मोकोकचुंग : एओ प्रजाति की एक अच्छी झलक

Tripoto
26th Feb 2017
Day 1

प्राचीन नागालैंड राज्य की यात्रा मोकोकचुंग की यात्रा के बिना अधूरी है, जो कि राज्य का एक प्रमुख जिला मुख्यालय है। मुख्य रूप से एओ प्रजाति के घनत्व वाला मोकोकचुंग दीमापुर और कोहिमा के बाद नागालैंड का तीसरा बड़ा शहरी केंद्र है। यह राज्य की सांस्कृतिक और बौद्धिक राजधानी के रूप में जाना जाता है। यह क़स्बा समुद्र तल से 1325 मीटर की ऊंचाई पर स्थित है।
इस एओ भूमि को कल-कल करते झरनों और सुरम्य पहाड़ियों के रूप में प्रकृति से उपहार प्राप्त है। उत्तरी असम मोकोकचुंग के नजदीक है। मोकोकचुंग क्रिसमस, नव वर्ष, और मोत्सू उत्सव ( एओ का प्रमुख त्यौहार) के समय जीवंत हो उठता है। विभिन्न आनंदित गतिविधियों से नव वर्ष के आगमन का स्वागत करना यहाँ एक परंपरा बन गई है जिसमे लोग पिछली रात से ही मुख्य टाउन स्क्वायर पर इन गतिविधियों में भाग लेने के लिए इकट्ठे होते हैं।
मोकोकचुंग के प्रमुख उत्सव- अपनी सांस्क्रतिक यात्रा को नया रंग दें
मोत्सू उत्सव का मुख्य केंद्र चुचुयिमलांग गाँव है जो कि मुख्य टाउन से आधा - एक घंटे का रास्ता है। मोत्सू उत्सव मई के पहले सप्ताह में मनाया जाता है जो कि एओ प्रजाति के लोगों का एक सामुदायिक मिलन है। इसमें गिफ्ट्स का आदान - प्रदान किया जाता है, नये कबिले बनाये जाते हैं और पुरानों को नया और मजबूत किया जाता है।
पहाड़ी के ऊपर हरी घास पर फैला हुआ यह गाँव इस उत्सव के लिए एकदम सही स्थान प्रतीत होता है। टीसनग्रेमोंग मोकोकचुंग में एक अन्य प्रमुख जाना माना उत्सव है। ईसाई यहाँ का प्रमुख धर्म है यहाँ पर 95% से अधिक लोगों ने बपतिस्म से ईसाई धर्म को अपनाया है। नागालैंड में एओ लोगों ने इसे 19 वी शताब्दी से पहले ही अपना लिया था।

Photo of मोकोकचुंग : एओ प्रजाति की एक अच्छी झलक by Shareef
Photo of मोकोकचुंग : एओ प्रजाति की एक अच्छी झलक by Shareef
Be the first one to comment