मंदारगिरी: कर्नाटक में बसा वास्तुकला का नगीना

Tripoto

Credit: Abilash Mariswamy

Photo of मंदारगिरी: कर्नाटक में बसा वास्तुकला का नगीना by Rupesh Kumar Jha

बेंगलुरु से लगभग 60 कि.मी. दूर है एक बेहतरीन वीकेंड बिताने की पर्फेक्ट जगह, मंदारगिरी पर्वत। भले ही ये जगह नंदी हिल्स जितनी मशहूर ना हो लेकिन तुमकुर में मंदारगिरी की पहाड़ियाँ फोटोग्राफी के लिए एकदम परफेक्ट जगह है। पहाड़ी को स्थानीय लोग बसदी बेट्टा कहते हैं, यहीं एक पहाड़ी है जो लगभग 450 कदम की ऊँचाई पर है। वहीं एक छोटा ट्रेक, एक छोटा तालाब, कई प्रकार के पत्थर और अनेकों मंदिर हैं, लेकिन इस जगह का मुख्य आकर्षण प्रसिद्ध वास्तुशिल्प का सुंदर नमूना है - पिंची के आकार का 81 फीट लंबा गुरु मंदिर। पिंची एक मोर पंख वाला पंखा है, जिसमें चमकीले नीले-हरे रंग के शेड हैं जिसे देखते ही आपकी सभी थकावट दूर हो जाती है। यहाँ का एक और आकर्षण चंद्रनाथ की तीर्थंकर प्रतिमा है। बसदी बेट्टा दक्षिणी राज्य कर्नाटक में जैनियों का एक महत्वपूर्ण तीर्थस्थल है।

कंक्रीट जंगल से बाहर निकलकर मनोरम दृश्यों का मज़ा लें

Photo of मंदारगिरी: कर्नाटक में बसा वास्तुकला का नगीना 1/5 by Rupesh Kumar Jha
Credit: Abilash Mariswamy

पिक्चर पर्फेक्ट मंदिर को अपनी आँखों से देखें

Photo of मंदारगिरी: कर्नाटक में बसा वास्तुकला का नगीना 2/5 by Rupesh Kumar Jha
Credit: Vinayak Hegde

गोम्मतेश्वर का छोटा वर्जन यहाँ देखें

Photo of मंदारगिरी: कर्नाटक में बसा वास्तुकला का नगीना 3/5 by Rupesh Kumar Jha
Credit: Abilash Mariswamy

ऊँची चोटी पर बने तालाब में अपने पैर डुबोएँ

मोर जटित वास्तुकला आपको हैरान कर देगी 

Photo of मंदारगिरी: कर्नाटक में बसा वास्तुकला का नगीना 4/5 by Rupesh Kumar Jha
Credit: Abilash Mariswamy

घाटियों के बीच सूरज ढलने का नजारा देखें

Photo of मंदारगिरी: कर्नाटक में बसा वास्तुकला का नगीना 5/5 by Rupesh Kumar Jha
Credit: Gokul Chakrapani

छिपे हुए झरने को ढूंढ निकालें

टेप्पा में पानी के ऊपर तैरने का आनंद लें

तस्वीरों से अपने इंस्टाग्राम को शानदार बनाएँ

क्या आपका फ़ोन किसी यात्रा की तस्वीरों से भरा हुआ है? उन्हें यहाँ पोस्ट कर Tripoto क्रेडिट जीतें, इसे आप मुफ्त ट्रैवल पैकेज और ट्रेवल वाउचर के लिए रीडीम कर सकते हैं।

ये आर्टिकल अनुवादित है। ओरिजनल आर्टिकल पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करें

Be the first one to comment