारत ही नहीं बल्कि दुनिया के हर हिस्से से लोग आते हैं। बिहार में स्थित इस जगह को भी पैकेज में शामिल किया गया है।

पुरी: जगन्नाथ मंदिर के लिए मशहूर ओडिशा का पुरी भी आईआरसीटीसी की इस शानदार स्कीम का हिस्सा है। जगन्नाथ मंदिर देश के 4 धामों में से एक है जो लोगों के बीच बहुत महत्वपूर्ण है।

कोणार्क: ओडिशा का सूर्य मंदिर देखने के लिए दुनिया के हर हिस्से से लोग आते हैं। ये जगह धार्मिक होने के साथ-साथ एक बेहद खूबसूरत जगह भी है।

ये भी जान लें

पैकेज का नाम: पुरी गंगासागर यात्रा (NZTT06)

कीमत: यदि आप स्लीपर कोच से सफर करना चाहते हैं तो उसके लिए आपको 9,450 रुपए प्रति व्यक्ति के हिसाब से किराया देना होगा। वहीं अगर आप एसी थर्ड क्लास में सीट चाहते हैं तो उसके लिए आपको 15,750 रुपए भरने होंगे।

समय: इस पैकेज को लेने के बाद आप 9 रातों और 10 दिनों का सफर कर सकते हैं।

कबसे होगी शुरुआत: 1 अप्रैल, 2021

• इस पैकेज में आपके खाने की भी पूरी व्यवस्था करी गई है। इसमें आपका सुबह का नाश्ता, लंच और रात का खाना भी जुड़ा हुआ है। इसलिए आप आराम से अपनी ट्रिप का मजा उठा सकते हैं।

• इस पैकेज में सभी यात्रियों के ठहरने की व्यवस्था भी की गई है। यदि आपने स्लीपर का टिकट लिया है तो आपको डॉरमेट्री या हॉल में रुकने का विकल्प मिलेगा। अगर आपने एसी थर्ड क्लास में बुकिंग की है तो आपको बजट होटल में रुकने का ऑप्शन दिया जाएगा।

• लोकल घूमने के लिए बसों की व्यवस्था भी की गई है जिसकी कीमत टिकट में जुड़ी हुई है।

• इस ट्रिप की शुरुआत सुबह 5 बजे जालंधर सिटी स्टेशन से होगी।

बोर्डिंग/डी बोर्डिंग: जालंधर सिटी, लुधियाना, चंडीगढ़, अंबाला कैंट, कुरुक्षेत्र, करनाल, पानीपत, दिल्ली कैंट, रेवाड़ी, अलवर, जयपुर, आगरा फोर्ट, कानपुर, इटावा, लखनऊ, सुल्तानपुर, जौनपुर सिटी और वाराणसी कैंट।

क्या आपने हाल में कोई यात्रा की है? अपने अनुभव को शेयर करने के लिए यहाँ क्लिक करें

बांग्ला और गुजराती में सफ़रनामे पढ़ने और साझा करने के लिए Tripoto বাংলা और Tripoto ગુજરાતી फॉलो करें।

Tripoto हिंदी के इंस्टाग्राम से जुड़ें और फ़ीचर होने का मौक़ा पाएँ।