मेहरानगढ़ किले के शानदार नजारे और बेहतरीन सुविधाओं के लिए परफेक्ट है जोधपुर का ये होटल

Tripoto

राजस्थान के सबसे खूबसूरत शहर में से एक है, जोधपुर। इस ब्लू सिटी को हम अपनी कल्पना में सहेजते हैं। हर कोई इस शहर को सिर्फ देखना नहीं, समझना चाहता है। यहाँ के खूबसूरत मेहरानगढ़ किला और उम्मेद भवन पैलेस में खो जाना चाहते हैं। जोधपुर राजस्थान का ऐसा खजाना है जिसके लिए आज भी वो फेमस है। इस शहर को समझना है तो यहाँ रूकना होगा। इसके लिए आपको जोधपुर के पहले बुटीक होटल में रहना चाहिए। यहाँ आकर आपको लगेगा कि आप किसी पुराने वक्त में लौट आए हैं। रास होटल वैसा ही जैसा ये शहर है, खूबसूरत।

Photo of मेहरानगढ़ किले के शानदार नजारे और बेहतरीन सुविधाओं के लिए परफेक्ट है जोधपुर का ये होटल 1/10 by Rishabh Dev
श्रेय: रास।

रास होटल जिस बिल्डिंग में बना है वो 18वीं शताब्दी की खूबसूरत हवेली है। जिसे थोड़ा आधुनिक रूप दे दिया गया है। इस वजह से आपको यहाँ आकर लगेगा कि आप किसी होटल में नहीं, हवेली में हों। पुराने समय में जोधपुर की हवेलियों की बनावट अंदाजा इस होटल से लगा सकते हैं। होटल के हर कमरे से मेहरानगढ़ किले का शानदार नजारा देखने को मिलता है। इस किले को 2008 में टाइम पत्रिका में एशिया का बेस्ट किला के रूप में दर्ज किया गया था।

Photo of मेहरानगढ़ किले के शानदार नजारे और बेहतरीन सुविधाओं के लिए परफेक्ट है जोधपुर का ये होटल 2/10 by Rishabh Dev
श्रेय: रास।

रास होटल

अगर आप इतिहास में थोड़ी-सी भी रूचि रखते हैं तो ये शहर आपके लिए परफेक्ट है और ये होटल आपको सुकून देगा। इस होटल में 28 कमरे हैं जिनमें 8 सुइट्स भी हैं। जिसे दो भाइयों निखिलेन्द्र और धनंजय सिंह ने डिजाइजन किया है। इस होटल की बनावट आपको पसंद आएगी। जो बहुत कुछ राजपूताना घरों से मेल खाती है। इस होटल की बनावट में आधुनिकता और पुराने समय के गुलाबी बलुआ पत्थर दिखाई देंगे। जोधपुर के रास होटल में रहते हुए आपको इस शहर की वैभवता और राजसी सुंदरता का एहसास होगा। यहाँ आधुनिकता और पुरानेपन का गजब का संगम है जो इसे और भी खूबसूरत बनाता है।

Photo of मेहरानगढ़ किले के शानदार नजारे और बेहतरीन सुविधाओं के लिए परफेक्ट है जोधपुर का ये होटल 3/10 by Rishabh Dev
श्रेय: रास।
Photo of मेहरानगढ़ किले के शानदार नजारे और बेहतरीन सुविधाओं के लिए परफेक्ट है जोधपुर का ये होटल 4/10 by Rishabh Dev
श्रेय: रास।
Photo of मेहरानगढ़ किले के शानदार नजारे और बेहतरीन सुविधाओं के लिए परफेक्ट है जोधपुर का ये होटल 5/10 by Rishabh Dev
श्रेय: रास।
Photo of मेहरानगढ़ किले के शानदार नजारे और बेहतरीन सुविधाओं के लिए परफेक्ट है जोधपुर का ये होटल 6/10 by Rishabh Dev
श्रेय: रास।

फूड

जोधपुर के रास होटल की बनावट और कमरे ही अच्छे नहीं हैं बल्कि यहाँ का खाना भी बेहद लजीज है। इस होटल में दो रेस्टोरेंट हैं जिनके शेफ हैं, विशाल गौतम।

बारादरी

रास होटल के बारादरी रेस्टोरेंट में आप राजस्थान की पारंपरिक डिश का स्वाद ले सकते हैं। अगर आप कोई और डिश लेना चाहते हैं तो वो भी आपको यहाँ मिल जाएगी। यहाँ का खाना बेहद लजीज होता है। इसका अंदाजा आपको यहाँ आने पर लग जाएगा। इस रेस्टोरेंट की खास बात ये है कि यहाँ जो कुछ भी बनता है वो बेहद आर्गेनिक होता है। यहाँ के गाॅर्डन में सब्जी उगाई जाती है, उसी से खाना तैयार होता है।

दरीखाना

जोधपुर के रास होटल में बारादरी के अलावा दरीखाना रेस्टोरेंट भी है। अगर आपका मन कुछ अलफ्रेस्को फूड खाने का मन है तो दरीखाना इसके लिए सही जगह है। पहली मंजिल पर बने इस रेस्टोरेंट से मेहरानगढ़ का शानदार नजारा दिखाई देता है। आप मेहरानगढ़ किले को देखते हुए खाने का स्वाद ले सकते हैं। दरीखाना में जो भी  डिश बनती है उसमें हाथ से तैयार किए मसाले डाले जाते हैं। खासकर एक मसाला जो पुरानी दिल्ली की 200 साल पुरानी दुकान का है। बारादरी की तरह इस रेस्टोरेंट में भी गाॅर्डन की आर्गेनिक सब्जियों से डिशें तैयार की जाती हैं।

ये होटल कुछ खास मौकों पर आपको किसी खास जगह पर डिनर का मौका देता है। इसके लिए आप होटल के लैंडस्केप गाॅर्डन या फिर पूल के किनारे जैसी जगह को चुन सकते हैं। एक कैंडल लाइट जैसा खूबसूरत डिनर आपको ये होटल देता है।

Photo of मेहरानगढ़ किले के शानदार नजारे और बेहतरीन सुविधाओं के लिए परफेक्ट है जोधपुर का ये होटल 7/10 by Rishabh Dev
श्रेय: रास।
Photo of मेहरानगढ़ किले के शानदार नजारे और बेहतरीन सुविधाओं के लिए परफेक्ट है जोधपुर का ये होटल 8/10 by Rishabh Dev
श्रेय: रास।
Photo of मेहरानगढ़ किले के शानदार नजारे और बेहतरीन सुविधाओं के लिए परफेक्ट है जोधपुर का ये होटल 9/10 by Rishabh Dev
श्रेय: रास।
Photo of मेहरानगढ़ किले के शानदार नजारे और बेहतरीन सुविधाओं के लिए परफेक्ट है जोधपुर का ये होटल 10/10 by Rishabh Dev
श्रेय: रास।

खर्च

इस होटल में एक रात रूकने के लिए आपको 10,500 रुपए खर्च करने पड़ेंगे। जिसमें ब्रेकफास्ट भी शामिल होता है। बाकी चीजों के लिए आपको अलग से पैसा देना पड़ेगा।

कब जाएँ?

ये होटल पूरे साल खुला रहता है लेकिन यहाँ आना का सबसे बेस्ट टाइम अक्टूबर से मार्च तक रहता है। इस समय ये शहर भी बेहद अलग और खूबसूरत लगता है।

कैसे पहुँचे?

फ्लाइटः अगर आप फ्लाइट से जोधपुर आना चाहते हैं तो सबसे नजदीकी एयरपोर्ट जोधपुर में ही है। यहाँ के लिए आपको दिल्ली, मुंबई, जयपुर और उदयपुर से आसानी से फ्लाइट मिल जाएगी।

ट्रेन सेः अगर आप जोधपुर ट्रेन से आने की सोच रहे हैं तो जोधपुर में रेलवे स्टेशन है। यहाँ के लिए मुंबई, दिल्ली, जयपुर, बीकानेर, आगरा और जैसलमेर जैसे शहरों से ट्रेन चलती है। जोधपुर रेलवे स्टेशन से रास होटल की दूरी सिर्फ डेढ़ किमी. है।

सड़क सेः जोधपुर पहुँचने का सबसे आसान तरीका है, रोड से। जोधपुर पर आप देश के बड़े-बड़े शहरों से आसानी से पहुँच सकते हैं। ये आगरा, अजमेर, दिल्ली, जैसलमेर और जयपुर से अच्छी तरह से कनेक्टेड है।

क्या करें?

• आप यहाँ जोधपुर के सबसे खूबसूरत और फेमस मेहरानगढ़ किले को देख सकते है। ये किले सुबह 9 बजे से शाम 5 बजे तक खुला रहता है। आप इसे किसी भी वक्त देख सकते हैं लेकिन सुबह के वक्त ये बेहद खूबसूरत लगता है।

• जोधपुर के शाही परिवार मेहरानगढ़ से उम्मेद भवन पैलेस चले गए थे। जहाँ वो आज भी रहते हैं। ये पैलेस कलाकरी और बनावट में ये बेहद खूबसूरत है। यहाँ का अधिकतर हिस्सा अभी लोगों के लिए खुला नहीं है लेकिन कुछ जगहें हैं जिनको आप देख सकते हैं। यहाँ के म्यूजियम को आपको जरूर देखना चाहिए।

• जसवंत थाड़ा के बगीचों में सफेद पत्थर का एक शिलालेख है।

• आपको यहाँ के फेमस और शानदार शैली से बने जैन मंदिरों को देखना चाहिए।

• जब तक आप जोधपुर में सर्राफा बाजार में शाॅपिंग नहीं करते, ये शहर की यात्रा अधूरी ही रहेगी।

• इस पुराने शहर को अच्छे से देखना और समझना है तो जोधपुर में पैदल में घूमें। इसकी व्यवस्था होटल कर्मचारी कर देंगे।

होटल में सुविधाएँ

जोधपुर के रास होटल में आपको वाशिंग मशीन, पार्किंग, स्विमिंग पूल, लाइब्रेरी, स्पा और वाई-फाई जैसी सुविधाएं मिलेंगी।

क्या आपने कभी राजस्थान के जोधपुर की यात्रा की है? अपने सफर का अनुभव यहाँ लिखें।

रोज़ाना वॉट्सऐप पर यात्रा की प्रेरणा के लिए 9319591229 पर HI लिखकर भेजें या यहाँ क्लिक करें।

ये आर्टिकल अनुवादित है। ओरिजनल आर्टिकल पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करें।