अनुभव नहीं, समाज में रोब जमाने के लिए घूमते हैं भारतीय मुसाफिर

Tripoto

जहाँ ज़्यादातर लोग नई जगह देखने के लिए, दुनिया की खोज और एक अनोखे अनुभव के लिए घूमना-फिरना पसंद करते हैं वहीं भारतीय यात्रियों का एक बड़ा हिस्सा ट्रैवल करता है सोशल स्टेटस या समाज में अपनी प्रतिष्ठा बढ़ाने के लिए। अरे, हैरान मत होइए, ये बात मैं नहीं बल्कि एक सर्वे कह रहा है।

Photo of अनुभव नहीं, समाज में रोब जमाने के लिए घूमते हैं भारतीय मुसाफिर 1/1 by Bhawna Sati

बुकिंग डॉट कॉम के 2018 में हुए सर्वे की मानें तो सर्वे किए गए करीब 38% लोग अपने दोस्तों और दुनिया के सामने रोब जमाने के लिए ट्रैवल करते हैं। वो इसलिए ट्रैवल करते हैं ताकी फेसबुक और इंस्टाग्राम पर अच्छी अच्छी तस्वीरें डालकर लाइक्स और बढ़िया कॉमेंट्स बटोर सकें।

सर्वे की बाकी बातों पर नज़र डालें तो ये भी पता लगता है भारतीय यात्रियों के घूमने-फिरने की सबसे बड़ी वजह होती है आराम और सुकून के कुछ पल बिता पाना। सर्वे में शामिल 88% लोगों का मानना था कि रिलैक्स करना उनकी छुट्टियों का सबसे बड़ा मकसद होता है। इसके बाद बारी आती है एक बेहतर और सिंपल जीवन शैली खोजने और सीखने की प्रेरणा की, जिसके लिए 79% लोग सफर पर निकलते हैं।

इसके अलावा अपने परिवार वालों और दोस्तों के साथ अच्छा वक्त बिताना भी लोगों की यात्राओं का कारण है। खैर, यहाँ देखने वाली बात तो ये है कि फोन, कंप्यूटर और सोशल मीडिया का असर हमारी ज़िंदगी पर कुछ यूँ हो चुका है कि अब ये हमारी घूमने-फिरने की वजहों में भी शामिल हो रहा है। ये कितना सही है और कितना गलत, ये फैसला तो आप और मुझ जैसे यात्रियों को ही लेना है।

यात्रा करने के लिए आपकी प्रेरणा क्या है? Tripoto के साथ अपने अनुभव और सफरनामें बाँटिए और यात्रियों के समुदाय का हिस्सा बनिए।