मिनी खजुराहो ऑफ राजस्थान : भांड देवरा मंदिर

Tripoto
Photo of मिनी खजुराहो ऑफ राजस्थान : भांड देवरा मंदिर by nomadic_mahendra
Photo of मिनी खजुराहो ऑफ राजस्थान : भांड देवरा मंदिर by nomadic_mahendra
Photo of मिनी खजुराहो ऑफ राजस्थान : भांड देवरा मंदिर by nomadic_mahendra
Photo of मिनी खजुराहो ऑफ राजस्थान : भांड देवरा मंदिर by nomadic_mahendra
Photo of मिनी खजुराहो ऑफ राजस्थान : भांड देवरा मंदिर by nomadic_mahendra
Photo of मिनी खजुराहो ऑफ राजस्थान : भांड देवरा मंदिर by nomadic_mahendra
Photo of मिनी खजुराहो ऑफ राजस्थान : भांड देवरा मंदिर by nomadic_mahendra

Bhand Devra Temple :- मिनी खजुराहो ऑफ राजस्थान :- भांड देवरा मंदिर राजस्थान राज्य में बारां से 40 किमी दूरी पर रामगढ़ पहाड़ी पर स्थित है। आपको बता दें कि यह मंदिर हिंदू धर्म के देवता भगवान शिव को समर्पित है। यह मंदिर राजस्थान में बेहद लोकप्रिय है जिसे मिनी खजुराहो के नाम से भी जाना जाता है। भांड देवरा मंदिर रामगढ की पहाड़ी पर एक तालाब के किनारे खूबसूरती के साथ खड़ा हुआ है, जिसके बारे में यह कहा जाता है कि इसका निर्माण उल्का द्वारा हुआ है। भांड देवरा मंदिर इतना भव्य और आकर्षक है कि यह अपनी सुंदरता से भारी संख्या में भक्तों को अपनी ओर खींचता है। अगर आप भांड देवरा मंदिर के इतिहास और जाने के बारे में जानकारी चाहते हैं तो इस लेख को जरुर पढ़ें, जिसमे हम आपको यहां मंदिर के बारे में आपको पूरी जानकारी दे रहें हैं।

1. भांड देवरा मंदिर का इतिहास ..

भांड देवरा मंदिर का इतिहास काफी मजबूत है। ऐसा माना जाता है कि इस मंदिर का निर्माण 10 वीं शताब्दी में हुआ था और इस मंदिर के साथ यहां दो मंदिर और स्थित हैं जो देवी अन्नपूर्णा और देवी किसनाई को समर्पित है। इन दोनों मंदिरों की सबसे ख़ास बात जो लोगों को हैरान कर देती है वो यह है कि इनमें से एक देवी को प्रसाद के रूप में मिठाई और सुखा मेवा चढ़ाया जाता है और दूसरी देवी को मांस और मदिरा चढ़ाया जाता है। चलिए अब भांड देवरा मंदिर के बारे में आगे बात करते हैं, बता दें कि यह मंदिर एक गुफा के अंदर स्थित है जहां पहुंचने के लिए आपको लगभग 750 सीढ़ियों से चढ़ कर जाना होगा। इन सीढ़ियों के बारे में ऐसा माना जाता है कि इनका निर्माण झाला जालिम द्वारा किया गया, जिसे जालिम सिंह के नाम से भी जाना जाता है। अब आप सोच रहे होंगे कि जालिम सिंह कौन है? बता दें कि यह 1771 से अंग्रेजों के शासनकाल तक भांड देवरा मंदिर राज्य के शासक थे। इस समय भांड देवरा मंदिर राजस्थान सरकार के राज्य पुरातत्व विभाग के संरक्षण में है और हर साल लाखों पर्यटकों को अपनी तरफ आकर्षित करता है।

2. भांड देवरा मंदिर घूमने जाने सबसे अच्छा समय – अगर आप राजस्थान के भांड देवरा मंदिर जाने बारे में विचार बना रहें हैं तो बता दें कि यहां जाने के लिए सर्दियों के महीनों के दौरान यानी अक्टूबर-फरवरी से सबसे अच्छा समय है क्योंकि इस दौरान मौसम दिन में काफी रहता है और रात सर्द होती हैं। मंदिर शुष्क जलवायु के साथ एक बहुत गर्म क्षेत्र में स्थित होने की वजह से गर्मियों के मौसम में यहां की यात्रा करना उचित नहीं है।

3. भांड देवरा मंदिर कैसे जाये –

भांड देवरा मंदिर राजस्थान राज्य में बारां से 40 किमी दूरी पर रामगढ़ पहाड़ी पर स्थित है। बारां तक आप सड़क, हवाई और रेल मार्ग से यात्रा कर सकते हैं और इसके बाद मंदिर जाने के लिए टैक्सी या कार किराये पर ले सकते हैं।

सड़क मार्ग से भांड देवरा मंदिर कैसे पहुंचें

जयपुर, उदयपुर, शिवपुरी, ग्वालियर, नाहरगढ़, और शाहाबाद सहित आसपास के स्थानों से बारां के लिए बसें आसानी से उपलब्ध हैं। कोई भी पर्यटक अपने बजट के हिसाब से एसी या नॉन एसी बसों से बारां पहुँच सकते हैं।

रेल द्वारा भांड देवरा मंदिर तक कैसे पहुंचे..

अगर आप भांड देवरा मंदिर ट्रेन की मदद से जाना चाहते हैं तो बता दें कि बारां रेलवे स्टेशन देश के प्रमुख हिस्सों से नियमित ट्रेनों द्वारा जुड़ा हुआ है। इस रेलवे स्टेशन से भोपाल, जयपुर, जोधपुर और कोटा के लिए ट्रेनें नियमित रूप से उपलब्ध हैं। रेलवे स्टेशन बारां के केंद्र से लगभग 2 किमी की दूरी पर स्थित है। रेलवे स्टेशन से आप टैक्सी या बस की मदद से मंदिर तक पहुंच सकते हैं।

कैसे पहुंचें भांड देवरा मंदिर हवाई मार्ग से ..

बारां से निकटतम हवाई अड्डा जयपुर में स्थित है जो यहां के करीब 250 किमी दूर है। यह हवाई अड्डा मुंबई और नई दिल्ली सहित प्रमुख भारतीय शहरों से अच्छी तरह से जुड़ा हुआ है। हवाई अड्डे से पर्यटक कैब किराए पर ले सकते हैं या सिटी सेंटर तक पहुंचने के लिए बस ले सकते हैं। नई दिल्ली का इंदिरा गांधी अंतर्राष्ट्रीय हवाई अड्डा यहां का निकटतम अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डा है।

इस आर्टिकल में आपने राजस्थान के मिनी खजुराहो भांड देवरा मंदिर के बारे में जाना है आपको हमारा यह आर्टिकल केसा लगा हमे कमेंट्स में जरूर बतायें।