पहले 5 लाख पर्यटकों को मुफ़्त मिलेगा घूमने के लिए वीज़ा, केन्द्र सरकार ने की घोषणा

Tripoto

भारत सरकार में वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने आज पर्यटन से जुड़ी बहुत ही महत्त्वपूर्ण घोषणा की है। जैसा कि आप जानते हैं कि कोरोना के कारण पर्यटन पर काफ़ी बुरा प्रभाव पड़ा है, जिसको फिर से सुधारने की ज़रूरत न केवल क्षेत्रीय स्तर पर, बल्कि राष्ट्रीय स्तर पर भी हो रही है।

आज वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने घोषणा की कि भारत सरकार के पर्यटन शुरू करने के बाद आने वाले पहले 5 लाख पर्यटकों के लिए निःशुल्क वीज़ा की सुविधा उपलब्ध कराई जाएगी।

क्या हैं इस स्कीम से जुड़ी ख़ास बातें

यह स्कीम तब से शुरू होगी, जब केन्द्र सरकार फिर से विदेशियों के लिए पर्यटन के अपने दरवाज़े खोलेगी। पहले 5 लाख पर्यटकों के लिए वीज़ा का कोई शुल्क नहीं लिया जाएगा। यह योजना 31 मार्च 2022 तक लागू रहेगी।

इससे सरकार के ऊपर कुल 100 करोड़ का अतिरिक्त भार आएगा।

चूँकि पर्यटन से जुड़ा सेक्टर उन विभागों में से है, जिसको आगे बढ़ाने पर मोदी सरकार का हमेशा से ज़ोर रहा है। और कोरोना के कारण पर्यटन सबसे ज़्यादा प्रभावित सेक्टर रहा है।

गोआ और केरल पर्यटन से सबसे ज़्यादा आय पैदा करने वाले प्रदेश रहे हैं और कोरोना के कारण इन दोनों ही प्रदेशों को एक साल में हज़ारों करोड़ का नुकसान हुआ है।

जब पिछले साल केन्द्र सरकार ने कोरोना के कारण लॉकडाउन लगाया था, तो केरल के पर्यटन मंत्री कड़कमपल्ली सुरेन्द्रन ने केवल पर्यटन से 15,000 करोड़ के नुकसान की बात कही थी।

उम्मीद है इससे आने वाले सालों में पर्यटन का सेक्टर फिर से बेहतर प्रदर्शन करे।

केन्द्र सरकार में वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने बताया कि 2019 में 10.93 मिलियन अर्थात् 1 करोड़ 9 लाख पर्यटक भारत आए जिससे 31 मिलियन अमेरिकी डॉलर का कुल कारोबार हुआ।

सामान्यतया भारत में आने वाले पर्यटक 21 दिनों के लिए ठहरते हैं और हर दिन लगभग 2,400 भारतीय रुपए खर्च करते हैं।

कैसा लगा आपको यह आर्टिकल, हमें कमेंट बॉक्स में बताएँ।

अपनी यात्राओं के अनुभव को Tripoto मुसाफिरों के साथ बाँटने के लिए यहाँ क्लिक करें।

बांग्ला और गुजराती के सफ़रनामे पढ़ने के लिए Tripoto বাংলা और Tripoto ગુજરાતી फॉलो करें।

रोज़ाना Telegram पर यात्रा की प्रेरणा के लिए यहाँ क्लिक करें।