Duryodhana Temple

Kabira Speaking
कैसे पहुँचें: मसूरी से संकरी बस या टैक्सी में और वहां से आगे ट्रेक करके या टैक्सी के मद्धम से भी आप दुर्योधन मंदिर पहुंच सकते हैं।दुर्योधन मंदिर से जुडी पौराणिक कथा: माना जाता है की दुर्योधन मंदिर उसी जगह पर स्तिथ है जहाँ दुर्योधन ने पांडवों के लाक्षागृह को नष्ट किया था। यहाँ के लोग आज भी दुरयोधन को अपने राजा के रूप में पूजते हैं और वर्षों पुरानी बहुतित्व या पॉयंड्री की प्रथा को आज भी मानते हैं। इस दुर्गम क्षेत्र की महिलायें आज भी शहरों की महिलाओं से ज्यादा स्वतन्त्र तरीके से अपने जीवन का निर्वाह करती हैं और अपना पति चुनने या छोड़ने की उनको आज़ादी है। इन दूरस्त इलाकों में आज भी लोग लोग बहुत सरलता से जीवन जीते हैं और अगर आप यहाँ जाएँ तो आपको इसी सरलता का अनुभव होगा।
Sreshti Verma
How to reach: Go from Mussoorie to Sankri, then trek or taxi to the templeMythology: One of the most famous temples in India, this is built in the same place that Duryodhana tried to burn down Pandava's home in exile, Lakshagriha. But the valley continues to worship Duryodhana as their king and follow age old polyandrous culture. The women here enjoy liberation unknown to us in metropolitan cities and can divorce/choose their partners without societal pressure. The people are in fact some of the nicest you will meet in the country.