ज़ुलुक: रोड ट्रिप का असली मज़ा तो इन सड़कों पर है!

Tripoto

कई बार वो सड़कें जिससे होकर बेहद कम लोग आते-जाते हैं, शानदार होती हैं। ये जो बेहतरीन दृश्य देखने को मिलता है वो किसी कलात्मक काम से कम नहीं लगता। ऐसा लगता है मानों प्रकृति ने यात्रियों के मन को बहलाने के लिए ये डिज़ाइन तैयार किया हो। यहाँ आकर लगता है कि जैसे यात्री धरती के अनछुए पहलुओं को उजागर करने में लगे होते हैं, वैसे ही प्रकृति उनके इस काम को दिलचस्प बनाने में अपना योगदान कर रही होती है। ऐसा ही अनुभव और ऐसा ही नज़ारा आपके सामने ला रखता है ज़ुलुक!

Photo of ज़ुलुक: रोड ट्रिप का असली मज़ा तो इन सड़कों पर है! 2/5 by Rupesh Kumar Jha

ज़ुलुक सिक्किम में स्थित ये एक अनोखी जगह है, जो यात्रियों की दुनिया का छुपा नगीन है।  ज़ुलुक पूर्वी हिमालय के पहाड़ की वादियों में बसा एक एकांत गाँव है।

अक्सर कहा जाता है कि जीवन में सबसे बेस्ट ड्राइव वो होते हैं जो जीवनभर आपके दिलों दिमाग में अपनी छाप छोड़ जाते हैं। ज़ुलुक की अपनी यात्रा पर, 32 हेयरपिन मोड़ के साथ छोरों पर गाड़ी चलाएँ, जो इतना उथल-पुथल भरा होता है कि आप चीखने लगते हैं और अगले ही क्षण लगता है कि अरे, ये तो कुछ था ही नहीं!

Photo of ज़ुलुक: रोड ट्रिप का असली मज़ा तो इन सड़कों पर है! 3/5 by Rupesh Kumar Jha
श्रेय: फ्लिकर

जुलुक से जुड़ी 5 ज़रूरी बातें:

1. लगभग 11,000 फीट की ऊँचाई पर थम्बी व्यू पॉइंट है, जो तस्वीर लेने के लिए बेहद ख़ास है। आप यहाँ से कंचनजंगा के चोटियों की मनोरम तस्वीर ले सकते हैं जो कि सदा के लिए यादगार हो सकता है।

Photo of ज़ुलुक: रोड ट्रिप का असली मज़ा तो इन सड़कों पर है! 4/5 by Rupesh Kumar Jha
श्रेय: फ्लिकर

2. रंगली से ज़ुलुक तक पहुँचने के लिए आपको विशेष परमिट की ज़रूरत होगी।

3. दिलचस्प बात यह है कि इस गँव में कोई होटल नहीं हैं, यह आपकी सबसे रोमांचक और आकर्षक यात्रा होने वाली है। स्थानीय लोगों के साथ रहें, वे ही आपके लिए अनुकूल घरों की व्यवस्था कर देते हैं।

Photo of ज़ुलुक: रोड ट्रिप का असली मज़ा तो इन सड़कों पर है! 5/5 by Rupesh Kumar Jha
श्रेय: फ्लिकर

4. ज़ुलुक एक दुर्लभ जगह है, जहाँ जाना मुश्किल भरा है। आप कालिम्पोंग और गंगटोक से होकर आसानी से यहाँ पहुँच सकते हैं।

5. एक शांत झील के बिना पहाड़ का मज़ा ही क्या है! अगर आप भी ऐसा ही सोचते हैं तो, एक और शानदार नज़ारे को देखने से ना चूकें, बता दें कि यहाँ कुपुप लेक उर्फ एलिफेंट लेक है। कुपुप लेक को स्थानीय लोग ‘बिटन चो’ के नाम से जानते हैं। जानकारी हो कि इसे सिक्किम की पवित्र झीलों में से एक माना जाता है।

घूमने जाने का बेहतरीन समय: हल्की गर्मी का आनंद लेने के लिए अगस्त से सितंबर के महीनों में जाएँ तो वहीं जनवरी से अप्रैल के दौरान जाने से बर्फ़बारी का लुत्फ़ उठा सकते हैं!

यहाँ जाना वाकई में किसी जन्नत की सैर से कम नहीं है। आप यहाँ भारत की सबसे अच्छी सड़क पर ड्राइव करें और अपने दिल की धड़कनों को बढ़ते हुए महसूस करें।

यदि आप ऐसी किसी जगह के बारे में जानते हैं जो काफी अनसुनी है, तो दुनिया के सामने रखें और यहाँ साझा करें

मज़ेदार ट्रैवल वीडियोज़ को देखने के लिए हमारे यूट्यूब चैनल को सब्सक्राइब करें

ये आर्टिकल अनुवादित है। ओरिजनल आर्टिकल पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करें

Be the first one to comment

Further Reads