शिमला आयें हों,और जाखू में स्थित हनुमान जी की 108 फीट लम्बी खूबसूरत प्रतिमा नहीं देखी तो क्या देखा।

Tripoto
19th Jun 2021
Photo of शिमला आयें हों,और जाखू में स्थित हनुमान जी की 108 फीट लम्बी खूबसूरत प्रतिमा नहीं देखी तो क्या देखा। by Walia Sachin
Day 1

जाखू मंदिर एक प्राचीन स्थान है जिसका उल्लेख कई पौराणिक कथाओं में किया गया है और यह स्थल पर्यटकों को एक खूबसूरत दृश्य प्रदान करवाता है। जाखू मंदिर हिंदू भगवान हनुमान जी को समर्पित है। यह स्थल शिमला में सबसे ज्यादा देखे जाने वाले मंदिरों में से एक है जो हिंदू तीर्थयात्रियों और भक्तों के साथ हर उम्र और धर्मों के पर्यटकों को अपनी तरफ आकर्षित करता है। शिमला के जाखू में स्थित हनुमान मंदिर एक विश्व प्रसिद्ध मंदिर है जहांँ देश-विदेश से लोग दर्शन करने आते हैं। यहाँ के ऊंचे ऊंचे देवदार के वृक्ष, कल कल करती नदियाँ और ठण्डी ठण्डी चलती हवाएँ मानों दिल को छू लेती हैं। प्राकृतिक सौंदर्य के साथ साथ यहाँ बहुत सारे धार्मिक स्थल भी आपको यहांँ देखने को मिल जायेंगे।

मन्दिर का इतिहास

मान्यता है कि राम-रावण युद्ध के दौरान लक्ष्मण जी के मूर्छित हो जाने पर संजीवनी बूटी लेने के लिए हिमालय की ओर आकाश मार्ग से जाते हुए हनुमान जी की नजर यहांँ तपस्या कर रहे यक्ष ऋषि पर पड़ी। इसका नाम यक्ष ऋषि के नाम पर ही यक्ष से याक, याक से याकू, याकू से जाखू तक बदलता गया। हनुमान जी विश्राम करने और संजीवनी बूटी का परिचय प्राप्त करने के लिए जाखू पर्वत के जिस स्थान पर उतरे, वहां आज भी उनके पद चिह्नों को संगमरमर से बनवा कर रखा गया है।

Photo of शिमला आयें हों,और जाखू में स्थित हनुमान जी की 108 फीट लम्बी खूबसूरत प्रतिमा नहीं देखी तो क्या देखा। by Walia Sachin
Photo of शिमला आयें हों,और जाखू में स्थित हनुमान जी की 108 फीट लम्बी खूबसूरत प्रतिमा नहीं देखी तो क्या देखा। by Walia Sachin
Photo of शिमला आयें हों,और जाखू में स्थित हनुमान जी की 108 फीट लम्बी खूबसूरत प्रतिमा नहीं देखी तो क्या देखा। by Walia Sachin
Photo of शिमला आयें हों,और जाखू में स्थित हनुमान जी की 108 फीट लम्बी खूबसूरत प्रतिमा नहीं देखी तो क्या देखा। by Walia Sachin
Photo of शिमला आयें हों,और जाखू में स्थित हनुमान जी की 108 फीट लम्बी खूबसूरत प्रतिमा नहीं देखी तो क्या देखा। by Walia Sachin

जाखू मंदिर में हनुमान जी की एक बड़ी प्रतिमा है जो शिमला के अधिकांश हिस्सों से दिखाई देती है। मंदिर शिमला में रिज से लगभग 2 किलोमीटर की दूरी पर स्थित है। जाखू मंदिर में हनुमान जी की मूर्ति देश की सबसे ऊंची मूर्तियों में से एक है जो 33 मीटर (108 फीट) ऊंची है। इस मूर्ति के सामने आस-पास लगे बड़े-बड़े पेड़ भी बौने लगते हैं। इस मंदिर के बारे में पौराणिक कथा है कि लक्षमण को पुनर्जीवित करने के लिए संजीवनी बूटी खोजने के लिए जाने से पहले भगवान हनुमान कुछ आराम करने के लिए इस मंदिर वाले स्थान पर रुके थे।

यहांँ आयें कैसे
शिमला का शानदार मौसम इसे वर्ष के किसी भी समय घूमने के लिए एक शानदार पर्यटन स्थल बनाता है। शिमला में मार्च से जून के बीच गर्मी के महीनों में 20 डिग्री सेल्सियस का औसत तापमान रहता है। जुलाई के दौरान और उसके बाद बारिश का मौसम भारी बारिश के कारण यात्रा करना असुविधाजनक हो सकता है। लेकिन सितंबर से लेकर जनवरी तक सर्दियों के महीने सुखद और शांत होते हैं। इस मौसम में कभी-कभी बर्फ की बौछारों के साथ काफी ठंडी और भी ज्यादा सर्द हो सकती है।

दोस्तों आपको मेरा यह आर्टिकल कैसा लगा कमेन्ट बॉक्स में बताएं।
जय भारत