भारत के दो और beaches को मिला ब्लू फ्लैग, दुनिया के सबसे साफ-सुथरे बीच की लिस्ट में हुए शामिल

Tripoto
Photo of भारत के दो और beaches को मिला ब्लू फ्लैग, दुनिया के सबसे साफ-सुथरे बीच की लिस्ट में हुए शामिल by Pooja Tomar Kshatrani

ब्लू फ्लैग क्या है?

Photo of भारत के दो और beaches को मिला ब्लू फ्लैग, दुनिया के सबसे साफ-सुथरे बीच की लिस्ट में हुए शामिल by Pooja Tomar Kshatrani

'ब्लू फ्लैग' दुनिया का बहुत ही खास और मान्यता प्राप्त स्वैच्छिक इको लेबल अवॉर्ड है, जो समुद्री तटों, मरीना बीच और सस्टेनेबल बोटिंग टूरिज्म ऑपरेटर्स को दिया जाता है। अब तक भारत में 8 समुद्री तटों को यह फ्लैग मिला था लेकिन हाल ही में इसमें दो और बीच शामिल हो गए हैं जो गर्व की बात है। तमिलनाडु के कोवलम और पुडुचेरी के ईडन समुद्र तट को ‘ब्लू फ्लैग’ दिया गया है। इसकी जानकारी ट्विटर के जरिए पर्यावरण, वन और जलवायु परिवर्तन मंत्री, भूपेंद्र यादव ने साझा की है।

पहले से शामिल 8 ब्लू फ्लैग Beaches

Photo of भारत के दो और beaches को मिला ब्लू फ्लैग, दुनिया के सबसे साफ-सुथरे बीच की लिस्ट में हुए शामिल by Pooja Tomar Kshatrani

1. शिवराजपुर-गुजरात,

2. घोघला-दीव,

3. कासरकोड, कर्नाटक

4. कप्पड-केरल

6. रुशिकोंडा- आंध्र प्रदेश,

6. गोल्डन-ओडिशा

7. राधानगर- अंडमान और निकोबार

8. पदुबिद्री-कर्नाटक

इस देश के पास है सबसे ज्यादा ब्लू फ्लैग

Photo of भारत के दो और beaches को मिला ब्लू फ्लैग, दुनिया के सबसे साफ-सुथरे बीच की लिस्ट में हुए शामिल by Pooja Tomar Kshatrani

ब्लू फ्लैग लिस्ट के हिसाब से फिलहाल स्पेन के पास दुनिया में सबसे ज्यादा 566 समुद्री तट हैं जो एकदम साफ-सुथरे हैं, जबकि ग्रीस के 515 और फ्रांस के 395 तट इसमें शामिल हैं। जहां प्रदूषण का स्तर तो कम है ही साथ ही नहाने के पानी की गुणवत्ता, पर्यावरण प्रबंधन और समुद्र तटों पर संरक्षण, सुरक्षा एवं सेवा भी बहुत बेहतर है।

ब्लू फ्लैग के पैमाने:

पानी की गुणवत्ता

कचरा निपटान की सुविधा

प्राथमिक चिकित्सा उपकरण

पालतू जानवरों के लिए तट पर रोक

सुरक्षा के इंतजाम

लाइफ गार्ड्स

जीव-जंतु की सुरक्षा

वनस्पति की सुरक्षा

जागरूकता के प्रयास

Foundation for Environmental Education (FEE) देता है यह अवॉर्ड

Photo of भारत के दो और beaches को मिला ब्लू फ्लैग, दुनिया के सबसे साफ-सुथरे बीच की लिस्ट में हुए शामिल by Pooja Tomar Kshatrani

समुद्री तटों को स्वच्छ और जीवों के अनुकूल बनाने की मुहिम चलाने वाली संस्था FEE (Foundation for Environmental Education) देशों के तटों को स्वच्छता के आधार पर चुनकर ब्लू फ्लैग देती है। यह एक गैर-सरकारी संस्था है, जिसके 60 सदस्य देश हैं। समुद्र तटों को पर्यावरण हितैषी बनाने के लिए ब्लू फ्लैग कार्यक्रम को फ्रांस के पेरिस से शुरू किया गया था।

तो घूमने-फिरने के हिसाब से तो ये बीचेज़ अच्छे हैं ही साथ में यहां पर्यावरण संरक्षण का भी खासतौर से ध्यान रखा जाता है।

कैसा लगा आपको यह आर्टिकल, हमें कमेंट बॉक्स में बताएँ।

अपनी यात्राओं के अनुभव को Tripoto मुसाफिरों के साथ बाँटने के लिए यहाँ क्लिक करें।

बांग्ला और गुजराती के सफ़रनामे पढ़ने के लिए Tripoto বাংলা और Tripoto ગુજરાતી फॉलो करें।

रोज़ाना Telegram पर यात्रा की प्रेरणा के लिए यहाँ क्लिक करें।